'सचिन खेल भावना में बेहतर लेकिन लारा सर्वश्रेष्ठ'

By: | Last Updated: Tuesday, 4 March 2014 4:50 AM
‘सचिन खेल भावना में बेहतर लेकिन लारा सर्वश्रेष्ठ’

केपटाउन: टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कह चुके दक्षिण अफ्रीका के आलराउंडर जाक कैलिस क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर को अपने समकालिन क्रिकेटरों में सर्वश्रेष्ठ नहीं मानते. कैलिस के हिसाब से वेस्टइंडीज के महान बल्लेबाज ब्रायन लारा सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज हैं. सचिन के बारे में उन्होंने कहा कि इस महान भरतीय बल्लेबाज ने अपने शानदार करियर के दौरान जिस तरह सही भावना के साथ खेला उससे खेल को आगे बढ़ने में मदद मिली.

 

न्यूजीलैंड्स के नये साल के 10वें वाषिर्क संबोधन के दौरान सवाल-जवाब सत्र के हिस्से के तौर पर कैलिस ने कहा, ‘‘उसने (तेंदुलकर ने) विश्व क्रिकेट को आगे बढ़ाने की दिशा में शानदार काम किया है. उसने कड़ा खेल दिखाया लेकिन हमेशा सही भावना में.’’ ईएसपीएन क्रिकइंफो ने पिछले साल टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने वाले कैलिस के हवाले से कहा, ‘‘उसने जो हासिल वह बेजोड़ है. मैंने उसके खिलाफ अपनी जंग का लुत्फ उठाया. मैं हमेशा कहा कि मैं कड़ा खेल दिखाउंगा लेकिन सही भावना के साथ. मैं खेल नहीं खेलने के दौरान उनके साथ लुत्फ उठा सकता हूं. वह भी इसी तरह खेला.’’ खेल का हिस्सा बने सर्वश्रेष्ठ आलराउंडरों में से एक कैलिस जिनके खिलाफ खेले उनमें उन्होंने वेस्टइंडीज के ब्रायन लारा को सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज बताया.

 

सबसे कड़े प्रतिद्वंद्वी के बारे में पूछने पर कैलिस ने कहा, ‘‘तेज गेंदबाजों में वसीम अकरम. उसमें गेंद को दोनों ओर स्विंग कराने की क्षमता थी. स्पिनरों में शेन वार्न. वह खेल को नियंत्रण में रखता था. वह आक्रमण करता था और रक्षात्मक भी खेलता था. बल्लेबाजों में ब्रायन लारा.’’ दक्षिण अफ्रीका की ओर से 166 टेस्ट में 13289 रन बनाने के अलावा 292 विकेट भी चटकाने वाले 39 वर्षीय कैलिस विश्व क्रिकेट में बीसीसीआई के अधिकांश प्रशासनिक और वित्तीय नियंत्रण से भी अधिक परेशान नहीं हैं और उन्होंने कहा कि भारतीय बोर्ड पिछले कुछ समय से ऐसा कर रहा है.

 

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे नहीं लगता कि किसी को असल में पता है कि यह सही चीज है या बुरी. हमें इंतजार करना होगा और देखना होगा. अगर हम बेहद ईमादारी से बोलें तो पिछले कुछ समय से बीसीसीआई के पास काफी अधिकार हैं इसलिए मुझे नहीं लगता कि काफी बदलाव होने वाला है.’’ कैलिस ने कहा, ‘‘मेरी चिंता सिर्फ इतनी है कि वे क्रिकेट के सर्वश्रेष्ठ हित में फैसले करें और अपने क्रिकेट के सर्वश्रेष्ठ हित में नहीं. मुझे लगता है कि वह ऐसा ही करेंगे.’’

 

अब भी एकदिवसीय मैचों में खेल रहे कैलिस ने कहा कि उनका एकमात्र लक्ष्य 2015 विश्व कप जीता है. उन्होंने कहा, ‘‘जब मैं कुछ हासिल करना चाहता हूं और इसे अपने जेहन में रखता हूं तो इसे हासिल करने के लिए मैं हर संभव प्रयास करना चाहता हूं. मैं ऐसी टीम का हिस्सा बनना चाहता हूं तो विश्व कप जीते. मेरे बायोडाटा में यही चीज नहीं है. अगर मुझे लगता है कि मैं ऐसा नहीं कर पाउंगा तो मैं लंबे समय तक उस लक्ष्य के साथ जुड़ा नहीं रहता.’’ कैलिस ने कहा, ‘‘विश्व कप से पहले अब भी हमारे पास लगभग 20 एकदिवसीय मैच हैं और अगर मैं रन नहीं बनाता तो मुझे टीम में रहने का अधिकार नहीं है. मैंने अभी गैरी कर्स्टन के साथ मिलकर कार्यक्रम तैयार किया है. टेस्ट क्रिकेट नहीं खेलने से मुझे अपने वनडे कौशल पर ध्यान लगाने का मौका मिलेगा.’’ यह पूछने पर कि क्या उन्हें टेस्ट क्रिकेट की कमी खल रही है, कैलिस ने कहा, ‘‘सभी अच्छी चीजों का अंत होता है. जैसे ही मेरे जुनून में थोड़ी कमी आने लगी या मैं थोड़ा थक गया तो मैंने अलविदा कहने का फैसला किया. आदर्श स्थिति में मैं न्यूलेंड्स में करियर खत्म करना चाहता था लेकिन हर चीज किसी कारण से होती है. मुझे अब तक इसकी कमी नहीं खल रही.’’

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ‘सचिन खेल भावना में बेहतर लेकिन लारा सर्वश्रेष्ठ’
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017