ABP NEWS सर्वे: दिल्ली में सरकार बनाने के करीब आम आदमी पार्टी

By: | Last Updated: Tuesday, 3 February 2015 1:05 AM
aap may win delhi

नई दिल्ली: एबीपी न्यूज-नील्सन के सर्वे में अरविंद केजरीवाल अभी भी सबसे आगे हैं. दिल्ली में चुनावी पारा चढ़ता ही जा रहा है. चलिए हम आपको बताते हैं कि एबीपी न्यूज-नील्सन का सर्वे क्या कहता है. 7 फरवरी को वोटिंग है और 10 फरवरी को नतीजों का एलान लेकिन उससे पहले इन सवालों के जवाब के लिए एबीपी न्यूज और सर्वे एजेंसी नीलसन ने किया है दिल्ली का फाइनल ओपिनियन पोल.

 

किस दल को कितनी मिल सकती हैं सीटें ?

आम आदमी पार्टी पूर्ण बहुमत से महज एक सीट कम होती दिख रही है. आम आदमी पार्टी को 35 सीटें तो बीजेपी को 29 और कांग्रेस के हिस्से 6 सीटें आ सकती हैं.

 

मत प्रतिशत?

37 फीसदी लोग अभी आम आदमी पार्टी को पसंद कर रहे हैं. 33 फीसदी बीजेपी और 18 फीसदी कांग्रेस को अपना समर्थन दे रहे हैं.

 

अन्ना हजारे को किसने धोखा दिया ?

20 फीसदी केजरीवाल को, 18 फीसदी किरन बेदी को तो 23 दोनों ने मानते हैं.  26 फीसदी ने कहा कि किसी ने हजारे को धोखा नहीं दिया है.

 

मोदी सरकार का 8 महीने का काम कैसा रहा ?

25 फीसदी बहुत अच्छा बताया.  33 फीसदी ने अच्छा बताया.  27 फीसदी ने औसत तो 9 फीसदी ने खराब और 4 फीसदी ने बहुत खराब बताया.

 

क्या किरन बेदी केजरीवाल के साथ बहस से भाग रही हैं ?

42 फीसदी ने हां तो 42 फीसदी ने ही  ना कहा. 16 फीसदी ने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया.

 

किरन को केजरीवाल के खिलाफ चुनाव लड़ना चाहिए था?

41 फीसदी ने हां तो 43 फीसदी ने ना कहा. 16 फीसदी ने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया.

 

दिल्ली में सबसे लोकप्रिय नेता ?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता का ग्राफ गिर रहा है लेकिन अभी भी सबसे अधिक लोकप्रय हैं. नरेंद्र मोदी को 46 फीसदी तो अरविंद केजरीवाल को 43 फीसदी लोग पसंद कर रहे हैं. किरन बेदी को 6 और राहुल गांधी को पांच फीसदी लोग पसंद कर रहे हैं.

 

मुस्लिम मतदाताओं में किसकी कितनी लोकप्रियता?

21 फीसदी मुस्लिम मोदी को तो 65 फीसदी अरविंद केजरीवाल को पसंद कर रहे हैं. किरन बेदी को 2 तो राहुल गांधी को 11 फीसदी मुस्लिम मतदाता पंसद कर रहे हैं.

 

दिल्ली के लिए सवश्रेष्ठ मुख्यमंत्री कौन ?

अभी भी अरविंद केजरीवाल का पलड़ा सबसे भारी है. 48 फीसदी लोगों ने केजरीवाल को सबसे अच्छा बताया है. वहीं बीजेपी की सीएम उम्मीदवार किरन बेदी के पक्ष में 42 फीसदी लोग हैं. सात फीसदी लोगों की पसंद कांग्रेस के अजय माकन हैं.

 

किस दल के कैंपेन और वादे पर कितने लोगों को भरोसा?

आम आदमी पार्टी के कैंपेन और वादे पर 56 फीसदी लोगों को भरोसा है तो बीजेपी के वादे पर 52 फीसदी लोग भरोसा जता रहे हैं.

 

कितने लोग इस बार मतदान में हिस्सा लेंगे?

95 फीसदी लोगों ने मतदान करने को कहा. करीब पांच फिसदी लोग संशय में दिखे.

 

किस दल के साथ कितने ?

