2014 के चुनावों में क्या बिहार के दो 'राम' लगा पाएंगे बीजेपी की नैया पार

By: | Last Updated: Thursday, 13 March 2014 2:28 PM

पटना: माना जाता है कि पिछली बार अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को केंद्र की सत्ता ‘राम मंदिर’ मुद्दे ने दिलाई थी. इस बार के लोकसभा चुनाव में अब तक कहीं भी यह मुद्दा नजर नहीं आ रहा है, लेकिन बिहार में भारतीय जनता पार्टी ने दो ‘राम’ के सहारे राज्य की सभी 40 सीटों पर राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के उम्मीदवारों को जिताने की कोशिश की है. ये दोनों ‘राम’ हैं-रामकृपाल यादव और रामविलास पासवान. दोनों धर्मनिरपेक्ष छवि के नेता माने जाते रहे हैं.

 

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद के ‘हनुमान’ माने जाने वाले रामकृपाल बुधवार को दिल्ली में भाजपा की सदस्यता की ग्रहण कर ली. भाजपा की सदस्यता लेने के बाद उन्होंने कहा, “मैं बताना चाहता हूं कि मेरा जेहन बिल्कुल सेक्युलर है और जब तक मैं जीवित रहूंगा मेरी आत्मा में सेक्युलरिज्म रहेगा.” रामकृपाल के इस बयान के कई मायने निकाले जा सकते हैं.

 

राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि रामकृपाल और रामविलास के हटने का प्रभाव संप्रग पर पड़ने की संभावना है. पटना के वरिष्ठ पत्रकार और राजनीति के जानकार संतोष सिंह कहते हैं, “नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बनाए जाने के बाद भाजपा पर जो विपक्षी दल सांप्रदायिक होने का आरोप लगाते हुए उसे करीब ‘अछूत’ घोषित कर रहे थे, रामकृपाल के भाजपा में और लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के राजग में शामिल होने से यह सोच बदलेगी और लालू के वोट बैंक में भी सेंध लगने की उम्मीद बढ़ी है.”

 

संतोष कहते हैं कि राजग से जनता दल-युनाइटेड (जदयू) के अलग होने से जो स्थान रिक्त हुआ था, वहीं रामविलास जैसे दलित नेता के शामिल होने का प्रतीकात्मक फायदा बिहार में ही नहीं, राष्ट्रीय स्तर पर भी मिलने की संभावना है. पूर्व में भाजपा को सवर्णो की पार्टी मानी जाती रही है.

 

यह तय है कि रामकृपाल अब लालू की पुत्री मीसा भारती के खिलाफ पाटलिपुत्र सीट से चुनाव लड़ेंगे, सिर्फ आधिकारिक घोषणा बाकी है.

 

रामकृपाल लालू प्रसाद के मुसलमान-यादव (एमवाई) समीकरण की मजबूत कड़ी के रूप में देखे जाते रहे हैं, उनके राजद छोड़ने का असर लालू के इस सबसे भरोसेमंद समीकरण पर पड़ने की काफी संभावना है.

 

वर्ष 2009 में भी रामकृपाल को पाटलिपुत्र से टिकट नहीं मिला था और लालू खुद यहां से चुनाव लड़े थे. उस समय भी रामकृपाल पार्टी नेतृत्व से नाराज हुए थे, लेकिन विरोध नहीं कर सके थे. पूर्व में रामकृपाल पटना संसदीय क्षेत्र से चुनाव चुनाव लड़ते थे. मगर परिसीमन के बाद वर्ष 2009 से इसका नक्शा बदल गया. अब पटना साहिब और पाटलिपुत्र दो सीटें हो गई हैं.

 

वैसे राजनीति के जानकार यह भी मानते हैं कि लालू के लिए राहत की बात यह है कि रामकृपाल की पहचान पटना के आसपास के क्षेत्रों में ही है, बिहार के अन्य क्षेत्रों में उनकी बड़ी राजनीतिक पहचान नहीं है.

 

इधर, संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) में रही लोजपा भी 12 साल बाद एक बार फिर राजग में प्रवेश कर गई है. माना जाता है कि पासवान की पहचान बिहार में न केवल धर्मनिरपेक्ष नेता की रही है, बल्कि पिछड़ी जातियों, खासकर अति पिछड़ी जातियों में उनकी खास पैठ मानी जाती है.

 

बिहार में पिछड़े मतदाताओं की संख्या 50 प्रतिशत से ज्यादा है. इसमें सबसे बड़ा हिस्सा यादवों का लगभग 11 प्रतिशत है. इन 50 प्रतिशत पिछड़े मतदाताओं में अतिपिछड़े 30 से 32 प्रतिशत हैं जबकि शेष 20 प्रतिशत पिछड़ों में यादव, कुर्मी, कोइरी करीब 18 प्रतिशत हैं.

