हर तीसरा मुंबइया रोज़ नहीं नहाता

By: | Last Updated: Tuesday, 29 April 2014 3:53 PM
हर तीसरा मुंबइया रोज़ नहीं नहाता

मुंबई: बढ़ते प्रदूषण और अस्वास्थ्यकर पर्यावरण के अलावा उमस भरी गर्मी के बावजूद 32 प्रतिशत मुंबईवासी रोजाना स्नान नहीं करते. यह जानकारी एक सर्वेक्षण में उभरकर आई है. नेशनल इंटीग्रेटेड मेडिकल एसोसिएशन (एनआईएमए) के मुताबिक, रोजना स्नान नहीं करने से लोगों में संक्रमण और बीमारी का खतरा बढ़ता है, लेकिन मुंबई के लोग इसे गंभीरता से नहीं लेते. एनआईएमए ने 600 लोगों पर सर्वे किया.

 

सर्वेक्षण से पता चला कि रोजना स्नान नहीं करने के अलावा बड़ी संख्या में लोग एंटी बैक्ट्रियल साबुन की जगह सौंदर्य साबुन का प्रयोग करते हैं.

 

‘स्नान की परिपाटी, मान्यता एवं व्यवहार’ शीर्षक वाले सर्वेक्षण में कहा गया है, “वे धूल के हटने के प्रति ज्यादा जागरूक और डायरिया एवं फ्लू जेसी बीमारी से बचने के लिए ताजगी के प्रति ज्यादा सचेष्ट दिखते हैं. केवल 11 प्रतिशत ही एंटी बैक्ट्रियल साबुन का इस्तेमाल करते हैं.”

 

एनआईएमए मुंबई के अध्यक्ष एल. जी. जाधव ने विस्तार से बताया कि महज छह प्रतिशत ही एंटी बैक्ट्रियल साबुन से नहाते हैं जबकि 91 प्रतिशत सौंदर्य साबुन का प्रयोग करते हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: हर तीसरा मुंबइया रोज़ नहीं नहाता
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017