होश में आई पीड़ित, लेकिन वेंटिलेटर पर है: डॉक्टर

होश में आई पीड़ित, लेकिन वेंटिलेटर पर है: डॉक्टर

By: | Updated: 20 Dec 2012 01:40 AM


नई दिल्ली: राष्ट्रीय
राजधानी दिल्ली में गैंगरेप
की शिकार छात्रा की हालत
स्थिर है और वह इशारों में
बात कर रही है, हालांकि वह अब
भी वेंटिलेटर पर है.




सफ़दरजंग के डॉक्टरों का
कहना है कि बुधवार को की गई
बड़ी सर्जरी के बाद गुरुवार
को पीड़ित छात्रा की हालत
पहले से बेहतर है और वह होश
में है.




डॉक्टरों के मुताबिक अब वह
इशारों में बात कर रही है,
लेकिन उन्हें डिस्टर्ब करने
से बचा जा रहा है. उन्होंने
कहा, "वह सच में बहुत ही बहादुर
लड़की है.."




उन्होंने कहा कि पीड़ित
छात्रा अब भी वेंटिलेटर पर
है, हालांकि वह खुद से सांस
लेने की कोशिश कर रही है.




सफदरजंग अस्पताल के मेडिकल
सुपरिटेंडेंट डॉक्टर बीडी
अथानी ने कहा, "मैं यह नहीं कह
रहा हूं कि वह अब खतरे से बाहर
है.. हालांकि, सभी महत्वपूर्ण
अंग सही से काम कर रहे हैं. वह
बोल नहीं पा रही है लेकिन
इशारा कर पा रही है. अभी बताना
मुमकिन नहीं है कि पीड़ित
छात्रा सामान्य जीवन जी
सकेगी या नहीं.'"




डॉक्टरों ने कहा, "पीड़ित
छात्रा के आंतों के संक्रमित
बड़े हिस्सों को दो घंटों तक
चले ऑपरेशन में निकाल दिया
गया है."




कैसे घटी वारदात?




यह घटना रविवार रात उस वक्त
हुई जब पेरा-मेडिकल की एक
छात्रा अपने दोस्‍त के साथ बस
में सवार होकर मुनीरका से
द्वारका जा रही थी.




पुलिस के मुताबिक लड़की के बस
में बैठते ही लगभग पांच से
सात यात्रियों ने उसके साथ
छेड़छाड़ शुरू कर दी. उस बस
में और यात्री नहीं थे.




उत्तराखंड की रहने वाली 23
वर्षीय लड़की के दोस्‍त ने
उसे बचाने की कोशिश की लेकिन
उन लोगों ने उसके साथ मारपीट
की और लड़की के साथ गैंग रेप
किया.




आरोपियों ने लड़की और उसके
दोस्‍त को दक्षिण दिल्ली के
महिपालपुर के नजदीक वसंत
विहार इलाके में बस से फेंक
दिया.




लड़के के मामा के
मुताबिक, 'मेरा भांजा रविवार
रात 9:00 से 9:30 बजे के बीच अपनी
गर्लफ्रेंड को घर छोड़ने
द्वा‍रका जा रहा था. मेरा
भांजा और लड़की मुनीरिका बस
स्‍टैंड से एक सफेद रंग की
लग्‍जरी बस में चढ़. बस में
पहले से ही पांच-सात की
संख्‍या में बस का स्‍टाफ
मौजूद था. करीब 10 मिनट बाद बस
के स्‍टाफ ने लड़की से
छेड़खानी शुरू कर दी. लड़के
ने जब विरोध किया तो इन लोगों
ने उसे रॉड से मारा और लड़की
को बस के क‍ेबिन में ले जाकर
उसके साथ सामुहिक बलात्‍कार
किया. दोनों के कपड़े उतार कर
उन्‍हें लहू लूहान करने के
बाद फ्लाइओवर पर फेंक दिया.'




गौरतलब है कि ये कोई पहला
मौका नहीं है जब दिल्ली में
गैंगरेप की सनसनीखेज वारदात
हुई हो. हर बार बस एक ही जवाब
मिलता है कि दोषियों पर कड़ी
कार्रवाई होगी.




लेकिन सवाल उठता है कि कहां,
किस पर और कैसी कड़ी कार्रवाई
होती है किसी को पता नहीं
चलता. इसी का नतीजा है कि
अपराधी बेखौफ हैं.




लड़की के घरवालों ने
आरोपियों के लिए मांगी फांसी





महिला और बाल विकास मंत्री
कृष्‍णा तीरथ ने कहा है कि
गैंग रेप की शिकार लड़की के
घरवाले चाहते हैं कि
आरोपियों को फांसी की सजा दी
जाए.




कृष्‍णा तीरथ आज 23 वर्षीय
पीड़‍ित लड़की के घरवालों से
मिलने सफदरजंग अस्‍पताल
पहुंची.




अस्‍पताल से बाहर आने के बाद
कृष्‍णा तीरथ ने कहा, 'लड़की
के घरवालों ने साफ तौर पर कहा
है कि उन्‍हें (आरोपियों)
फांसी की सजा मिलनी चाहिए.
हमारा मंत्रालय यह
सुनिश्चित करेगा कि दोषियो
को सजा मिले. ताकि हर कोई देख
सके कि ऐसे लोगों को क्‍या
सजा मिलती है.'




कृष्‍णा तीरथ ने यह भी बताया
कि लड़की अपने पिता से मिली
और रो पड़ी. उन्‍होंने कहा,
'अपने पिता से मिलकर लड़की रो
पड़ी. अभी वह सिर्फ इतना बता
पा रही है कि उसे कहां दर्द हो
रहा है.'




फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story मुंबई: बेबी मोशे के साथ नरीमन हाउस पहुंचे इजरायल के पीएम नेतन्याहू