विदेशी किराना पर संसद में वोटिंग आज

विदेशी किराना पर संसद में वोटिंग आज

By: | Updated: 04 Dec 2012 08:43 PM








नई दिल्ली: रीटेल में
एफडीआई पर नियम 184 के तहत
लोकसभा में बुधवार को बहस
जारी है. बहस के बाद शाम को
वोटिंग होगी.




वाणिज्य मंत्री आनंद शर्मा
बहस के जवाब बाद अब सुषमा
स्वराज बोल रही हैं. उनका
कहना है कि विदेशी किराना का
आम सहमति बनाने की कोशिश नहीं
की गई.




•  एफडीआई के विपक्ष में 282
सांसदों ने बोला, जबकि पक्ष
में वोलने वाले सांसदों की
संख्या 224 है.




• सुषमा के मुताबिक 18 में 14
पार्टियों ने इसका विरोध
किया है.





• सुषमा ने एक एक करके सराकर
की कमियों को गिनाया.





सरकार के जवाब के बाद अब सुषमा
स्वराज
बोल रही हैं.





•  अब एसपी ने भी वोटिंग से
पहले वॉकआउट किया.




•  एफडीआई पर बीएसपी ने
वॉकआउट किया.  वोटिंग से पहले
बीएसपी के 21 सांसद संसद से वॉक
आउट कर गए. बीएसपी ने आरोप
लगाया कि संसदीय कार्य
मंत्री उनके उठाए सवालों का
जवाब नहीं दे रहे हैं.





•  शर्त है कि कम से कम 100
मिलियन डॉलर की पूंजी लगानी
पड़ेगी और इसका 50 फीसदी
गांवों में लगाना होगा.




•  11 राज्य पक्ष में हैं जबकि
सात राज्य विपक्ष में हैं.





• रीटेल में एफडीआई पर फैसला
राज्य की चुनी हुई सरकारों पर
छोड़ा है.




• हम किसी राज्य पर थोप नहीं
रहे हैं, बल्कि उन्हें विकल्प
दे रहे हैं.




• सरकार ने एफडीआई पर सभी
स्टेकहोल्डल से बात की, तभी
सरकार ने इसे मंजूर किया.
मैंने खुद प्रकाश सिंह बादल
और नवीन पटनायक से बात की.




• एनडीए बिना शर्त से एफडीआई
लाना चाहता था.





• बीकानेरवाला के दुनियाभार
में 85 स्टोर खुल चुके हैं.





• हल्दीराम पूरी दुनिया में
पहुंच गया. इसके आज दुनिया
में 34 स्टोर हैं.





• इंफ्रास्ट्रक्चर की कमी के
कारण करीब 60-65 हज़ार करोड़
किसानों का नुकसान होता है.





• देश में इंफ्रास्ट्रक्चर
की कमी है जिससे बड़ी मात्रा
में फल और सब्जियां बर्बाद हो
जाती हैं.  कोल्ड स्टोरेज की
कमी के कारण फल और सब्जियों
का सबसे ज्यादा नुकसान होता
है.





• भारत कृषि प्रधान देश है और
रीटेल में एफडीआई पर फैसला
रातों रात नहीं हुआ, बल्कि
बरसों की बहस के बाद सोच
समझकर किया गया है.





अब आनंद शर्मा बोल रहे हैं.




-----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------




लालू प्रसाद यादव




• लालू प्रसाद यादव ने किराना
में एफडीआई का समर्थन किया.





• मज़दूरों और किसानों को
नौकरी मिलेगी और पेंशन भी
मिलेगी.





• अगर विदेश कंपनियों ने
गडबड़ी की तो आरजेडी उनके
दुकानों में आग लगा देगी.





• हाई हील चप्पल और अमेरिका
का चूता मॉल में बिक रहा है,
लेकिन साग सब्जी और खाने पीने
की चीजें फूटपाथ पर बिक रहा
है. फिर भी बीजेपी रीटेल में
एफडीआई का विरोध कर रही है.





