DETAIL: यूपी निकाय चुनाव परिणाम का गुजरात चुनाव पर कितना होगा असर?

DETAIL: यूपी निकाय चुनाव परिणाम का गुजरात चुनाव पर कितना होगा असर?

कांग्रेस का तो मेयर चुनाव में सूपड़ा साफ हो गया है. राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र अमेठी की गौरीगंज नगरपालिका में भी कांग्रेस हार गई है.

By: | Updated: 01 Dec 2017 11:05 PM
Civic Election Results, UP Civic Elections Results: Impact on Gujrat elections
नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश में बीजेपी ने 16 में 14 नगर निगम में जीत दर्ज की है. लोकसभा चुनाव के समय से बीजेपी ने लगातार राज्यों पर जो पकड़ बनाई, वह अब और मजबूत दिख रही है. यूपी में जीत का गुजरात कनेक्शन अमेठी और गौरीगंज यानी राहुल गांधी के गढ़ में कांग्रेस की हार से जुड़ गया है. बीजेपी पूछ रही है कि जब राहुल अमेठी नहीं जीत पाए तो गुजरात जीतने का सपना भी कैसे देख सकते हैं?

यूपी की बड़ी जीत ने गुजरात विजय के लिए बीजेपी नेताओं को नए जोश से भर दिया है. कांग्रेस का तो मेयर चुनाव में सूपड़ा साफ हो गया है. राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र अमेठी की गौरीगंज नगरपालिका में भी कांग्रेस हार गई है. अमेठी में राहुल गांधी को झटका, पूरी खबर यहां पढ़ें

जीत के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा है. सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा है, ‘जो लोग गुजरात चुनाव के लिए बड़ी बड़ी बातें कर रहे थे, निकाय चुनाव में उनका खाता भी नहीं खुल पाया.’ योगी ने आगे कहा,‘ ऐसे लोगों का अमेठी लगभग सूपड़ा ही साफ हो गया है. जनता ने इन लोगों को सबक सिखा दिया है.’ यूपी नगर निगम चुनाव परिणाम: प्रत्येक जिले का चुनाव परिणाम यहां देखें

अमेठी में कांग्रेस की हार पर स्मृति ईरानी का कांग्रेस पर निशाना
स्मति ईरानी ने कहा, ''राहुल गांधी अपने क्षेत्र में ना तो विधानसभा के चुनाव जीत पा रहे हैं और ना ही नगर निकाय के. इससे गुजरात और देश की जनता को स्पष्ट संकेत जाता है कि वो अपने क्षेत्र के लोगों द्वारा ही स्वीकार नहीं किए जा रहे हैं. अमेठी इसलिए विशेष है क्यों कि ये पीढ़ी दर पीढ़ी कांग्रेस के साथ रहा है. लेकिन सिर्फ अमेठी ही नहीं पूरे उत्तर प्रदेश में कांग्रेस को मुंह की खानी पड़ी है.''

यूपी की जीत का गुजरात कनेक्शन

यूपी के 16 बड़े शहरों में से 14 के मेयर ऑफिस पर भगवा झंडा लहरा रहा है. बीजेपी ने लखनऊ, कानपुर, इलाहाबाद, गोरखपुर, वाराणसी, मथुरा, अयोध्या, सहारनपुर, फिरोजाबाद, मुरादाबाद, बरेली, सहारनपुर, झांसी और आगरा जीत लिया है. जबकि अलीगढ़ और मेरठ में मेयर की कुर्सी बीएसपी के खाते में गई है.

यूपी की हवा गुजरात तक जाने की इसलिए भी संभावना लग रही है क्योंकि जुलाई में जीएसटी लागू होने के बाद ये पहला बड़ा चुनाव है. यूपी के जिन शहरों में बीजेपी जीती है- वो ही यूपी में कारोबार और उद्योग धंधों के लिहाज से गिने-चुने शहर हैं, यानी अगर यूपी का कारोबारी जीएसटी के खिलाफ नहीं है तो कारोबारी राज्य गुजरात में भी ऐसा ही ट्रेंड देखने को मिल सकता है.

यूपी के बड़े शहरों में बीजेपी की जीत का गुजरात कनेक्शन इसलिए भी जुड़ रहा है क्योंकि यूपी के नतीजे शहरी इलाकों के हैं और गुजरात की आबादी में बड़ी तादाद शहरी इलाके की है. गुजरात में 42.58 फीसद आबादी शहरी इलाकों में रहती है जबकि 58.42 फीसद आबादी ग्रामीण इलाकों में. यूपी के निकाय चुनावों में कांग्रेस कहीं भी जीत के आसपास दिखाई नहीं पड़ी. वहीं कांग्रेस जो गुजरात में बीजेपी को कड़ी टक्कर देने का दम भर रही है. अब कांग्रेस के नेता कह रहे हैं कि गुजरात के चुनाव में यूपी के निकाय चुनाव नतीजों का कोई असर नहीं पड़ेगा.


यूपी नगर निगम और स्थानीय निकाय चुनाव परिणाम - 2017


LIVE: पहली परीक्षा में योगी पास

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: Civic Election Results, UP Civic Elections Results: Impact on Gujrat elections
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story भड़काऊ भाषण को लेकर बीजेपी विधायक और दो अन्य के खिलाफ मामला दर्ज