33 फीसदी तो दूर, 12 प्रतिशत को भी पार कर पाएगी महिला सांसदों की संख्या?

By: | Last Updated: Thursday, 15 May 2014 6:11 AM

नई दिल्ली: संसद में 33 प्रतिशत महिलाओं की भागीदारी की बात लंबे समय से हो रही है लेकिन संसदीय इतिहास में अभी तक 12 प्रतिशत से अधिक महिलाएं निम्न सदन में नहीं पहुंची हैं और इस चुनाव में देश के प्रमुख राजनीतिक दलों के उम्मीदवारों की सूची में महिलाओं की संख्या देखकर इस बार भी बहुत आशाजनक तस्वीर नहीं दिखाई देती.

 

देश में आजादी के बाद अब तक सभी लोकसभाओं में सर्वाधिक महिला सांसद पिछली यानी 15वीं लोकसभा में रहीं और तकरीबन 11.2 प्रतिशत यानी 61 सांसद देशभर से चुनकर निचले सदन में पहुंचीं थीं. इस बार भी यही सवाल है कि क्या 16वीं लोकसभा में महिला सांसदों की संख्या 11-12 प्रतिशत से आगे निकल सकेगी? 2014 के लोकसभा चुनावों में दो प्रमुख दलों कांग्रेस और भाजपा के साथ महिला अधिकारों की तरफदारी करने वाली आम आदमी पार्टी के उम्मीदवारों में महिलाओं की संख्या देखें तो लगता है कि 16वीं लोकसभा में भी नारीशक्ति की साझेदारी में बहुत ज्यादा फर्क नहीं पड़ने वाला.

 

कांग्रेस ने इस बार के चुनाव में 60 महिलाओं पर विश्वास जताया तो भाजपा ने कुल 38 महिला प्रत्याशियों को ही पार्टी का टिकट दिया. आम आदमी पार्टी भी इस मामले में ज्यादा अलग नजर नहीं आई और देशभर में खड़े उसके करीब 430 उम्मीदवारों में 38 ही महिलाएं हैं.

 

संसद में 33 प्रतिशत महिला आरक्षण की बात होती है और इस संबंध में राजनीतिक दलों के गतिरोध के कारण कानून भी लंबित है लेकिन देश की सर्वोच्च पंचायत में आधी आबादी का एक तिहाई प्रतिनिधित्व अभी तो नजर नहीं आता. कांग्रेस, भाजपा और आप के कुल 1325 उम्मीदवारों में से कुल 157 यानी करीब 12 प्रतिशत ही महिलाएं हैं.

 

अब जब उम्मीदवारों में महिलाओं की भागीदारी 12 फीसदी है तो संसद में महिला सांसदों की संख्या इस बार भी इस आंकड़े से आगे जाने की संभावना नहीं लगती.

 

पिछली लोकसभा से पहले सर्वाधिक महिला सांसदों की संख्या 13वीं और 14वीं लोकसभाओं में 52-52 रही थी.

 

लोकसभा चुनाव में प्रमुख महिला प्रत्याशियों में कांग्रेस से सोनिया गांधी, मीरा कुमार, कृष्णा तीरथ, मीनाक्षी नटराजन, प्रिया दत्त, श्रुति चौधरी आदि हैं तो भाजपा की सूची में सुषमा स्वराज, उमा भारती, स्मृति ईरानी, मेनका गांधी, किरण खेर, हेमा मालिनी आदि नाम अहम हैं.

 

इस तरह आप पार्टी की शाजिया इल्मी, गुल पनाग, राखी बिड़ला, मेधा पाटकर, मीरा सान्याल तो सपा की डिंपल यादव, राजद की राबड़ी देवी, मीसा भारती के नाम भी लिये जा सकते हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: 33 फीसदी तो दूर, 12 प्रतिशत को भी पार कर पाएगी महिला सांसदों की संख्या?
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ele2014
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017