बारह घंटे तक चले ऑपरेशन के बाद लव और प्रिंस हुए अलग 20 doctors carry out 12 hour surgery to separate conjoined twins in Mumbai

बारह घंटे तक चले ऑपरेशन के बाद लव और प्रिंस हुए अलग

इस मुश्किल सर्जरी को 20 डॉक्टरों की टीम ने अंजाम दिया. लव और प्रिंस को इस समय अस्पताल की गहन बाल चिकित्सा इकाई (पीआईसीयू) में अलग-अलग बिस्तरों पर रखा गया है.

By: | Updated: 15 Dec 2017 09:54 AM
20 doctors carry out 12 hour surgery to separate conjoined twins in Mumbai

मुंबई: शहर के बीजे वाडिया अस्पताल में मंगलवार को 12 घंटे तक चले ऑपरेशन के बाद शरीर से आपस में जुड़े एक वर्षीय लव और प्रिंस को सफलतापूर्वक अलग कर दिया गया. ये दोनों जुड़वां बच्चे पेट और कूल्हे से आपस में जुड़े थे. दोनों का साझा लिवर, साझी आंत और साझा मूत्राशय था.


इस मुश्किल सर्जरी को 20 डॉक्टरों की टीम ने अंजाम दिया. लव और प्रिंस को इस समय अस्पताल की गहन बाल चिकित्सा इकाई (पीआईसीयू) में अलग-अलग बिस्तरों पर रखा गया है.


बच्चों की मां शीतल और पिता सागर को मंगलवार को ऑपरेशन थिएटर के बाहर 13 घंटे तक इंतजार करना पड़ा. इस दौरान उनकी सांस अटकी रही और उनका इंतजार शाम पांच बजे तब खत्म हुआ जब एक डॉक्टर ने बाहर आकर खबर दी कि दोनों जुड़वां बच्चों को सफलतापूर्वक अलग कर दिया गया है.


वाडिया हॉस्पिटल्स में मुख्य कार्याधिकारी डॉक्टर मिन्नी बोधनवाला ने कहा कि बच्चे पेट और कूल्हे से आपस में जुड़े थे. उनका साझा लिवर, साझा आंत और साझा मूत्राशय था.


डॉक्टर बोधनवाला ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘यह एक बेमिसाल ऑपरेशन था जिसे 20 डॉक्टरों की टीम ने अंजाम दिया और 12 दिसंबर को 12 घंटे चली जटिल सर्जरी को सफलतापूर्वक अंजाम दिया.’’ उन्होंने कहा कि बच्चों को अभी कुछ दिन निगरानी में रखा जाएगा.


हालांकि, लव और प्रिंस तथा उनके माता-पिता के लिए आगे एक लंबी यात्रा है.


बोधनवाला ने कहा कि बच्चों को आगे कई ऑपरेशनों से गुजरना होगा जिससे कि वे स्वस्थ जीवन जी सकें.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: 20 doctors carry out 12 hour surgery to separate conjoined twins in Mumbai
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story चारा घोटाला: लालू को हाईकोर्ट से झटका, देवघर ट्रेजरी से फर्जी निकासी मामले में नहीं मिली जमानत