वर्तमान में 49 फीसदी लोग आम आदमी पार्टी का साथ देने की सोच रहे हैं तो 41 फीसदी बीजेपी के समर्थन में हैं. कांग्रेस के पक्ष में 8 फीसदी और अन्य के हिस्से दो फिसदी जा सकते हैं.

 

मुख्य मुद्दा ?

18 फीसदी कीमतों में बढ़ोत्तरी को रोकने, 18 फीसदी भ्रष्टाचार पर अंकुश, 16 फीसदी कानून व्यवस्था दुरूस्त, 14 फीसदी बिजली का रेट कम करने , 7 फीसदी महिला सुरक्षा के नाम पर किसी दल को मत देना चाहते हैं.

 

क्या किरन बेदी के आने से बीजेपी को फायदा हुआ?

40 फीसदी लोग बीजेपी को वोट देने की बात स्वीकार कर रहे हैं तो 37 फीसदी मत देने से मना कर रहे हैं. 10 फीसदी का कहना है कि अब वह बीजेपी को अपना वोट नहीं दे सकते हैं. जबकि सात फीसदी लोग संशय में हैं.

 

अभी चुनाव हो तो क्या होगा?

जिन लोगों ने 2013 में आम आदमी पार्टी को वोट दिया था उनमें से 90 फीसदी अभी भी आम आदमी पार्टी के साथ हैं, 9 फीसदी बीजेपी के साथ जा सकते हैं. आम आदमी पार्टी 12 फीसदी बीजेपी से और 17 फीसदी कांग्रेस से मत अपने पक्ष में ले सकती है.

 

जिन लोगों ने 2013 में बीजेपी को मत दिया था उनमें से 85 फीसदी अभी भी बीजेपी के साथ हैं, 9 फीसदी कांग्रेस के समर्थक बीजेपी के पक्ष में आ सकते हैं.

 

जिन लोगों ने 2013 में कांग्रेस को मतदान किया था उनमें से 73 फीसदी अभी भी कांग्रेस के साथ हैं.

 

किस उम्र के मतदाता किसके साथ?

 

18 से 23 के 58 फीसदी मतदाता आप के साथ तो 35 फीसदी बीजेपी और पांच फीसदी कांग्रेस के समर्थन में हैं.

 

24 से 35 के 50 फीसदी मतदाता आप के साथ तो 40 फीसदी बीजेपी और 7 फीसदी कांग्रेस के समर्थन में हैं.

 

36 से 45 के 47 फीसदी मतदाता आप के साथ तो 43 फीसदी बीजेपी और सात फीसदी कांग्रेस के समर्थन में हैं.

 

46 से 60 के 45 फीसदी मतदाता आप के साथ तो 43 फीसदी बीजेपी और 9 फीसदी कांग्रेस के समर्थन में हैं.

 

60 से अधिक उम्र के 41 फीसदी मतदाता आप के साथ तो 44 फीसदी बीजेपी और 12 फीसदी कांग्रेस के समर्थन में हैं.

 

क्षेत्र विशेष के मतदाता ?

झुग्गियों के 52 फीसदी मतदाता आप के साथ तो 39 फीसदी बीजेपी के समर्थन में हैं और 9 फीसदी कांग्रेस को पसंद कर रहे हैं. रेजिडेंस और अन्य जगहों में रहने वाले 48 फीसदी आप को तो 42 फीसदी बीजेपी और 6 फीसदी कांग्रेस के समर्थन में हैं.

 

मुस्लिम मतदाता किसके साथ?

66 फीसदी मुस्लिम मतदाता आम आदमी पार्टी के साथ तो 13 फीसदी बीजेपी के समर्थन में हैं. कांग्रेस को सिर्फ 8 फीसदी मुस्लिम पसंद कर रहे हैं.

 

पिछड़ी जातियों में किसको कितना ?

51 फीसदी पिछड़ी जातियां आप को तो 38 फीसदी बीजेपी और 19 फीसदी कांग्रेस को पसंद कर रही हैं. 44 फीसदी जनरल आप को तो 47 फीसदी बीजेपी को अपना समर्थन दे रहे हैं. कांग्रेस के हिस्से महज सात फीसदी लोग हैं.

 

कैसे हुआ सर्वे ?

