रेप का दर्द झेल रही मासूम, कराह रहा पूरा परिवार

By: | Last Updated: Monday, 31 August 2015 5:49 AM

रांची: झारखंड के पूर्वी सिंहभूम जिले में रेप की सजा एक पूरा परिवार भुगत रहा है. चंद दिनों पहले तक जिस मासूम की मुस्कुराहट पूरे घर में खुशियां फैला देती थी अब उसका दर्द, टीस बनकर मां-बाप के चेहरे पर छाया रहता है.

 

लेकिन दर्द की ये दास्तां यहीं खत्म नहीं होती है. पिछले दो माह से नौ साल की कराहती पीड़िता को मजबूर बाप गोद में उठाकर अस्पताल ले जाता है. अस्पताल पहुंचने के लिए उसे चार किलोमीटर का लंबा सफर पैदल ही तय करना पड़ता है. दिहाड़ी मजदूर के लिए शारीरिक और मानसिक कष्ट के साथ ही यह स्थिति आर्थिक आधार पर भी तकलीफदायक है.

 

प्रशासन की ओर से उन्हें कोई मदद नहीं मिली. लेकिन, अब झारखंड हाईकोर्ट ने मामले को संज्ञान में ले लिया है. हाईकोर्ट ने पीड़ित परिवार को एक लाख रुपए की सहायता राशि अविलंब देने को कहा है.

 

इसके बाद से स्थानीय प्रशासन भी हरकत में है. प्रशासन की ओर से जहां एक तरफ अब पीड़िता को मेडिकल मदद मुहैया कराई जा रही है वहीं पिता को मनरेगा के तहत रोजगार मुहैया कराने का आश्वासन दिया गया है.

 

दरअसल पूर्व सिंहभूम के हटियापाटा गांव मजदूर की बेटी से जुलाई में एक ट्रक ड्राइवर ने दुष्कर्म किया. चॉकलेट दिलाने के बहाने एक सुनसान जगह पर मासूम को ले गया और वहां बच्ची से रेप किया. इसके बाद बच्ची की हालत बेहद गंभीर हो गई उसको लगातार ब्लीडिंग हो रही थी.

 

स्थानीय अस्पताल के बाद उसे जमशेदपुर ले जाया गया. लेकिन, यहां से भी उसे रांची रेफर कर दिया गया. गहरे घाव के कारण उसका ऑपरेशन करना पड़ा. सर्जरी के बाद बच्ची को डिस्चार्ज कर दिया गया लेकिन रोज ड्रेसिंग करना जरूरी था.

 

पिता के अनुसार मजदूरी छोड़ ड्रेसिंग के लिए ले जाने से उसका घर चलाना भी मुश्किल हो गया है. पीड़िता के पिता का कहना है कि ‘वह मेरी बेटी है. मैं उसे इस तरह नहीं छोड़ सकता. मैं उसे जल्द से जल्द ठीक होता देखना चाहता हूं, इसलिए रोज अस्पताल ले जाता हूं.’

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: 9-Year-Old rape victim’s Father Carries Her 4 Km Every Week
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017