दो सालों में तेंदुलकर महज 'तीन' और रेखा 'सात' दिन आए राज्यसभा

By: | Last Updated: Monday, 21 July 2014 6:33 AM

 

नई दिल्ली: क्या आपको याद है, जब हम स्कूल में थे तब हमें क्लास बंक करने में कितना मजा आता था! खेल से लेकर एक्टिंग तक सारी एक्टिविटीज में हमें बहुत मजा आता था पर हममें से बहुत कम ही थे जिन्हें क्लास में बैठना अच्छा लगता था और फिर हम बड़े हो गए. जब ऑफिस ज्वाइन किया तो स्कूल की सारी पढ़ाई और मस्ती जाती रही, साथ ही जिस बात का एहसास हुआ वो थी जिम्मेदारी. मतलब ये कि हम अपनी जिम्मेदारी के साथ मजाक नहीं कर सकते क्योंकि ऐसा करने का खामियाजा हमें और उस काम से जुड़े सभी लोगों को भुगतना पड़ेगा. लेकिन शायद ही यह बात उन सेलिब्रिटीज को समझ में आती हो जो नॉमिनेट होकर राज्यसभा की सीट पाते हैं. कम से कम रिकॉर्ड तो यही कहता है.

 

संसद के दो सदनों में से एक ‘उपरी सदन’ यानि राज्यसभा में राष्ट्रपति द्वारा चुने जाने वाले 12 सदस्यों में से दो सदस्यों की उपस्थिति ऐसी है जिससे लगता है कि ये लोग सदन की महत्वता को बिल्कुल भी नहीं समझते हैं. 1999-2005 के कार्यकाल के लिए चुनी गयी मशहूर गायिका लता मंगेशकर हो या 1986-1992 के लिए चुने गए प्रख्यात पेंटर एमएफ हुसैन दोनों की उपस्थिति ना के बराबर थी वहीं 2012-2018 के कार्यकाल के लिए चुनी गयी दो महान हस्तियां लिजेंड क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर और महान अभिनेत्री रेखा ने भी संसद में उपस्थित होने के मामले में वो महानता नहीं दिखाई जो उन्होंने अपने क्षेत्रों में दिखाई है. इनसे कहीं ज्यादा उन लोगों की उपस्थिति रही है जो अकादमी, सिविल सेवा, पत्रकारिता या विज्ञान जैसे क्षेत्रों से चुने गए हैं.

 

आपको जानकर आश्चर्य होगा कि 2012 में सदन के सदस्य बने तेंदुलकर ने महज तीन बार सदन की कार्यवाही में हिस्सा लिया है वहीं उसी साल राज्यसभा सदस्य बनाई गयी रेखा ने सात बार संसद की कार्यवाही में हिस्सा लिया है. बहुतों को ऐसा लगता था कि सन्यास के बाद राज्यसभा में तेंदुलकर की उपस्थिति बढ़ेगी पर हुआ ठीक उल्टा. रिटायरमेंट के बाद वो सिर्फ एक बार राज्यसभा आए. दिसम्बर 2013 से इस साल की जुलाई तक राज्यसभा में कुल 35 बैठकें हुई हैं पर उपस्थिति के मामले में इस महान बल्लेबाज का औसत और स्ट्राइक रेट दोनों ही हद से ज्यादा खराब रहा है.

 

वहीं मई 2012 से लेकर जुलाई 2014 तक हुई कुल बैठकों के दौरान रेखा ने महज 7 दिनों के लिए संसद की तरफ अपना रुख किया है. चौंकाने वाली बात तो यह है कि इतनी चकाचौंध के बीच लड़े गए आम चुनावों के बाद बनी नई सरकार का कार्यकाल शुरु होने बाद हुई संसद की किसी भी कार्यवाही में ना तो सचिन तेंदुलकर और ना ही रेखा ने किसी तरह की कोई रुचि दिखाई और दोनों एक बार भी संसद नहीं पहुंचे. उनकी अनुपस्थिति पर राज्यसभा में सवाल उठाए जा रहे हैं. बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव की अध्यक्षता वाली पार्टी राष्ट्रिय जनता दल के सदस्य और पूर्व युनियन मिनिस्टर प्रेमचंद गुप्ता ने ऐसे सदस्यों के नामांकन पर ही सवाल खड़ा कर दिया है.

 

रेखा और तेंदुलकर के अलावा जावेद अख्तर उन 12 लोगों में शामिल है जिन्हें राष्ट्रपति ने राज्यसभा का सदस्य नामित किया है. लेकिन सचिन और रेखा कि तुलाना में जावेद अख्तर का रिकॉर्ड बहुत अच्छा है. भले ही वो सदन की कार्यवाही के दौरान कुछ बोलते नहीं हों पर उनकी उपस्थिति बहुत अचछी है. उनकी पत्नी शबाना आजमी जब सदन की सदस्य थीं तो वो एक एक्टिव मेंबर की तरह रहती थीं और एक प्रखर वक्ता भी थीं. शाबाना का कार्यकाल 1997-2003 तक का था.

