वाराणसी: हर दरवाजे पर दस्तक दे रहे आम आदमी पार्टी कार्यकर्ता

By: | Last Updated: Wednesday, 30 April 2014 2:51 AM
वाराणसी: हर दरवाजे पर दस्तक दे रहे आम आदमी पार्टी कार्यकर्ता

नई दिल्ली लोकसभा श्रेत्र से पार्टी के उम्मीदवार आशीष खेतान

वाराणसी: मिथकीय, प्राचीनतम, धार्मिक नगरी वाराणसी में यह एक ढलती हुई शाम है, और उत्साह से लबरेज केसरिया टोपी और नरेंद्र मोदी का मुखौटा पहने नन्हे बच्चों की एक छोटी सी टोली आम आदमी पार्टी (आप) के मुख्य कार्यालय के बाहर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार की जयकार कर रही है.

 

‘आप’ के कुछ कार्यकर्ता मुस्कुराते हुए बच्चों की टोली के नजदीक पहुंचते हैं, और उन्हें बिस्किट और कोल्डड्रिंक पीने के लिए देते हैं. बच्चे भी खुशी-खुशी बिस्किट खाते हैं, कोल्डड्रिंक पीते हैं और ‘आप’ की गांधी टोपी पहन ‘आप’ नेता अरविंद केजरीवाल की जयकार करने लगते हैं. इस समय ऐसा ही माहौल है वाराणसी का. चुनाव प्रचार अभी चरम पर पहुंचा कहां है!

 

इस हिंदू धार्मिक नगरी में, जिसमें मुस्लिम समुदाय भी बड़ी संख्या में निवास करते हैं. ‘आप’ कार्यकर्ता स्वीकार करते हैं कि बीजेपी प्रत्याशी नरेंद्र मोदी को हराना बेहद कठिन है. अपने इस कठिन लक्ष्य को पाने के लिए आप कार्यकर्ता किसी की भी मदद लेने के लिए हमेशा तैयार हैं, चाहे मदद इन मासूम छोटे बच्चों का ही हो.

 

वाराणसी लोकसभा सीट से, जहां 1991 के बाद से सिर्फ एक बार गैर बीजेपी प्रत्याशी जीत सका है, मोदी को हरा पाना केजरीवाल के लिए नाकों चने चबाने जैसी चुनौती प्रतीत हो रहा है.

 

केजरीवाल के इरादे नेक हैं, वह साफ-सुथरी राजनीति की बात करते हैं, देश को भ्रष्टाचार मुक्त बनाने की बात करते हैं और स्पष्ट कहते हैं कि वह सरकार नहीं बनाने जा रहे हैं, उन्हें किसी पद की लालसा भी नहीं है.

 

वह तो लोगों को जगाने के लिए मुहिम छेड़ी है कि कांग्रेस और बीजेपी के बनाए ‘भ्रष्टतंत्र’ से देश को मुक्ति मिले, ताकि आम आदमी सहूलियत और चैन से जी सके.

 

यह वही केजरीवाल हैं, जिन्होंने दिल्ली विधानसभा चुनाव में तीन बार की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित को न सिर्फ उनकी विधानसभा सीट पर पराजित किया, बल्कि पहली बार 28 सीटों पर जीत हासिल कर इतिहास रच दिया था.

 

‘आप’ के वाराणसी में चुनाव प्रभारी गोपाल मोहन ने कहा, “मोदी के खिलाफ लड़ाई बिला शक बेहद कठिन है, लेकिन हम इस लड़ाई को जीतकर रहेंगे. हमें उम्मीद है, लोग जागेंगे, इस पर गौर करेंगे कि बीजेपी के पास इतने पैसे कहां से आ रहे हैं…जिनसे ये पैसे ले रहे हैं, पहले उनको सूद सहित चुकाएंगे, फिर अपनी झोली भरेंगे…आम आदमी की फिक्र किसे है!”

 

‘आप’ नई पार्टी है, संसाधनों के अभाव में ‘आप’ ने चुनाव प्रचार के लिए हर दरवाजे पर जाकर लोगों को समझाने की रणनीति अपनाई है, जिस रणनीति ने उन्हें दिल्ली में अभूतपूर्व जीत दिलाई थी.

 

गोपाल मोहन ने वाराणसी स्थित पार्टी कार्यालय में आईएएनएस से कहा, “नगर में मौजूद 3.5 लाख परिवारों में से हम अब तक 1.75 लाख घरों का दरवाजा खटखटा चुके हैं.”

 

उन्होंने बताया कि लगभग 15,000 स्थानीय लोग पार्टी के स्वयंसेवी बने हैं, वे घर-घर जाकर पार्टी के लिए प्रचार कर रहे हैं.

 

दिल्ली विधानसभा चुनाव में पार्टी के लिए चुनाव प्रचार कर चुके लोगों को ‘दिल्ली की सफलता’ दोहराने की लगन से यहां भी उसी उत्साह से काम करते देखा जा सकता है.

 

‘आप’ कार्यकर्ता आनंद ने आईएएनएस से कहा, “हम उन शहर के उन हिस्सों में जा रहे हैं, जहां दूसरे नेता कभी गए ही नहीं. वहां हमें लोगों को भरपूर समर्थन और खूब प्रतिक्रियाएं मिल रही हैं. लोग कारपोरेट घरानों के पैसे के खेल को समझने लगे हैं.”

 

आईएएनएस से बात करते हुए वाराणसी के कई निवासियों ने बीजेपी द्वारा बहुप्रचारित गुजरात में मोदी के विकास मॉडल की प्रशंसा की, जबकि केजरीवाल का भ्रष्टाचार विरोधी अभियान अभी वाराणसी के 16 लाख मतदाताओं में उस तरह प्रचारित नहीं हो सका है.

 

केजरीवाल के दिल्ली के मुख्यमंत्री पद से अचानक इस्तीफा दे देने के कारण लोगों के बीच उनकी छवि एक अच्छे इंसान की तो है, पर वे उन्हें ‘अच्छा प्रशासक’ नहीं मान रहे.

 

काशी हिंदू विश्वविद्यालय के छात्र आदित्य मिश्रा ने कहा, “बनारस को तो छोड़िए, वह दिल्ली की सरकार नहीं चला सके. मैं अपना मत उनके लिए क्यों बर्बाद करूं.”

 

आप के वरिष्ठ सदस्य मनीष सिसोदिया ने आईएएनएस से कहा, “केजरीवाल हमारी सबसे बड़ी ताकत हैं. वह लोगों से जिस तरह जुड़ जाते हैं, मोदी कभी नहीं कर सकते.”

 

वाराणसी में ‘आप’ की निगाह मोदी के विरोधी माने जा रहे तीन लाख मुस्लिम समुदाय के मतदाताओं को पार्टी से जोड़ने पर है, और ‘आप’ को इन मतों से काफी उम्मीद है. वहीं कांग्रेस के स्थानीय उम्मीदवार अजय राय आप की राह का सबसे बड़ा रोड़ा साबित हो सकते हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: वाराणसी: हर दरवाजे पर दस्तक दे रहे आम आदमी पार्टी कार्यकर्ता
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017