27 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करेंगे मोदी

By: | Last Updated: Saturday, 2 August 2014 5:51 AM

संयुक्त राष्ट्र: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आगामी 27 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र महासभा की वाषिर्क सभा को संबोधित कर सकते हैं. यह मोदी का पहला वैश्विक भाषण होगा, जिसमें वे लगभग 200 वैश्विक नेताओं और विदेश मंत्रियों को संबोधित करेंगे.

 

वक्ताओं की पहली अस्थाई सूची के अनुसार, भारत की ‘सरकार के प्रमुख’ की ओर से 27 सितंबर की सुबह संयुक्त राष्ट्र महासभा के 69वें सत्र की आम चर्चा (जनरल डिबेट) को संबोधित किए जाने का कार्यक्रम तय किया गया है.

 

संयुक्त राष्ट्र की आम चर्चा 24 सितंबर से 1 अक्तूबर तक होनी है. इसमें राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, राजा और विदेश मंत्री महासभा को संबोधित करते हैं.

 

जनरल डिबेट के सप्ताह को पारंपरिक तौर पर अंतरराष्ट्रीय कूटनीति के लिए साल का सबसे व्यस्त सप्ताह माना जाता है क्योंकि देशों और सरकारों के प्रमुख, नागरिक समाज के सदस्य और उद्योग प्रमुख संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में आते हैं और महत्वपूर्ण वैश्विक मुद्दों पर चर्चा करते हैं.

 

परंपरा के अनुसार, ब्राजील के नेता आम चर्चा में सबसे पहले वक्ता होंगे. इसके बाद अगले वक्ता ओबामा हैं. बांग्लादेश, चीन और रूस के नेता भी इस वैश्विक संगठन को उसी दिन संबोधित करेंगे, जिस दिन मोदी का संबोधन है. पाकिस्तान महासभा को 25 सितंबर के दिन संबोधित करेगा. महासभा को संबोधित करने के अलावा मोदी अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा से पहली मुलाकात के लिए वाशिंगटन की यात्रा कर सकते हैं.

 

मई में प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी की पहली विदेश यात्रा भूटान की थी. इसके बाद उन्होंने ब्रिक्स नेताओं के साथ बैठक के लिए पिछले माह ब्राजील की यात्रा की. कल वह दो दिवसीय यात्रा पर नेपाल के लिए रवाना होंगे.

 

सभी की निगाहें अगले माह होने वाली मोदी की अमेरिका यात्रा पर टिकी हैं, जहां वह ना सिर्फ वैश्विक नेताओं को संबोधित करेंगे, बल्कि संयुक्त राष्ट्र में द्विपक्षीय बैठकें भी करेंगे और संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की-मून से मुलाकात करेंगे. इसके अलावा वह ओबामा से भी मुलाकात करेंगे.

 

बान के प्रवक्ता ने मई में कहा था कि संयुक्त राष्ट्र प्रमुख को ‘बहुत उम्मीद’ है कि मोदी महासभा में शिरकत करेंगे और खास तौर पर जलवायु परिवर्तन सम्मेलन में शिरकत करेंगे क्योंकि भारत को इस मुद्दे पर एक अहम भूमिका निभानी है.

 

ओबामा उन पहले वैश्विक नेताओं में से एक थे, जिन्होंने भारतीय राष्ट्रीय चुनावों में मोदी के नेतृत्व में उनकी पार्टी को मिली शानदार जीत पर मोदी को बधाई दी थी. ओबामा ने उन्हें व्हाइट हाउस आने का निमंत्रण दिया था. मोदी के मुख्यमंत्री रहने के दौरान वर्ष 2002 के गुजरात दंगों के बाद वर्ष 2005 में अमेरिका द्वारा उन्हें वीजा देने से इंकार किए जाने के बाद यह ऐसा निमंत्रण है, जो उच्चतम स्तर से आया है.

 

संयुक्त राष्ट्र की चर्चा से इतर कई उच्चस्तरीय बैठकें भी होनी हैं, जहां वैश्विक नेता एक ही समय पर एक ही शहर में होने का लाभ उठाएंगे और अपने वैश्विक समकक्षों के साथ चर्चा करेंगे.

 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: _PM _Narendra _Modi _to _address _UN _Assembly _on _twenty _seventh _September
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017