 

बाकी के नॉमिनेटेड मेंबर्स का रिकॉर्ड इन तीनों से बहुत अच्छा है. इन सदस्यों में व्यापार और समाजसेवा से जुड़ी महिला अनु आगा, वरिष्ठ पत्रकार एच के दुआ, थिएटर में महत्वपूर्ण योगदान देने वाले बी जयश्री, विधिवेत्ता के परासरन और जाने-माने वकील केटीएस तुलसी हैं जिनकी उपस्थिति काफी अच्छी है. लेकिन ये लोग भी सीधे तौर पर डिबेट में हिस्सा नहीं लेते हैं पर सदन में दिखते जरूर हैं.

 

संविधान का आर्टिकल 80 राष्ट्रपति को यह अधिकार देता है कि वह राज्यसभा में कुल सीटों में से 12 सीटों पर उन लोगों को चुन सके जिन्होंने अपनी फील्ड में अहम योगदान दिया है. यह क्षेत्र खेल, सिनेमा, पत्रकारिता, कला जैसे क्षेत्र हो सकते हैं. नॉमिनेट किए गए सदस्यों का कार्यकाल भी अन्य सदस्यों की तरह छह साल का होता है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: _Celebrities _attendance _in _the _Upper _House _of _the _parliament _is _very _poor
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ???? ???? ???????? ????????
First Published:

Related Stories

अमेरिका ने हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन घोषित किया
अमेरिका ने हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन घोषित किया

वाशिंगटन: आतंकी सैयद सलाहुद्दीन को इंटरनेशनल आतंकी घोषित करने के करीब दो महीने बाद आज अमेरिका...

RBI ने नहीं पूरी की नोटों की गिनती तो पीएम ने कैसे किया 3 लाख करोड़ वापस आने का दावा: कांग्रेस
RBI ने नहीं पूरी की नोटों की गिनती तो पीएम ने कैसे किया 3 लाख करोड़ वापस आने का...

नई दिल्ली: कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के स्वाधीनता दिवस के अवसर पर राष्ट्र के नाम...

'सोनू' के तर्ज पर कपिल मिश्रा का 'पोल खोल' वीडियो, गाया- AK तुझे खुद पर भरोसा नहीं क्या...?
'सोनू' के तर्ज पर कपिल मिश्रा का 'पोल खोल' वीडियो, गाया- AK तुझे खुद पर भरोसा नहीं...

नई दिल्ली : दिल्ली सरकार में मंत्री पद से बर्खास्त किए गए कपिल मिश्रा ने सीएम अरविंद केजरीवाल...

एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें
एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें

1. रिश्तों में टकराव के लिए चीन ने पीएम नरेंद्र मोदी को जिम्मेदार ठहराया है. http://bit.ly/2vINHh4  मंगलवार को...

 'ब्लू व्हेल' गेम पर सरकार सख्त, रविशंकर प्रसाद ने कहा- इसे स्वीकार नहीं किया जा सकता
'ब्लू व्हेल' गेम पर सरकार सख्त, रविशंकर प्रसाद ने कहा- इसे स्वीकार नहीं किया...

नई दिल्ली: जानलेवा ‘ब्लू व्हेल’ गेम को लेकर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बुधवार को...

विपक्षी दलों के साथ शरद यादव कल करेंगे 'शक्ति प्रदर्शन'!
विपक्षी दलों के साथ शरद यादव कल करेंगे 'शक्ति प्रदर्शन'!

नई दिल्ली: जेडीयू के बागी नेता शरद यादव कल यानि गुरुवार को अपनी ताकत के प्रदर्शन के लिए सम्मेलन...

भगाए जाने के बाद बोला चीन, लद्दाख में टकराव की कोई जानकारी नहीं
भगाए जाने के बाद बोला चीन, लद्दाख में टकराव की कोई जानकारी नहीं

बीजिंग: चीन ने जम्मू-कश्मीर के लद्दाख में मंगलवार को दो बार भारतीय इलाके में घुसपैठ की कोशिश...

योगी राज में किसानों के 'अच्छे दिन'
योगी राज में किसानों के 'अच्छे दिन'

नई दिल्लीः यूपी के किसानों के लिए खुशखबरी का इंतजार खत्म हो गया है. कल सीएम योगी आदित्यनाथ 7 हज़ार...

दिल्ली में तेज रफ्तार ने ली 24 साल के हिमांशु बंसल की जान
दिल्ली में तेज रफ्तार ने ली 24 साल के हिमांशु बंसल की जान

नई दिल्ली: दिल्ली के कनॉट प्लेस इलाके में तेज रफ़्तार स्पोर्ट्स बाईक से एक्सिडेंट का बड़ा मामला...

कर्नाटक में राहुल ने लॉन्च की इंदिरा कैंटीन, ₹10 में खाना और ₹5 में नाश्ता
कर्नाटक में राहुल ने लॉन्च की इंदिरा कैंटीन, ₹10 में खाना और ₹5 में नाश्ता

बेंगलुरू: कर्नाटक में अगले साल विधानसभा के चुनाव होने हैं और इसकी तैयारी अब से शुरू हो गई है. इसी...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017