 

राज्य में मुस्लिम आबादी 17 प्रतिशत है और यहां 13 लोकसभा क्षेत्र ऐसे हैं जहां मुसलमानों की आबादी 18 से 44 प्रतिशत के बीच मानी जाती है.

 

सारण (छपरा) से राजद प्रत्याशी और पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी कहती हैं कि चुनाव के समय सभी पार्टियों में लोगों का आना-जाना लगा रहता है, जाने वाले को रोका नहीं जा सकता. उन्होंने कहा कि किसी भी नेता के जाने से पार्टी पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा. राजद आगे है और रहेगा. 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: 2014 के चुनावों में क्या बिहार के दो ‘राम’ लगा पाएंगे बीजेपी की नैया पार
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ele2014
First Published:

Related Stories

J&K: पुलवामा में सुरक्षाबलों ने लश्कर-ए-तैयबा के जिला कमांडर अयूब लेलहारी को किया ढेर
J&K: पुलवामा में सुरक्षाबलों ने लश्कर-ए-तैयबा के जिला कमांडर अयूब लेलहारी को...

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के जिला कमांडर को आज...

गोरखपुर ट्रेजडी: डीएम की रिपोर्ट में डॉक्टर और ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली कंपनी हादसे की जिम्मेदार
गोरखपुर ट्रेजडी: डीएम की रिपोर्ट में डॉक्टर और ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली...

नई दिल्ली: गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में 10 अगस्त से 12 अगस्त के बीच 48 घंटे के भीतर 36 बच्चों की...

अमेरिका ने हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन घोषित किया
अमेरिका ने हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन घोषित किया

वाशिंगटन: आतंकी सैयद सलाहुद्दीन को इंटरनेशनल आतंकी घोषित करने के करीब दो महीने बाद आज अमेरिका...

RBI ने नहीं पूरी की नोटों की गिनती तो पीएम ने कैसे किया 3 लाख करोड़ वापस आने का दावा: कांग्रेस
RBI ने नहीं पूरी की नोटों की गिनती तो पीएम ने कैसे किया 3 लाख करोड़ वापस आने का...

नई दिल्ली: कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के स्वाधीनता दिवस के अवसर पर राष्ट्र के नाम...

'सोनू' के तर्ज पर कपिल मिश्रा का 'पोल खोल' वीडियो, गाया- AK तुझे खुद पर भरोसा नहीं क्या...?
'सोनू' के तर्ज पर कपिल मिश्रा का 'पोल खोल' वीडियो, गाया- AK तुझे खुद पर भरोसा नहीं...

नई दिल्ली : दिल्ली सरकार में मंत्री पद से बर्खास्त किए गए कपिल मिश्रा ने सीएम अरविंद केजरीवाल...

एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें
एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें

1. रिश्तों में टकराव के लिए चीन ने पीएम नरेंद्र मोदी को जिम्मेदार ठहराया है. http://bit.ly/2vINHh4  मंगलवार को...

 'ब्लू व्हेल' गेम पर सरकार सख्त, रविशंकर प्रसाद ने कहा- इसे स्वीकार नहीं किया जा सकता
'ब्लू व्हेल' गेम पर सरकार सख्त, रविशंकर प्रसाद ने कहा- इसे स्वीकार नहीं किया...

नई दिल्ली: जानलेवा ‘ब्लू व्हेल’ गेम को लेकर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बुधवार को...

विपक्षी दलों के साथ शरद यादव कल करेंगे 'शक्ति प्रदर्शन'!
विपक्षी दलों के साथ शरद यादव कल करेंगे 'शक्ति प्रदर्शन'!

नई दिल्ली: जेडीयू के बागी नेता शरद यादव कल यानि गुरुवार को अपनी ताकत के प्रदर्शन के लिए सम्मेलन...

भगाए जाने के बाद बोला चीन, लद्दाख में टकराव की कोई जानकारी नहीं
भगाए जाने के बाद बोला चीन, लद्दाख में टकराव की कोई जानकारी नहीं

बीजिंग: चीन ने जम्मू-कश्मीर के लद्दाख में मंगलवार को दो बार भारतीय इलाके में घुसपैठ की कोशिश...

योगी राज में किसानों के 'अच्छे दिन'
योगी राज में किसानों के 'अच्छे दिन'

नई दिल्लीः यूपी के किसानों के लिए खुशखबरी का इंतजार खत्म हो गया है. कल सीएम योगी आदित्यनाथ 7 हज़ार...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017