सविता मामले में भारत को सहयोगा देगा आयरलैंड

सविता मामले में भारत को सहयोगा देगा आयरलैंड

By: | Updated: 17 Nov 2012 08:12 AM


नई
दिल्ली:
भारतीय दंत
चिकित्सक सविता हलप्पानावार
की एक आयरिश अस्पताल में हुई
मौत के मामले में आयरलैंड ने
कहा है कि वह जांच में भारतीय
मिशन के साथ मिलकर काम करेगा
और इस मामले से सम्बंधित सभी
पहलुओं पर सहयोग करेगा. सविता
की मौत गर्भपात से इंकार कर
दिए जाने के कारण हुई थी.

आयरलैंड
सरकार ने इस बात से भारतीय
राजदूत देबाशीष चटर्जी को
अवगत कराया. चटर्जी ने इस
मुद्दे को लेकर शुक्रवार शाम
डबलिन में आयरलैंड के
उपप्रधानमंत्री एवं विदेश
मंत्री ईमोन गिलमोर से
मुलाकात की थी.

गिलमोर ने
भारतीय राजदूत से कहा कि उनका
देश इस दुखद घटना का जनमानस
एवं सामाजिक संगठनों पर पड़े
प्रभाव के प्रति संवेदनशील
है. उन्होंने कहा कि 28 अक्टूबर
को हुई सविता की मौत की जांच
की जा रही है. जांच जल्द से
जल्द पूरी की जाएगी.

गौरतलब
है कि आयरलैंड में गर्भपात पर
प्रतिबंध के कारण हुई सविता
की मौत से भारत और समूचे
विश्व के लोग आक्रोशित हैं.

एक
आधिकारिक सूत्र ने यहां
बताया कि राजदूत चक्रवर्ती
ने आयरलैंड की सरकार को सविता
की मौत पर भारत सरकार के दुख
और गहरी चिंता से अवगत कराया
और उम्मीद जताई कि गर्भपात पर
प्रतिबंध हटाने की दिशा में
उचित कदम उठाया जाएगा ताकि
ऐसा हादसा किसी और के साथ न
दोहराए.

सूत्र ने कहा,
'उन्होंने भारत सरकार की इस
इच्छा से अवगत कराया कि मामले
की स्वतंत्र जांच कराई जाए और
जांच में प्रगति की जानकारी
समय-समय पर दिए जाने का
अनुरोध किया.'

गिलमोर ने
भारतीय राजदूत को सविता की
मौत पर आयरलैंड की गहरी
सहानुभूति से अवगत कराया और
अनुरोध किया कि सविता के
परिवार को इससे अवगत कराया
जाए.

गौरतलब है कि सविता 21
अक्टूबर को पीठ दर्द की
शिकायत लेकर आयरलैंड के
गालवे यूनिवर्सिटी अस्पताल
पहुंची थी. वहां जांच में
पाया गया कि 17वें सप्ताह में
उसका गर्भ खराब हो गया था.




गर्भपात कराकर उसकी जान बचाई
जा सकती थी, लेकिन प्रतिबंध
के कारण चिकित्सक ने ऐसा करने
से इंकार कर दिया.
सेप्टीसीमिया के कारण 28
अक्टूबर को उसकी मौत हो गई.




फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story दिल्ली: पटाखा फैक्ट्री में आग से 17 की मौत, BJP मेयर प्रीति अग्रवाल के बयान पर बवाल