• बीजेपी के नेता रेलवे कूपे
में रिजर्वेशन की चाह रखते
हैं.





• बीजेपी रंगीन चश्मे से देश
को गुमराह कर रही है.





•  बीजेपी देश को गुमराह कर
रही है. बीजेपी को रीटेल में
एफडीआई के विरोध करने का मुंह
नहीं है.





लालू प्रसाद यादव दोबारा
लोकसभा में बोल रहे हैं.




-----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------




मुरली मनोहर जोशी




• वॉलमार्ट दुनिया में
भ्रष्टाचार फैला रहे हैं और
भारत में भी फैलाएंगे.





• भारत का रीटेल बाज़ार काफी
सक्षम है. यह सरकार के
रहम-व-करम से नहीं है, बल्कि
उनकी अपनी कोशिश से है.





• विदेशी कंपनियों से
किसानों का भला नहीं होगा.





•  जोशी ने कहा है कि वॉलमार्ट
खेती पर काबिज़ हो जाएंगे और
वे कहेंगे कि कितना फसल और कब
पैदा करना है. फसल को कितना
पानी देना है इसका भी फैसला
वॉलमार्ट ही करेंगे. वे किसान
को चूसेंगे.





•  सरकार की नीयत ठीक नहीं है
और गलत आंकड़े दे रही है.





•  वॉलमार्ट के आने से फल,
सब्जी की बर्बादी के न होने
का दावा गलत है.





•  एनडीए ने 2009 में बीजेपी के
घोषणापत्र से एफडीआई को हटा
दिया था.





•  जोशी का कहना है कि
वॉलमार्ट के लिए मोनाफा
कमाने के लिए चीन ने घाटा सहा.





•  अब बीजेपी के नेता मुरली
मनोहर जोशी
बोल रहे हैं.




-----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------




लालू प्रसाद यादव





•    3.30 बजे लोकसभा की
कार्यवाही दोबारा शुरू हुई.
लालू प्रसाद ने अपना
विवादास्पद शब्द वापस लिया.




•    लोकसभा की कार्य.वाही 3.30
बजे तक स्थगित




•    लोकसभा पीठासीन अधिकारी
ने 'जमुरे' शब्द को बाहर
निकाला. लालू का कहना था कि
'जमुरे' शब्द असंसदीय नहीं है.
उनका कहना था कि इसका मतलब
'खिलाड़ी' होता है.




•    लालू प्रसाद के 'जमुरे'
शब्द इस्तेमाल करने से ससंद
में जोरदार हगामा.




•    आरजेडी के नेता लालू
प्रसाद
के बहस में हिस्सा
लेते हुए हंगामा हुआ.




शरद यादव





#विदेशी
किराना पर चर्चा के दौरान
एनडीए के संयोजक शरद यादव ने
कहा है कि हमारी मंशा सरकार
को गिराने की नहीं है.





शरद यादव ने कहा है कि अगर
मंशा सरकार गिराने की होती तो
उनकी पार्टी तृणमूल
कांग्रेस अध्‍यक्ष ममता
बनर्जी के अविश्वास
प्रस्ताव का समर्थन करती.




इससे पहले मंगलवा को बीजेपी
नेता सुषमा स्‍वराज ने भी इस
तरह की बात कही थी.  तो सवाल ये
कि क्या विपक्ष ने वोटिंग से
पहले हार मान ली है?





जेडीयू विदेशी किराना के
खिलाफ है. लोकसभा में पार्टी
अध्‍यक्ष शरद यादव के भाषण के
मुख्‍य अंश:





12:51 PM: ये आजादी किसानों और
गरीबों के हक में नहीं. ये
आजादी तो वॉलमॉर्ट और
टेस्‍को को मेहमान बनाकर
लाने के लिए है.





12:50 PM: 65 साल में देश की हालत
नहीं सुधरी.




12:59 PM: अमेरिका छोटी दुकानों के
पक्ष में है.





12:48 PM: पश्चिमी सभ्‍यता से
प्रभावित क्‍यों?





