सांप्रदायिक घटनाओं पर बुद्धजीवी नाराज, 100 ने राष्ट्रपति को लिखा खत

By: | Last Updated: Thursday, 15 October 2015 5:59 AM

कोलकाता/नई दिल्ली : कन्नड़ लेखक एमएम कलबुर्गी की हत्या और  देश में बढ़ते सांप्रदायिक घटनाओं के विरोध में पश्चिम बंगाल के बुद्धजीवी उतर आए हैं. बंगाल के 100 बुद्धजीवियों ने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को चिट्ठी लिखकर अपना विरोध जताया है. उनका कहना है कि देश में आम लोग, साहित्यकार और बुद्धिजीवी सुरक्षित नहीं हैं.

 

पढ़ें : लेखकों का अवॉर्ड लौटाना सरकार के खिलाफ ‘गढ़ी हुई कागजी बगावत’: जेटली 

 

खत में लिखा गया है कि हाल की घटनाओं की वजह से असुरक्षा का माहौल बना है. इसके साथ ही बुद्धिजीवियों ने सरकार की चुप्पी और निष्क्रियता पर नाखुशी जाहिर की है. इस चिट्ठी में मशहूर कवि शंखा घोष, निरेन्द्रनाथ चक्रवर्ती और श्रशेन्दु मुखर्जी, नबानिता देबसेन जैसे लेखकों के दस्तखत हैं.

 

पढ़ें : Exclusive: दादरी कांड पर दुखी पीएम मोदी बोले, ‘हम क्या करें’ 

 

गौरतलब है कि यह खत उस समय लिखा गया है जब देश के अलग-अलग हिस्सों से साहित्यकारों ने अपने साहित्य अकादमी पुरस्कार लौटाने का ऐलान किया है. इस पर देशभर में बहत छिड़ी हुई है. 

 

पढ़ें : दादरी वाले बयान पर घिरे पीएम मोदी, जानें किसने क्या कहा

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: 100 Intellectuals wrote letter to President
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017