FULL INFORMATION: जेटली पर क्यों हमला कर रहे हैं केजरीवाल?

Arvind kejriwal verses arun

नई दिल्ली: दिल्ली में अरविंद केजरीवाल के प्रधान सचिव राजेंद्र कुमार पर सीबीआई का छापा क्या पड़ा दिल्ली की सियासत अचानक गर्मा गई. कल से लेकर अभी तक आरोपों और प्रत्यारोपों का दौर जारी है. आज आम आदमी पार्टी ने फिर से जेटली को घेरा. आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाया है कि डीडीसीए से जुड़े घोटाले में उनकी सरकार जेटली के खिलाफ जांच कर रही है इसीलिए सीबीआई ने छापा मारा गया. जेटली ने फिर कहा मैं बेबुनियाद आरोपों पर कुछ नहीं बोलता.

 

अरविन्द केजरीवाल सरकार में प्रधान सचिव राजेंद्र कुमार के दफ्तर और मकान पर पड़े सीबीआई छापे के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और शाम होते होते वित्त मंत्री अरुण जेटली पर निशाना साधा और उसके बाद उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भी उसी बात को बाद में दोहराया.

 

केजरीवाल ने आरोप लगाया की ये रेड इस वजह से की गयी जिससे कि उस रिपोर्ट पर होने वाली आगे की कार्रवाई के बारे में पता लगाया जा सके जो डीडीसीए मामले में गठित कमिटी ने सरकार को दी है, साथ ही ये भी पता चल सके की दिल्ली सरकार जेटली के खिलाफ क्या कोई कार्रवाई करने की तैयारी कर रही है?

 

अरुण जेटली की बेटी की शादी

चलिए हम आपको बताते हैं की आखिर केजरीवाल किस रिपोर्ट का ज़िक्र कर जेटली पर सवाल खड़े कर रहे हैं और किस मामले में कमीशन ऑफ़ इन्क्वारी बनाने की बात कर रहे हैं.
– केजरीवाल सरकार ने 12 नवंबर को डीडीसीए में भ्रष्टाचार को लेकर एक 3 सदस्यीय कमिटी का गठन किया
– जिसने 17 नवंबर को अपनी रिपोर्ट सरकार को सौंपी.
– 248 पन्नों की उस रिपोर्ट में कमिटी ने कहा कि डीडीसीए में पिछले एक दशक के दौरान करोडों का घोटाला हुआ है और इस मामले की जांच होनी चाहिए.
– रिपोर्ट में कहा गया कि एक बड़ा घोटाला तब हुआ जब फ़िरोज़ शाह कोटला मैदान के रेनोवेशन का काम चल रहा था.
– उस दौरान अलग अलग कंपनियों को कोटला में रेनोवेशन का काम सौंपा गया और ये काम करोड़ों का था.
– करोड़ों रूपये के उस टेंडर को देते वक़्त लाखों करोड़ों का घोटाला हुआ है.
– जो लोग घोटाले में शामिल थे उनके खिलाफ कार्रवाई तक नहीं हुई.
कमिटी ने अपनी रिपोर्ट में जिस दौरान डीडीसीए में घोटाले की बात की है उस दौरान देश के मौजूदा वित्त मंत्री अरुण जेटली डीडीसीए के अध्यक्ष थे.
– अरुण जेटली दिसंबर 1999 से लेकर दिसंबर 2013 तक डीडीसीए के अध्यक्ष पद पर काबिज़ रहे.

– फ़िरोज़ शाह कोटला मैदान के रेनोवशन का पूरा काम उस वक़्त में हुआ जब जेटली डीडीसीए अध्यक्ष थे.
– कमिटी की रिपोर्ट में कहा गया है कि जिस काम पर डीडीसीए ने करोड़ों रूपये खर्च कर दिए उसका कम्पलीशन सर्टिफिकेट आज तक नहीं मिला है.

 

दिल्ली सरकार इसी आधार पर अरुण जेटली के ऊपर सीधे से घोटाले में शामिल होने का आरोप लगा रही है. केजरीवाल सरकार के सूत्रों की मानें तो जांच कमिटी की रिपोर्ट मिलने के बाद तय किया गया कि इस मामले की जांच के लिए कमीशन ऑफ़ इन्क्वारी गठित की जायेगी. कमीशन ये देखेगा कि डीडीसीए में हुए करोड़ों के घोटाले में कौन कौन शामिल है और क्या कार्रवाई की जा सकती है? इस मामले में उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कमीशन ऑफ़ इन्क्वारी गठित करने के लिए सीएम अरविंद केजरिवाल के पास फ़ाइल भी भेज दी थी और उस पर कार्रवाई भी शुरू हो चुकी थी. अब केजरीवाल सरकार आरोप लगा रही है कि सीबीआई ने छापेमारी के दौरान उस फ़ाइल को भी खंगाला और पढ़ा गया.

 

इसी को आधार बनाकर केजरीवाल सरकार अब राजेन्द्र कुमार के दफ्तर पर हुई सीबीआई रेड को सीधे तौर पर वित्त मंत्री अरुण जेटली से जोड़ रही है. और सीबीआई की तरफ से ज़ब्त किये गए दस्तावेज़ों की लिस्ट जारी कर यही आरोप लगाया है की इस रेड का मक़सद जेटली के खिलाफ डीडीसीए मामले में क्या कार्रवाई चल रही है इसका पता लगाना था और ये छापेमारी राजेंद्र कुमार पर नहीं केजरीवाल पर थी.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Arvind kejriwal verses arun
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: arun jaietly arvind kejriwal
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017