सेना की दो टुकड़ि‍यों से रायसिना हिल में हलचल

सेना की दो टुकड़ि‍यों से रायसिना हिल में हलचल

By: | Updated: 04 Apr 2012 06:05 AM


नई
दिल्‍ली:
अंग्रेजी अखबार द
इंडियन एक्सप्रेस ने दावा
किया है कि 16 जनवरी की देर रात
भारतीय सेना की दो टुकड़ियां
केंद्र सरकार को बिना बताए
दिल्ली की तरफ बढ़ रही थीं और
राजधानी के बेहद करीब तक आ
गईं थीं. अखबार में छपी सेना
के टुकड़िय़ों की इस मूवमेंट
पर कई गंभीर सवाल उठ खड़े हुए
हैं. हालांकि सेना ने इसे
रूटीन अभ्‍यास कहा है.

अखबार
के मुताबिक इनमें एक टुकड़ी
33वीं आर्मर्ड डिविज़न की
मेकेनाइज्ड इनफैन्ट्री थी,
जो हिसार से दिल्ली की तरफ
बढ़ रही थी. उसी दौरान आगरा से
भी 50 पैरा-ब्रिगेड की एक
टुकड़ी दिल्ली की तरफ बढ़ रही
थी.

सेना की इन दोनों
टुकड़‍ियों का संक्षिप्‍त
विवरण इस प्रकार है:

पैराशूट
रेजीमेंट


पैराशूट
रेजीमेंट भारतीय सेना का एक
सैन्य-दल है. पैराशूट
रेजीमेंट के लिए अन्‍य
सैन्‍य दलों की तुलना में
युवा, शारीरिक-मानसिक तौर पर
सबल, होशियार और उत्‍साही
लोगों का चयन किया जाता है.

पहली
बार आजाद भारत के इतिहास में
पैराशूट बटालियन ने टैंगेल
में 1971 की लड़ाई में भाग लिया.
पाकिस्‍तान से बांग्‍लोदश
का विभाजन इसी लड़ाई का
परिणाम था.

पैराशूट
रेजीमेंट में सेना का कोई भी
अफसर शामिल हो सकता है बशर्ते
उसे कम से कम पांच साल का
अनुभव हो.

रेजीमेंट के पास
11 रेग्‍यूलर, एक राष्‍ट्रीय
रायफिल और दो टेरिटोरियल
आर्मी बटालियन होती है. इसके
साथ ही इसमें चार स्‍टैंडर्ड
पैराशूट बटालियन, जबकि
कमांडो प्रशिक्षित बटालियन
की संख्‍या सात होती है.

मेकेनाइज्ड
इनफैन्ट्री रेजीमेंट


मेकेनाइज्ड
इनफैन्ट्री रेजीमेंट भारतीय
सेना की लड़ाकू रेजीमेंट है.
यह सेना की सबसे नई रेजीमेंट
में से एक है. इस गठन 1965 में हुए
भारत-पाकिस्‍तान युद्द के
बाद किया गया था.

यह
स्‍वर्गीय जनरल के सुंदरजी
की उपज थी. मेकेनाइज्ड
इनफैन्ट्री रेजीमेंट ने
श्री लंका में ऑपरेशन पवन,
पंजाब में ऑपरेशन रक्षक और
जम्‍मू-कश्‍मीर के ऑपरेशन
विजय में हिस्‍सा लिया था.
रेजीमेंट संयुक्‍त राष्‍ट्र
संघ के सोमालिया, अंगेला और
सीरिया के शांति ऑपरेशन का भी
हिस्‍सा रह चुकी है.

जनरल
सुंदरजी को मेकेनाइज्ड
इनफैन्ट्री रेजीमेंट का
पहला कर्नल नियुक्‍त किया
गया था. वे अपने रिटायरमेंट
तक इस पद पर काबिज रहे.




फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story बजट से बड़ी उम्मीद: कम हो सकती है पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी, तेल मंत्रालय कर रहा विचार-सूत्र