जम्मू-कश्मीर: बाढ़ में फंसे करीब 1500 ट्रक, सड़कें दुरुस्त होने पर ही नुकसान का आकलन

By: | Last Updated: Tuesday, 9 September 2014 6:25 AM
1,500 trucks stuck on way to Kashmir

श्रीनगर: जम्मू एवं कश्मीर में सड़क संपर्क बहाल होने और संचार लाइनें दुरुस्त होने के बाद ही नुकसान के सही आकलन की जानकारी मिल पाएगी. कश्मीर घाटी के लिए रवाना आवश्यक सामग्रियों से लदे करीब 1,500 ट्रक 300 किलोमीटर लंबे जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर विभिन्न स्थनों पर फंसे हैं, क्योंकि इस मार्ग पर सड़कें बाढ़ के पानी के कारण ध्वस्त हो गई हैं या भूस्खलन के कारण नष्ट हो गई हैं.

 

रामबन जिले के रामसू इलाके में राजमार्ग को अधिकतम नुकसान पहुंचा है, जहां करीब 40 किलोमीटर सड़क पूरी तरह ध्वस्त हो गई है. यह राजमार्ग मंगलवार को लगातार छठे दिन बंद रहा.

 

घाटी में स्थानीय टेलीविजन तथा रेडियो स्टेशनों का प्रसारण भी बंद रहा. घाटी तथा जम्मू क्षेत्र के बीच संचार संपर्क भी नहीं है.

 

प्रशान ने हालांकि मंगलवार को कहा था कि राज्य में बाढ़ से 160 लोगों की मौत हुई है, हालांकि मरने वालों की वास्तविक संख्या एवं नुकसान का सही आकलन बाद में ही हो पाएगा.

 

उधमपुर जिले के सदल गांव में मंगलवार सुबह सात शव बरामद किए गए, जबकि सेना का कहना है कि 31 लोग अब भी लापता हैं. इस इलाके में फंसे लोगों की मदद के लिए सेना ने सोमवार को सात अभियान चलाए थे. सोमवार को राजौरी जिले के मन्मजाकोट गांव से दो शव बरामद किए गए थे.

 

जम्मू क्षेत्र में करीब 2,040 घर रहने लायक नहीं रह गए हैं. ये या तो पूरी तरह या आंशिक रूप से नष्ट हो गए हैं.

 

जम्मू क्षेत्र में मंगलवार को बारिश नहीं हुई, जिससे सेना तथा अन्य सुरक्षा बलों के राहत कार्य में तेजी आने की उम्मीद की जा रही है.

 

उधर, माता वैष्णो देवी यात्रा सोमवार को भी स्थगित रही. माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड के उप मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) एम.के. भंडारी ने कहा कि यात्रा शुरू करने का निर्णय बाद में लिया जाएगा.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: 1,500 trucks stuck on way to Kashmir
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: flood Jammu Kashmir
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017