असर : क्या खेल संस्थाओं को सिर्फ खिलाड़ियों को ही चलाने देना चाहिए ?

By: | Last Updated: Saturday, 11 October 2014 1:47 PM
aamir khan arise question on game organization

नई दिल्ली : सत्यमेव जयते में आमिर खान ने मुद्दा उठाया और सबसे सवाल पूछा कि क्या खेल संस्थाओं को सिर्फ खिलाड़ियों को ही चलाने देना चाहिए ?

 

आमिर ने ये सवाल देश से पूछा तो 25 लाख लोगों का समर्थन उन्हें मिल गया. आमिर की मुहिम के समर्थन में पूरे 25,29,322 लोगों ने सत्यमेव जयते शो में दिए नंबर पर मिस्ड कॉल की.

 

आमिर ने सत्यमेव जयते सीजन थ्री के पहले एपिसोड में खेल का मुद्दा उठाया था. दिखाया था कि कैसे पढ़ाई के साथ साथ खेल भी जरूरी है. शो में फुटबॉल खिलाड़ी अखिलेश , रेसलर गीता और बबिता और नन्हे खिलाड़ी शुभम की कहानी  दिखाई गई. आमिर की मुहिम की सरकार ने भी तारीफ की है.

 

खेल मंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने कहा कि आमिर को धन्यवाद देना चाहता हूं , खेल को बढ़ावा दिया. खेल मंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने कहा है कि खेल संस्थाओं में वही लोग आने चाहिए जो खेल को आगे बढ़ाएं.

 

खेल मंत्री ने कहा जो कोई भी खेल संघ में वो खेल को आगे बढ़ाए राजनीति ना करे. पार्टी पॉलटिक्स खेल में ना हो. सत्यमेव जयते के बाद आमिर के शो मुमकिन है में सचिन तेंडुलकर ने पढ़ाई में खेल को शामिल करने का सुझाव दिया था. सरकार इस पर भी विचार कर रही है.

 

खेल मंत्री ने कहा है कि खेल में सब्जेक्ट हो. अलग से मार्किंग होनी चाहिए . आमिर खान को खेल की बात इसलिए करनी पड़ी क्योंकि सवा सौ करोड़ वाले इस देश की हालत खेलों में बहुच अच्छी नहीं है. क्रिकेट को छोड़कर बारी खेलों का हाल ठीक नहीं है.

 

ओलंपिक में देश को अब तक 6 गोल्ड समेत कुल 26 मेडल ही मिल सके हैं. एशियन गेम्स में देश को अब तक सिर्फ 135 गोल्ड मेडल ही मिले हैं. जबकि चीन ने अकेले ही इस साल के एशियन गेम्स में 151 गोल्ड जीते थे.

 

अभी खेल संस्थाओं के जो हालात हैं वो भी देखिए NCP नेता प्रफुल्ल पटेल फुटबॉल संघ के अध्यक्ष हैं. BSP नेता अखिलेश दास गुप्ता बैडमिंटन संघ के अध्यक्ष हैं.

BJP नेता ब्रज भूषण सरन रेसलिंग फेडेरेशन के अध्यक्ष हैं. BJP नेता विजय कुमार मल्होत्रा तीरंदाजी संघ के अध्यक्ष हैं. अकाली दल नेता परमिंदर सिंह ढींढसा साइकलिंग संघ के अध्यक्ष हैं.

 

साल 2011 तक तो हाल और भी बुरा था. बीजेपी नेता यशवंत सिन्हा 12 साल तक टेनिस एसोसिएशन के अध्यक्ष रहे. कांग्रेस नेता जगदीश टाइटलर 14 साल तक जूडो संघ के अध्यक्ष रहे. INLD नेता अभय चौटाला और अजय चौटाला बरसों तक बॉक्सिंग और टेबल टेनिस संघ पर कब्जा जमाए रहे. कांग्रेस नेता सुरेश कलमाडी 16 साल तक भारतीय ओलंपिक संघ के अध्यक्ष रहे. BJP नेता विजय कुमार मल्होत्रा 41 साल से तीरंदाजी संघ के अध्यक्ष हैं.

 

2011 में पूर्व खेल मंत्री अजय माकन खेल कोड लेकर आए थे तब अधिकतम 12 साल का कार्यकाल तय हुआ था. इसके बाद कई नेताओं की खुद ही खेल संघों से छुट्टी हो गई. लेकिन एक नेता गया तो दूसरा नेता आ गया.

 

अब देश में सबसे ज्यादा लोकप्रिय क्रिकेट का हाल भी देख लीजिए. ICC और BCCI के अध्यक्ष रह चुके NCP अध्यक्ष शरद पवार अभी मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष हैं. कांग्रेस नेता राजीव शुक्ल BCCI के उपाध्यक्ष हैं. BJP नेता अनुराग ठाकुर BCCI के संयुक्त सचिव हैं. नेशनल कॉन्फ्रेंस अध्यक्ष फारुख अब्दुल्ला जम्मू कश्मीर क्रिकेट एसोशिएशन के अध्यक्ष हैं. कांग्रेस नेता रंजीब बिश्वाल आईपीएल के चेयरमैन हैं.

 

साल 2013 में सुप्रीम कोर्ट भी कह चुका है कि खेल संस्थाओं को खिलाड़ी क्यों नहीं चला रहे. बाबजूद इसके देश के तमाम बड़े खेल संघ नेता और बड़े उद्योगपति ही चला रहे हैं. ऐसे में सवाल यही है कि आमिर खान की आवाज कितना असर डालेगी ?

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: aamir khan arise question on game organization
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017