12:47 PM: बाजार का मतलब लूटना नहीं
है.





12:45 PM: देश के चंद लोग संपन्‍न
हैं.





12:40 PM: अगर हमें सरकार गिरानी
होती तो हम टीएमसी का साथ
देते.





12:40 PM: अगर एफडीआई पर सरकार ने
रोल बैक नहीं किया तो हम
मोर्चा खोल देंगे.




12:38 PM: बाजार के लिए जयपाल
रेड्डी को हटाया गया.





12:37 PM: सरकार गिराना जेडीयू का
मकसद नहीं




12:35 PM: सरकार ने देश को बांट
दिया.




सरकार की हार या जीत?





मुलायम
और मायावती
आज वोटिंग के
वक्त अपने पत्ते खोलेंगे.
वहीं, ममता की पार्टी तृणमूल
कांग्रेस सरकार के खिलाफ
वोटिंग करेगी. पढ़ें:
आंकड़ों का गणित


मनमोहन
सरकार और कांग्रेस के लिए आज
इम्तिहान का दिन है. विदेशी
किराना के मुद्दे पर आज संसद
में बहस के बाद वोटिंग होनी
है.

वोटिंग में सरकार की
जीत या हार से तय होगा कि भारत
में विदेशी किराना का भविष्य
क्या होगा?

नियम 184 के तहत
होनेवाली वोटिंग के लिए
बीजेपी जहां अपने साथियों के
साथ-साथ सरकार के सहयोगियों
को तोड़ने में जुटी है वहीं,
सरकार को भरोसा है कि जीत उसी
की होगी.




कांग्रेस को भीतरघात की
आशंका

सरकार भले ही जीत का
दावा कर रही हो, लेकिन यूपीए
सरकार को बाहर से समर्थन दे
रहे मायावती और मुलायम के रुख
ने उसकी परेशानी बढ़ा दी है.


लोकसभा में मंगलवार को
बहस के दौरान जिस तरीके से
मुलायम सिंह यादव और बीएसपी
सांसद दारा सिंह चौहान ने
विदेशी किराना का विरोध किया
उससे सरकार और कांग्रेस के
रणनीतिकारों की दिल की
धड़कने बढ़ गई है.

हालांकि
दोनों पार्टियां ने वोटिंग
को लेकर अपने पत्ते नहीं खोले
हैं. यही नहीं कांग्रेस को
भीतरघात का डर भी सता रहा है.


विदेशी किराना पर अपने
सांसदों को लामबंद करने के
लिए मंगलवार को जब संसदीय
कार्य मंत्री कमलनाथ ने
तेलंगाना के 10 सांसदों को
बुलाया तो इनमें से सात सांसद
मिलने ही नहीं आए.

कांग्रेसी
सांसद तेलंगाना राज्य नहीं
बनाए जाने से नाराज बताए जा
रहे हैं. इन सांसदों के नाम
हैं: वारंगल के सांसद राजैया
सिरसिला, करीमनगर के सांसद
पूनम प्रभाकर, निजामाबाद के
सांसद मधु गौड़ याक्षी,
भोंगीर के सांसद के राजगोपाल
रेड्डी, पेड्डापल्ली के
सांसद गड्डम विवेकानंद,
नलगोंडा के सुकेंद्र रेड्डी
और नागरकुन्नूल के सांसद एम
जगन्नाथ.

यही वजह है कि
कांग्रेस ने व्हिप जारी कर
अपने सांसदों को वोटिंग के
दौरान सदन में मौजूद रहने के
लिए कहा है.




संबंधित खबरें




विदेशी
किराना पर संसद में गरमागरम
बहस






एफडीआई
विनाश का गड्ढा: सुषमा
स्‍वराज






किसानों
के हित में है विदेशी किराना:
कांग्रेस






FDI
से बेरोजगारी बढ़ेगी:
समाजवादी पार्टी










फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story ओम प्रकाश रावत होंगे नए मुख्य चुनाव आयुक्त, 23 जनवरी से संभालेंगे कामकाज