शरद यादव बोले- नीतीश दोबारा नहीं बनेंगे सीएम, जेडीयू के कार्यकर्ताओं का गुस्सा फूटा

By: | Last Updated: Sunday, 18 May 2014 2:32 AM
शरद यादव बोले- नीतीश दोबारा नहीं बनेंगे सीएम, जेडीयू के कार्यकर्ताओं का गुस्सा फूटा

नई दिल्ली: लोकसभा चुनावों में बीजेपी की दमदार जीत के बाद बिहार की राजनीति में हलचल मचा हुआ है. एक तरफ तो नीतीश कुमार ने इस्तीफा सौंप दिया है वहीं दूसरी ओर जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने ये कहकर सबको चौंका दिया है नीतीश कुमार मुख्यमंत्री नहीं बनेंगे. शरद यादव ने कहा है कि आज विधायक दल की बैठक में नया नेता चुना जाएगा.

गुस्सा फूटा-  नीतीश कुमार के समर्थक शरद यादव के इस बयान से गुस्से में है. आज  जब शरद यादव मुख्यमंत्री आवास जा रहे थे उसी समय नीतीश के समर्थक शरद यादव के खिलाफ नारेबाजी करने लगे. जब ये लोग  शरद यादव के सामने नीतीश के समर्थन में नारे लगे तो उन्होंने लोगों को गालियां दीं, फटकार लगाई और  चुप कराया.

ब्लॉग- वशिष्ठ सीएम, नीतीश पार्टी अध्यक्ष ?

 

शरद यादव ने कहा- नीतीश कुमार ने काफी सोच-विचार के बाद इस्तीफा दिया है. शाम को 4 बजे हम विधायकों की मीटिंग में अपना नेता चुनेंगे. विधायकों से 4 बजे मशवरा करके नए विधायक दल के नेता पर फैसला होगा. इसके अलावा जो भी खबर निकली है वो अपने तरीके से लोगों ने निकाली है. बीजेपी से रास्ता अलग करने के बाद दूसरा कदम है ये और इसका लक्ष्य दिल्ली है.

 

नीतीश नहीं तो कौन?  सूत्रों के मुताबिक अगर नीतीश कुमार बिहार के मुख्यमंत्री नहीं बनें तो प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह, ऊर्जा मंत्री बिजेंद्र यादव या विधानसभा के स्पीकर उदयनारायण चौधरी में से कोई एक बिहार का नया सीएम बन सकता है.

दूसरी तरफ नीतीश कुमार के समर्थक नहीं चाहते हैं कि वह इस्तीफा दें. ये समर्थक नीतीश के घर के बाहर इस्तीफा वापस लेने के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं. ये लोग नीतीश कुमार को ही मुख्यमंत्री बने देखना चाहते हैं.

दो खेमें में बंटा जेडीयू-

नीतीश के इस्तीफे पर जेडीयू दो खेमे में बंट गया है. जहां शरद यादव कह रहे हैं कि नीतीश कुमार दुबारा मुख्यमंत्री नहीं बनेंगे वहीं जेडीयू नेता नरेंद्र सिंह कर रहे हैं कि सभी विधायकों का मानना है कि नीतीश कुमार को फिर मुख्यमंत्री बनना चाहिए, मैंने एक प्रपोजल भी दिया है. हमें लालू प्रसाद यादव के सपोर्ट की जरूरत नहीं है, लेकिन अगर हमें उनके सपोर्ट की जरूरत होती है तो सबसे पहले हम अपने विधायकों और कार्यकर्ताओं से बात करेंगे.

 

साथ आएँगे लालू और नीतीश?

जेडीयू अध्यक्ष शरद यादव मजबूत सरकार के लिए लालू से हाथ मिलाने को संकेत दे रहे हैं. हालांकि जेडीयू को समर्थन पर आरजेडी अध्यक्ष लालू यादव ने अभी पत्ते नहीं खोले हैं. लालू यादव ने कहा है- ये सारी खबरें निराधारा हैं, मैंने शरद यादव से कोई बातचीत नहीं की है. हम हालात पर नजर बनाए हुए हैं, यह उनका (जेडीयू) का आंतरिक मामला है. कल मैंने पार्टी की मीटिंग बुलाई है, उसके बाद निर्णय लेंगे की क्या करना है.