DDCA पर जेटली को घेरने की तैयारी में 'आप', आज करेगी बड़ा खुलासा

By: | Last Updated: Thursday, 17 December 2015 8:36 AM
AAP Government claims the big exposer on ddca

नई दिल्ली: दिल्ली सचिवालय में सीबीआई के छापे के बाद दिल्ली और देश दोनों की सियासत में उबाल आ गया है. कल सीबीआई के छापे का मुद्दा संसद में भी सुनाई दिया. केजरीवाल सरकार जहां इस रेड को राजनीति से प्रेरित बता रही है तो केंद्र सरकार का कहना है कि सीबीआई स्वतंत्र है और यह छापा केजरीवाल के दफ्तर पर नहीं बल्कि उनके प्रधान सचिव राजेंद्र कुमार के दफ्तर पर था.

jaitley

केजरीवाल सरकार का आरोप है कि डीडीसीए से जुड़े घोटाले में उनकी सरकार जेटली के खिलाफ जांच कर रही है इसीलिए सीबीआई ने छापा मारा गया. सीबीआई के छापे के दौरान डीडीसीए से जुड़ी फाइलों को भी खंगाला गया.

केजरीवाल इसी से जुड़ा आज एक बड़ा खुलासा करने वाले हैं. केजरीवाल सरकार इन आरोपों को मजबूती देने के लिए बीजेपी सांसद कीर्ति आजाद के नाम का भी सहारा ले रही है. आजाद का कहना है कि डीडीसीए में जेचली के कार्यकाल के दौरान आर्थिक अनियमितताएं हुई हैं. हांलाकि आजाद का कहना है कि वह किसी पर व्यक्तिगत आरोप नहीं लगा रहे

क्या है जेटली और डीडीसीए कनेक्शन

  • आखिर केजरीवाल किस रिपोर्ट का ज़िक्र कर जेटली पर सवाल खड़े कर रहे हैं और किस मामले में कमीशन ऑफ़ इन्क्वारी बनाने की बात कर रहे हैं.
  • केजरीवाल सरकार ने 12 नवंबर को डीडीसीए में भ्रष्टाचार को लेकर एक 3 सदस्यीय कमिटी का गठन किया
    जिसने 17 नवंबर को अपनी रिपोर्ट सरकार को सौंपी.
  • 248 पन्नों की उस रिपोर्ट में कमिटी ने कहा कि डीडीसीए में पिछले एक दशक के दौरान करोडों का घोटाला हुआ है और इस मामले की जांच होनी चाहिए.
  • रिपोर्ट में कहा गया कि एक बड़ा घोटाला तब हुआ जब फ़िरोज़ शाह कोटला मैदान के रेनोवेशन का काम चल रहा था.
  • उस दौरान अलग अलग कंपनियों को कोटला में रेनोवेशन का काम सौंपा गया और ये काम करोड़ों का था.
  • करोड़ों रूपये के उस टेंडर को देते वक़्त लाखों करोड़ों का घोटाला हुआ है.
  • जो लोग घोटाले में शामिल थे उनके खिलाफ कार्रवाई तक नहीं हुई.
  • कमिटी ने अपनी रिपोर्ट में जिस दौरान डीडीसीए में घोटाले की बात की है उस दौरान देश के मौजूदा वित्त मंत्री अरुण जेटली डीडीसीए के अध्यक्ष थे.
  • अरुण जेटली दिसंबर 1999 से लेकर दिसंबर 2013 तक डीडीसीए के अध्यक्ष पद पर काबिज़ रहे.
  • फ़िरोज़ शाह कोटला मैदान के रेनोवशन का पूरा काम उस वक़्त में हुआ जब जेटली डीडीसीए अध्यक्ष थे.
  • कमिटी की रिपोर्ट में कहा गया है कि जिस काम पर डीडीसीए ने करोड़ों रूपये खर्च कर दिए उसका कम्पलीशन सर्टिफिकेट आज तक नहीं मिला है.

दिल्ली सरकार इसी आधार पर अरुण जेटली के ऊपर सीधे से घोटाले में शामिल होने का आरोप लगा रही है. केजरीवाल सरकार के सूत्रों की मानें तो जांच कमिटी की रिपोर्ट मिलने के बाद तय किया गया कि इस मामले की जांच के लिए कमीशन ऑफ़ इन्क्वारी गठित की जायेगी.

2015_12$img15_Dec_2015_PTI12_15_2015_000240B-compressed

कमीशन ये देखेगा कि डीडीसीए में हुए करोड़ों के घोटाले में कौन कौन शामिल है और क्या कार्रवाई की जा सकती है? इस मामले में उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कमीशन ऑफ़ इन्क्वारी गठित करने के लिए सीएम अरविंद केजरिवाल के पास फ़ाइल भी भेज दी थी और उस पर कार्रवाई भी शुरू हो चुकी थी. अब केजरीवाल सरकार आरोप लगा रही है कि सीबीआई ने छापेमारी के दौरान उस फ़ाइल को भी खंगाला और पढ़ा गया.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: AAP Government claims the big exposer on ddca
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017