यमन में फंसे गुजरात के 70 नाविक, सरकार से मदद की गुहार

By: | Last Updated: Monday, 14 September 2015 3:16 AM

अहमदाबाद: गुजरात के रहने वाले करीब 70 नाविक पिछले 15 दिनों से ज्यादा समय से संकट ग्रस्त यमन में फंसे हुए हैं और उन्होंने भारत सरकार से उन्हें सुरक्षित बाहर निकालने की गुहार लगाई है.

 

इन नाविकों ने भारत सरकार से यह अनुरोध ऐसे समय में किया है जब पिछले ही दिनों यमन में सउदी अरब की अगुवाई में हुए हवाई हमलों की चपेट में आ जाने के कारण छह भारतीय नागरिक मारे गए थे. नाविकों के एक समूह के मुताबिक, कच्छ के मांडवी गांव और जामनगर के जोडिया और सलाया गांवों के रहने वाले करीब 90 नाविक अपनी पांच मालवाहक नौकाओं के साथ यमन में फंसे हुए हैं.

 

कच्छ और मांडवी के वाहनवत्ता संघ के अध्यक्ष हाजी जुनेजा ने बताया, ‘‘पांच नौकाओं के साथ 70 गुजराती नाविक करीब 15 दिनों से अपनी पांच नौकाओं के साथ फंसे हुए हैं और उन्हें सुरक्षित बाहर निकलने के लिए अब सरकारी मदद की जरूरत है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैंने कल विदेश मंत्रालय को लिखकर उनसे अनुरोध किया कि हमारे नाविकों को बचाएं या उन्हें किसी सुरक्षित स्थानों पर ले जाएं.’’

 

जुनेजा ने कहा, ‘‘ये नाविक दयनीय स्थिति में हैं क्योंकि कुछ बलों ने उन पर बमबारी की है. कल रात वे बाल-बाल बचे जब कुछ बलों, जो या तो विद्रोहियों की तरफ से थे या सउदी गठबंधन की तरफ से, ने रॉकेट लांचरों से हमला किया.’’ उन्होंने कहा कि ये नाविक माल पहुंचाने के लिए यमन गए थे. इस बीच, यमन में फंसे एक नाविक की पहचान मांडवी गांव के सिकंदर के तौर पर हुई है. सिकंदर ने कल रात एक ऑडियो संदेश भेजा जिसमें उसने कहा कि कल रात उन पर बम से हमला किया गया. 

 

सिकंदर ने संदेश में कहा, ‘‘मैं एक भारतीय हूं. मेरा नाम सिकंदर है. हम खोखा पोर्ट पर हैं. उन्होंने तीन रॉकेट दागे हैं और हम खुद को किसी तरह बचाने में सफल हुए. हम अपनी जान बचाने के लिए यहां-वहां भाग रहे हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम यहां 70 भारतीय हैं और हमारे पास पांच जहाज हैं. वे युद्धक विमानों से हम पर हमले कर रहे हैं. कृपया हमारी मदद करें. हम भारतीय हैं. हम बड़ी मुश्किल में हैं. वे हमें मार डालेंगे. कृपया हमें बचाएं.’’

 

यमन में गृह युद्ध जैसे हालात हैं. शिया विद्रोही वहां सरकार समर्थक बलों से लड़ रहे हैं. संयुक्त राष्ट्र का अनुमान है कि मार्च से लेकर अब तक इस टकराव में 4,500 से ज्यादा लोग मारे गए हैं. विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा था कि छह भारतीय उस वक्त मारे गए जब उनकी नौका आठ सितंबर को सउदी अरब की अगुवाई में किए जा रहे हमलों की चपेट में आ गई थी.

 

मारे गए नाविक उन सात भारतीय नागरिकों में शामिल थे जिन्हें शुरूआत में तब लापता बताया गया था जब 21 भारतीयों को लेकर जा रही दो नौकाएं ‘मुस्तफा’ और ‘अस्मार’ हवाई हमलों की चपेट में आ गई थी.

 

मंत्रालय ने कहा था कि शेष 15 भारतीयों में 14 हुदैदा में सुरक्षित हैं जबकि एक व्यक्ति अब भी लापता है. मंत्रालय ने यह भी कहा था कि उनका पता लगाने के लिए स्थानीय अधिकारियों से संपर्क किया जा रहा है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: 70 sailors stranded in Yemen, MEA says working on evacuation
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: MEA Yemen
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017