सेबी के सामने पेश हुए सहारा प्रमुख सुब्रत रॉय

By: | Last Updated: Wednesday, 10 April 2013 4:42 AM
सेबी के सामने पेश हुए सहारा प्रमुख सुब्रत रॉय

नई दिल्ली:
सेबी के समन पर आज उसके दफ्तर
पहुंचे सहारा समूह के प्रमुख
सुब्रत रॉय ने सेबी पर फिर
उठाई है उंगली. सुब्रत रॉय ने
आरोप लगाया है कि सेबी ने
समूह के पैसे रोक रखे हैं और
वेरीफिकेशन में भी देरी कर
रही है, जिससे निवेशकों को
वक्त पर पैसे नहीं मिल पा रहे
हैं.

शेयर बाजार पर नियंत्रण रखने
वाली संस्था सेबी के मुंबई
दफ्तर में पूछताछ के बाद बाहर
निकल रहे सहारा प्रमुख
सुब्रत रॉय ये जताने से नहीं
चूके कि हालात उनके काबू में
है. मीडिया ने सवाल किया. तो
उन्होंने एकबार फिर सेबी पर
ही उंगली उठा दी. 

सुब्रत राय ने कहा, जिनका
पेमेंट नहीं हुआ, “उनका पैसा
इनके पास है. जो पेमेंट हो
चुका, वो तो हम पेमेंट कर चुके
हैं. हमको अब पेमेंट नहीं
करना है. अब पेमेंट करना है
सेबी को. मैं यही कहूंगा सेबी
को सबसे पहले प्राथमिकता
देनी चाहिए. उनका री-पेमेंट
हो जो 7 महीने से शांत बैठे हुए
हैं.”

क्या है सहारा-सेबी विवाद?

सहारा समूह पर निवेशकों से 17
हजार 400 करोड़ रुपए उगाहने का
आरोप है. ये पैसे समूह की
कंपनी सहारा सहारा रियल
एस्टेट और सहारा हाउसिंग ने
उगाहे थे.

सेबी का कहना है कि 3 करोड़
निवेशकों से जो पैसे जुटाए
गए, उसके लिए सहारा समूह ने
इजाजत नहीं ली थी.  सेबी की
शिकायत पर सुप्रीम कोर्ट ने
सहारा ग्रुप को निवेशकों को
पैसे लौटाने कहा था. ब्याज
सहित ये रकम 24 हजार बन रही है.

सहारा ने तय वक्त पर पैसे
नहीं लौटाए, तो सेबी ने सहारा
की दोनों कंपनियों की
संपत्ति जब्त करने का आदेश दे
दिया. सेबी ने सहारा रियल
एस्टेट और सहारा हाउसिंग के
बैंक खातों के अलावा सुब्रत
रॉय की चल-अचल संपत्ति भी सील
करने के आदेश दे दिए.

सेबी के दफ्तर में हुई बातचीत
पर सुब्रत राय ने कहा, “मुझसे
पूछा गया कि मैंने जो एसेट
डेक्लेयर किया है, उसके अलावा
भी और कुछ जोड़ना तो नहीं है.
तो मैंने जवाब दिया. जो मैंने
डेक्लेयर किया, वही एसेट है
मेरा. इसके अलावा और कोई एड
नहीं करना है.”

26 मार्च को समन जारी कर सेबी
ने कहा था कि अगर सुब्रत रॉय
उनके सामने पेश होकर अपनी
संपत्ति की जानकारी नहीं
देते हैं, तो जब्त संपत्ति की
नीलामी शुरू कर दी जाएगी.

इसी आदेश के बाद सुब्रत रॉय
दौड़े दौड़े सेबी के दफ्तर
में हाजिरी लगाने पहुंचे.
सहारा ग्रुप के तीन बड़े
अधिकारियों के साथ सेबी के
दफ्तर पहुंचे थे, लेकिन सेबी
के सामने अपनी संपत्ति के
खुलासे पर सुब्रत रॉय का
अंदाज जाना-पहचाना था.

सुब्रत रॉय ने कहा, “मेरा
पर्सनल एसेट देख कर उन्होंने
थोड़ी परेशानी हो गई होगी.
मैं बताऊं आपको पर्सनल एसेट…?
मेरा गोल्ड ऑर्नामेंट और
स्टोन…सब मिलकर करीब तीन
करोड़ है और बैंक में कैश
करीब 34 लाख है.”

साफ है सुब्रत रॉय का सेबी से
दो-दो हाथ करने का इरादा
बरकरार है.

सेबी की कार्रवाई के खिलाफ
उनकी अपील पर 13 अप्रैल को
सिक्योरिटीज अपीलेट
ट्रिब्यूनल में सुनवाई होनी
है. वहीं सेबी ने भी दबाव
बनाने के लिए 15 मार्च को
सुब्रत रॉय को गिरफ्तार करने
की अर्जी दी थी. सुप्रीम
कोर्ट 22 अप्रैल को इस पर
सुनवाई करेगा. ऐसे में ये
देखना दिलचस्प है कि सेबी और
सहारा की ये लड़ाई किस मोड़
तक पहुंचती है. 

सेबी और सहारा की इस लड़ाई को
सुब्रत रॉय के इस जुमले से
परखा जा सकता है कि, “उम्मीद
किया था कि एक घंटे में एक कप
चाय पीने को मिलेगी….वो भी
नहीं मिली.”

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: सेबी के सामने पेश हुए सहारा प्रमुख सुब्रत रॉय
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017