19 ऑपरेशन के बाद भी नहीं भरे बर्बर रेप के जख्म

By: | Last Updated: Thursday, 9 January 2014 8:49 AM

नई दिल्ली: जिस उम्र में सारे बच्चे पुस्तकों, कपड़ों और खिलौनों से खेलते हैं, 12 वर्ष की एक बच्ची चुपचाप बर्बर सामूहिक दुष्कर्म के जख्म सह रही है, तथा अब तक उसे 19 ऑपरेशनों से होकर गुजरना पड़ा है.

 

जघन्य अपराध की शिकार इस बच्ची का राष्ट्रीय राजधानी के प्रतिष्ठित चिकित्सा विज्ञान संस्थान एम्स में 20वां ऑपरेशन भी होने वाला है.

 

राजस्थान के सीकर में एक वर्ष पहले छह व्यक्तियों द्वारा सामूहिक दुष्कर्म की शिकार बनाई गई यह बच्ची बेहद मानसिक एवं शारीरिक प्रताड़ना से गुजर रही है, तथा जघन्य अपराध के बाद दुष्कर्मियों द्वारा सड़क पर यूं ही मरने के लिए छोड़ देने के बाद तमाम मुश्किलों से मौन संघर्ष कर रही है.

 

पीड़िता की 22 वर्षीय बहन ने बताया, “वह छह बहनों में सबसे छोटी है, फिर भी वह परिवार के लिए कुछ करना चाहती है.”

 

पीड़िता की बहन ने आगे कहा, “हम एक वर्ष से विभिन्न अस्पतालों के चक्कर लगा चुके हैं, लेकिन कोई फायदा नहीं. हमें उसके दर्द का अंदाजा है. हमें न्याय चाहिए. हम नहीं जानते कि हमारी बहन कब तक घर लौट सकेगी. हमारे पास इसका कोई जवाब नहीं है.”

 

उसने आगे कहा, “अब तक उसके 19 ऑपरेशन हो चुके हैं. तीन जनवरी को भी एक ऑपरेशन होने वाला था, लेकिन चिकित्सकों का कहना है कि अभी उसकी (पीड़िता) हालत ऑपरेशन करने की नहीं है.”

 

जयपुर के जे.के. लोन अस्पताल से पीड़िता को बीते फरवरी में एम्स स्थानांतरित किया गया. राष्ट्रीय राजधानी में 16 दिसंबर की घटना के बाद हुए जनप्रदर्शनों को देखते हुए राज्य सरकार ने पीड़िता को एम्स स्थानांतरित करने का निर्णय लिया था.

 

राजस्थान सरकार को आशंका थी कि इस मामले पर राज्य में भी जन प्रदर्शन भड़क सकते हैं, इसीलिए राज्य सरकार ने पीड़िता के उपचार का खर्च वहन करने का निर्णय भी किया. राजस्थान में पीड़िता के 17 ऑपरेशन किए गए, जबकि एम्स आने के बाद दो ऑपरेशन हुए.

 

पीड़िता 20 अगस्त, 2012 को हिंदी फिल्म ‘टाइगर’ देखकर अपनी तीन बहनों और एक पड़ोसी के साथ घर लौट रही थी, तभी उसके साथ यह बर्बर कृत्य किया गया.

 

पीड़िता की बहन ने बताया, “एक कार आई और कार में बैठा एक आदमी मुझे और मेरी पड़ोसन को कार में खींचने लगा लेकिन असफल रहा. लेकिन कार में बैठा एक अन्य व्यक्ति ने उसे (पीड़िता) कार के अंदर खींच लिया और तेज कार चलाते हुए भाग गए.” इतना कहते-कहते उसकी आंखें भर आईं.

 

उसने आगे बताया कि अगले दिन दोपहर में किसी और जगह से पीड़िता खून में लथपथ और गंभीर हालत में पड़ी मिली.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: 19 ऑपरेशन के बाद भी नहीं भरे बर्बर रेप के जख्म
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017