अन्ना आंदोलन के दौरान किरन बेदी बीजेपी की एजेंट थीं: कुमार विश्वास

By: | Last Updated: Saturday, 24 January 2015 9:10 AM
aap kumar vishwas speaks against bjp’s kiran bedi

नई दिल्ली: जब से किरन बेदी बीजेपी से जुड़ी  हैं और दिल्ली विधानसभा चुनावों के लिए पार्टी की सीएम पद उम्मीदवार बनाई गईं तब से उनपर उनके पुराने साथियों का हमला थमने का नाम नहीं ले रहा है. ‘आप’ के संस्थापक सदस्य शांति भूषण ने कल किरन बेदी की तारीफ की थी. उसके बाद आम आदमी पार्टी अपने पूरे फॉर्म में आ गई है. एक जमाने में अन्ना आंदोलन में केजरीवाल, किरऩ बेदी ने साथ काम किया था. अब केजरीवाल की पार्टी के नेताओं ने खुलकर किरऩ बेदी को बीजेपी का एजेंट कहना शुरू कर दिया है.

 

कुमार विश्वास और मनीष  सिसौदिया ने कहा है कि उन्हें पहले से ही शक था कि किरन बेदी बीजेपी की करीबी हैं. एबीपी न्यूज़ से बातचीत में आम आदमी पार्टी के नेता कुमार विश्वास ने कहा, “कुछ ऐसे लोग थे जो चाहते थे कि बीजेपी पर हमला कम किया जाए, उनके भ्रष्टाचार को अभी छोड़ा जाए. लगातार आप (लोग) देखते रहे हैं कि अन्ना आंदोलन समाप्त होने के बाद किरन बेदी कहती रही हैं कि राजनीति में लेसर एविल (कम बुरा) को चुना जाता है.”

 

विश्वास ने पुरानी बातों को याद दिलाते हुए ये बताने की कोशिश की कि कैसे बीजेपी को लेकर बेदी का रवैया पहले से ही नर्म रहा है. उन्होंने कहा, “जब पार्टी बनी भी नहीं थी तब 2012 में एबीपी न्यूज़ को दिए गए एक इंटरव्यू में अरविंद से (बीजेपी के भ्रष्टाचार के बारे में) पूछा गया था, तब उन्होंने कहा था कि हमने किरन बेदी से बात की है पर वे चाहती हैं कि बीजेपी पर हमला नहीं किया जाए.”

विश्वास ने कोयला आंदोलन जैसे किसी आंदोलन का जिक्र करते हुए कहा, “जब कोयला आंदोलन हुआ था और हम सोनिया गांधी और मनमोहन सिंह के आवास पर गए थे, उसके बाद जब नितिन गड़करी के यहां जाना था तब किरन का आना तय था और अगले दिन वे नहीं आईं, उन्होंने कहा कि मैं यहां नहीं आउंगी, आपको जाना है तो चले जाइए.”

 

विश्वास ने आगे बताया कि ये तो बहुत सामान्य बात है और इसमें आश्चर्यचकित करने वाली कोई खास बात नहीं है. ये तो पूरे देश को तब भी पता था और अब भी पता है कि वो आंदोलन ‘इंडिया अगेंस्ट करप्शन’ था और आज भी वो उसे ‘इंडिया अगेंस्ट करप्शन’ ही बनाए रखना चाहते हैं.

 

राजनीतिक उठापटक के बीच उनका कहना है, “हम नहीं चाहते कि कुछ लोग उसका लाभ लेकर कांग्रेस के खिलाफ बोलकर बीजेपी ज्वाइन कर लें और बीजेपी के खिलाफ बोलकर कांग्रेस ज्वाइन कर लें और जिसकी सरकार आए उसमें चीफ मिनिस्टर बन जाएं.”

 

आपको बता दें कि किरन बेदी के चुनावी मैदान में उतरने से दिल्ली में मुकाबला दिलचस्प हो गया है. किरन बेदी बीजेपी के गढ़ कृष्णानगर सीट से चुनाव लड़ रही हैं. बीजेपी ने आम आदमी पार्टी से मुकाबला करने के लिए पूर्व ‘आप’ नेता शाजिया इल्मी और विनोद कुमार बिन्नी को भी अपने साथ ले लिया है.

 

सात फरवरी को दिल्ली में मतदान

आपको बता दें कि दिल्ली में 7 फरवरी को वोटिंग होगी तो 10 फरवरी को वोटों की गिनती होगी. साल 2013 में दिल्ली में हुए विधानसभा  चुनाव में बीजेपी को 32,आप को 28, कांग्रेस को आठ और अन्य के खाते में दो सीटें गई थीं. उस समय कांग्रेस के समर्थन से आप ने सरकार ने बनाई थी जो 49 दिनों तक चली और फिर दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लागू हो गया.

 

सबसे तेज चुनाव नतीजे जानने के लिए 10 फरवरी को एबीपी न्यूज़ देखें.

 

यह भी पढ़ें-

लालू ने लिया बीजेपी को निशाने पर, कहा- चौराहे पर खड़ा देश

ओबामा को रिसीव करने एयरपोर्ट जा सकते हैं पीएम, महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि देने ओबामा के साथ राजघाट भी जाएंगे 

चुनाव आयोग को केजरीवाल ने दिया जवाब, बिजली कंपनियों के साथ सतीश उपाध्याय की सांठगांठ के आरोपों पर अड़े 

दिल्ली चुनाव: रिक्शे पर किरन बेदी का प्रचार 

दिलीप कुमार, अमिताभ बच्चन, रजनीकांत समेत कई हस्तियों को मिलेगा पद्म सम्मान 

बराक ओबामा को पेश किया जाएगा दिल्ली के मशहूर पांडेय पान भंडार का पान, वाराणसी के कारीगर तैयार कर रहे हैं मिशेल के लिए बनारसी साड़ी 

हरियाणा: पहली बेटी के लिए ‘कन्या कोष’ पर विचार 

सिद्धिविनायक मंदिर की सुरक्षा बढ़ाई गई, मुंबई में चौकसी बढ़ी 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: aap kumar vishwas speaks against bjp’s kiran bedi
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017