सर्विस टैक्स की बढ़ी हुई दरें लागू खाना-पीना महंगा

सर्विस टैक्स की बढ़ी हुई दरें लागू खाना-पीना महंगा

By: | Updated: 01 Jul 2012 12:09 AM



















नई दिल्ली: एक जुलाई से
सर्विस टैक्स में दो फीसदी का
इज़ाफा लागू हो रहा है. सरकार
के इस कदम से खाना-पीना, रहना,
बिल पेमेंट और हवाई सफर जैसी
119 सेवाओं के लिए आज से बारह
फीसदी सर्विस टैक्स चुकाना
होगा.




अब तब उपभोक्ता बतौर सर्विस
टैक्स 10 फीसदी अदा कर रहे थे,
लेकिन उसे बढ़ाकर 12 फीसदी
किया गया है.




अगर आप देश की राजधानी दिल्ली
में रहते हैं तो आज से यानि 1
जुलाई से आपको बिजली के बिल
पर 24 फीसदी ज्यादा खर्चने
होंगे. बिजली नियामक संस्था
डीईआरसी ने मंगलवार को साल
2012-13 के लिए घरेलू बिजली की
दरों में करीब 24 फीसदी का
इज़ाफा किया था जो आज से लागू
हो रहा है.




देशभर में मानसून की बेरुखी
के चलते खेती पर बुरा असर पड़
रहा है. सब्जियों की पैदावार
पर बुरा असर पड़ा है.
सब्जियों का उत्पादन घटने से
सब्ज़ियाँ लगातार महंगी
होती जा रही है.




फल, दूध, अनाज, पेट्रोल सब पहले
से महंगे हैं यानि कि फिलहाल
आपको महंगाई से कोई राहत
मिलने नहीं जा रही उल्टा आपको
महंगाई और सताएगी.




सर्विस टैक्स




बजट पेश होने के करीब तीन
महीने बाद एक बार फिर सुरसा
की तरह मंह फाड़े महँगाई डायन
आपके दरवाजे पर खड़ी है. आज से
आपकी जिंदगी 2 फीसदी महंगी हो
जाएगी.




जी हां ऐसा इसलिए हुआ है
क्योंकि हमारे पूर्व वित्त
मंत्री प्रणब मुखर्जी ने बजट
पेश करते हुए अर्थव्यवस्था
की बेहतरी का हवाला देते हुए
सर्विस टैक्स में दो फीसदी की
बढ़ोतरी का एलान किया था जो 1
जुलाई से लागू हो रहा है. अब
आपको 10 फीसदी की जगह 12 फीसदी
सर्विस टैक्स चुकाना होगा.




अर्थव्यवस्था की बेहतरी के
नाम पर सर्विस टैक्स में हुआ 2
फीसदी का इज़ाफा आम आदमी पर
घर से लेकर बाहर तक असर
डालेगा.




आपके ज़हन में यकीनन ये सवाल
उठ रहा होगा कि बढ़े सर्विस
टैक्स के दायरे में क्या-क्या
शामिल होगा और किन सेवाओं पर
सर्विस टैक्स नहीं लगेगा तो
आपको बता दें कि वित्त मंत्री
ने करीब 119 सेवाओं को इस 12
फीसदी सर्विस टैक्स की
श्रेणी में रखा है.




अगर आप किसी होटल में खाना
खाने की सोच रहे हैं तो 2 फीसदी
सर्विस टैक्स ज्यादा चुकाने
के लिए तैयार रहिए. शहर से
बाहर किसी होटल में रुकने का
इरादा है तो ये जान लीजिए कि
आपको अब 10 फीसदी की जगह 12 फीसदी
सर्विस टैक्स चुकाना होगा.
यहीं नहीं मोबाइल का खर्चा भी
2 फीसदी बढ़ जाएगा. क्योंकि
बिल पर 2 फीसदी ज्यादा सर्विस
टैक्स लगेगा. यही नहीं
ब्यूटीपार्लर जाना, कुरियर
भेजना, कोचिंग संस्थानों में
पढ़ाई करना, बैंक ड्राफ्ट
बनवाना और हवाई सफर करना भी 2
फीसदी महंगा हो जाएगा. ये
लिस्ट काफी लंबी है बस इतना
समझ लीजिए की आपकी जेब पर 2
फीसदी का बोझ बढ़ने जा रहा है.




राहत की बात ये है कि रेल
मंत्री ने एसी के किराए और
माल ढुलाई पर लगने वाला
सर्विस टैक्स नहीं बढ़ाने का
फैसला किया है जिसके लिए
प्रधानमंत्री को चिट्ठी भी
लिखी है.




सरकार ने जहां 119 सेवाओं पर
सर्विस टैक्स लागू किया है तो
वहीं 56 सेवाएं ऐसी भी हैं
जिन्हें सर्विस टैक्स के
दायरे से बाहर रखा गया है. जिन
चीजों को सर्विस टैक्स के
दायरे से बाहर रखा गया है
उनमें शामिल हैं.




ऑटो रिक्शा का सफर, बेटिंग,
जुआ, लॉटरी, मनोरंजन पार्क,
बिजली वितरण, अंतिम संस्कार
की विधि, स्कूल और
यूनिवर्सिटी की पढ़ाई जैसी
सेवाओं पर सर्विस टैक्स नहीं
लगेगा.




ऐसा माना जा रहा है कि सरकार
इस वित्त वर्ष में सर्विस
टैक्स के जरिए करीब 1 लाख 24
हजार करोड़ रुपये का राजस्व
जुटाने की आस लगाए है जो
पिछले साल के मुकाबले 97 हजार
करोड़ ज्यादा है.




सर्विस टैक्स में बढ़ोतरी पर
सरकार की अपनी दलील है लेकिन
पहले से महँगाई के बोझ तले
दबे आम आदमी के लिए तो जिंदगी 2
फीसदी और महंगी होने जा रही
है.




फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story 4 साल बाद डीजीएमओ स्तर की बातचीत पर विचार कर रहा पाकिस्तान: मीडिया रिपोर्ट