लीबीया में हादसा, नाव डूबने से 700 लोगों की मौत

By: | Last Updated: Sunday, 19 April 2015 3:19 PM
700 feared dead in boat accident

नई दिल्ली: यूरोप जा रही एक मछली पकड़ने के नाव के लीबिया के समुद्र तट के पास भूमध्य सागर में डूबने से 700 लोगों के मरने की आशंका है. नाव में तस्करी कर प्रवासियों को ले जाया जा रहा था. संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी के मुताबिक शनिवार रात हुए इस हादसे में 28 लोगों को बचाया गया है. टाइम्स ऑफ माल्टा में रविवार को छपी खबर में इस हादसे की जानकारी दी गई है.

 

यह हादसा दक्षिणी इटली के द्वीप लैंपेडूसा के दक्षिणी तट के पास हुआ. नाव लीबिया के समुद्र तट से 96 किलोमीटर और इटली के लामपेदुसा द्वीप से 193 किलोमीटर दक्षिण में डूबी.

 

एनएचसीआर की प्रवक्ता कारनोटा सामी ने इटली के स्काईटीजी24 समाचार चैनल से कहा कि घटना में केवल 28 लोग जीवित बचे हैं. बचे लोगों ने नाव में 700 से अधिक लोगों के सवार होने का संकेत दिया है.

 

माल्टा की नौसेना ने नाव में 650 लोगों के सवार होने की जानकारी दी है और कहा है कि स्थानीय समानुसार शनिवार मध्यरात्रि के आसपास एक अलर्ट आया था.

 

माल्टा की नौसेना के एक प्रवक्ता ने ज्यादा जानकारी दिए बिना कहा, ‘हमने इटली के दल समेत अपने बलों को तैनात किया है और बचाव अभियान में सहयोग कर रहे हैं.’

दक्षिणी भूमध्यसागर में पिछले कई दशकों में हुई यह सबसे बड़ी दुर्घटना है. इस दुर्घटना में मारे गए लोगों की संख्या भी जोड़ दें तो इस साल की शुरुआत से लेकर अब तक समुद्री दुर्घटनाओं में 1,500 से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं.

शरणार्थियों के मामले के संयुक्त राष्ट्र के हाई कमिश्नर कारलोटा सैमी के प्रवक्ता ने बताया कि फिलहाल इस दुर्घटना के भीषण होने की आशंका है. फिलहाल इटली के कोस्ट गार्ड्स या नेवी की ओर से कोई बयान नहीं आया है.

 

आशंका जताई जा रही है कि लोगों की भीड़ एक ओर होने से नाव का बैलेंस बिगड़ गया होगा और वह पानी में उलट गई होगी.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: 700 feared dead in boat accident
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: 700 feared dead Libya
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017