हर हर मोदी नारे के खिलाफ अब खड़े हुए शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती

हर हर मोदी नारे के खिलाफ अब खड़े हुए शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती

By: | Updated: 23 Mar 2014 07:20 AM
नई दिल्ली: शिवनगरी काशी में हर हर मोदी की गूंज से विपक्षी पार्टियों के विरोध के बाद अब द्वारका पीठ के शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती ने भी इसपर आपत्ति जताई है.

 

स्वरूपानंद सरस्वती ने हर हर मोदी नारे का विरोध करते हुए इसकी शिकायत बीजेपी के पैतृक संगठन आरएसएस के चीफ मोहन भागवत से की है.

 

हमारे सूत्रों का कहना है कि मोहन भागवत ने भी स्वरूपानंद से बातचीत में माना कि हर हर मोदी कहना सही नहीं है.   

 

स्वरूपानंद सरस्वती ने एबीपी न्यूज़ से बातचीत में कहा, ये नारे भगवान के लिए लगाए जाते हैं, "हर हर मोदी से धर्म का अनादर होता है.व्यक्ति पूजा नहीं होनी चाहिए... हमने इसे लेकर मोहन भागवत से बात की है."

 

आपको बता दें कि शंकराचार्य का तर्क है कि हर हर गंगे गंगा की धारा को लेकर लगाया जाता है इस नारे को किसी व्यक्ति विशेष के लिए नहीं लगाया जा सकता. उनका कहना है कि चुनाव फायदे के लिए ऐसे नारे लगाना धर्म का अनादर है.

 

दरअसल मामला यह है कि जब से बीजेपी ने वाराणसी से मोदी की उम्मीदवारी का एलान किया वहां बीजेपी के कार्यकर्ता हर हर मोदी के नारे लगा रहे हैं और काशी में इन दिनों इसी नारे की हर जगह गूंज सुनाई दे रही है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story यूपी इन्वेस्टर्स मीट से था कोठारी को बुलावा लेकिन पहले ही CBI ने पकड़ लिया