संस्कारी संतान के लिए कोर्स !

By: | Last Updated: Monday, 22 September 2014 11:16 AM
9 month course for pregnant women

भोपाल: भोपाल के हिंदी विश्वविद्यालय में एक कोर्स शुरू किया जा रहा है जिसको लेकर विवाद खड़ा हो गया है. ये कोर्स गर्भवती महिलाओं के है और विश्वविद्यालय का दावा है कि नौ महीने के कोर्स के बाद मनचाही संतान पैदा होगी.

 

विश्वविद्यालय का दावा है कि इस कोर्स से समाज का फायदा होगा, क्योंकि गर्भधारण के दौरान अगर महिला अच्छे माहौल में रहे तो संतान के संस्कार अच्छे होते हैं. ये कोर्स नौ महीने का होगा और दो अक्टूबर से इसकी शुरुआत होगी.

 

लेकिन कांग्रेस को ये रास नहीं आया है. कांग्रेस ने इसे बीजेपी का भगवा एजेंडे के तहत दकियानूसी कोर्स बताकर विरोध किया है.

 

विश्वविद्यालय का कहना है कि मनचाही संतान पाने के लिए सिखाए जाने वाले कोर्स में महिलाओं को गर्भावस्था में खान पान और रहन सहन की शिक्षा दी जाएगी. दावा किया जा रहा है कि इससे अभिमन्यू और अप्टावक्र सरीखी तेजस्वी संतान होगी.

 

प्राध्यापक निवेदिता चतुर्वेदी का दावा है कि इस कोर्स से फायदा होगा और इसे कपोल कल्पना कहना ग़लत है.

 

आपको बता दें कि ऐसा विश्वविद्यालय अहमदाबाद में भी चल रहा है. जहां गुजराती भाषा में ये कोर्स चल रहा है.

 

कांग्रेस प्रवक्ता दीप्ति सिंह का कहना है कि ये कैसे तय कर पाएंगे कि जो बच्चा पैदा होगा वह अभिन्यू जैसा होगा, क्या इनके पास कोई एक्सरे मशीन है.

 

विश्वविद्यालय में बांटे जा रहे पर्चे में कहा जा रहा है कि भारत को विश्वगुरू बनाने के लिए देश में ऋषि पैदा होने चाहिए, जिसके लिए दो अक्टूबर से विष्वविघालय में ये कोर्स चलाया जायेगा.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: 9 month course for pregnant women
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017