दिल्ली में कुल 70 सीटें हैं. यह सर्वे 35 सीटों पर किया गया है. यह सर्वे 6,396 लोगों के साथ बातचीत पर आधारित है. 18 साल से उपर के रजिस्टर्ड मतदाताओं से ही प्रश्न पूछे गये हैं. यह सर्वे 25 जनवरी से 31 जनवरी 2015 तक की लोगों की राय पर आधारित है. ये सर्वे यूरोपियन सोसाइटी फॉर ओपिनियन एंड मार्केटिंग रिसर्च यानी ESOMAR के दिशानिर्देशों को पूरी तरह ध्यान में रखकर किया गया है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: aap may win delhi
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

गोरखपुर ट्रेजडी: राहुल ने की मृतक बच्चों के परिजनों से मुलाकात, BRD अस्पताल भी जाएंगे
गोरखपुर ट्रेजडी: राहुल ने की मृतक बच्चों के परिजनों से मुलाकात, BRD अस्पताल भी...

गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में पिछले दिनों बीआरडी अस्पताल में हुई बच्चों की मौत से मचे...

बड़ी खबर: जल्द बीजेपी में शामिल हो सकते हैं कांग्रेस के बड़े नेता नारायण राणे
बड़ी खबर: जल्द बीजेपी में शामिल हो सकते हैं कांग्रेस के बड़े नेता नारायण...

मुंबई: महाराष्ट्र की राजनीति में एक बड़ा भूकंप आने की तैयारी में है. महाराष्ट्र में कांग्रेस...

JDU की बैठक में बड़ा फैसला, चार साल बाद फिर NDA में शामिल हुई नीतीश की पार्टी
JDU की बैठक में बड़ा फैसला, चार साल बाद फिर NDA में शामिल हुई नीतीश की पार्टी

पटना: बिहार की राजनीति में आज का दिन बेहद अहम माना जा रहा है. पटना में नीतीश की पार्टी की जेडीयू...

यूपी: मदरसों को लेकर योगी सरकार का दूसरा बड़ा फैसला, अब जरुरी होगा रजिस्ट्रेशन
यूपी: मदरसों को लेकर योगी सरकार का दूसरा बड़ा फैसला, अब जरुरी होगा...

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने एक अहम फैसले के तहत शुक्रवार से प्रदेश के सभी...

बाढ़ का कहर जारी: बिहार में अबतक 153  तो असम में 140 से ज्यादा की मौत
बाढ़ का कहर जारी: बिहार में अबतक 153 तो असम में 140 से ज्यादा की मौत

पटना/गुवाहाटी: बाढ़ ने देश के कई राज्यों में अपना कहर बरपा रखा है. बाढ़ से सबसे ज्यादा बर्बादी...

CM योगी का राहुल गांधी पर निशाना, बोले- 'गोरखपुर को पिकनिक स्पॉट न बनाएं'
CM योगी का राहुल गांधी पर निशाना, बोले- 'गोरखपुर को पिकनिक स्पॉट न बनाएं'

गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज स्वच्छ यूपी-स्वस्थ...

नेपाल, भारत और बांग्लादेश में बाढ़ से ‘डेढ़ करोड़’ से अधिक लोग प्रभावित: रेड क्रॉस
नेपाल, भारत और बांग्लादेश में बाढ़ से ‘डेढ़ करोड़’ से अधिक लोग प्रभावित: रेड...

जिनेवा: आईएफआरसी यानी   ‘इंटरनेशनल फेडरेशन आफ रेड क्रॉस एंड रेड क्रीसेंट सोसाइटीज’ ने...

‘डोकलाम’ पर जापान ने किया था भारत का समर्थन, चीन ने लगाई फटकार
‘डोकलाम’ पर जापान ने किया था भारत का समर्थन, चीन ने लगाई फटकार

बीजिंग:  चीन ने शुक्रवार को जापान को फटकार लगाते हुए कहा कि वह चीन, भारत सीमा विवाद पर ‘बिना...

यूपी: मथुरा में कर्जमाफी के लिए घूस लेता लेखपाल कैमरे में कैद, सस्पेंड
यूपी: मथुरा में कर्जमाफी के लिए घूस लेता लेखपाल कैमरे में कैद, सस्पेंड

मथुरा: योगी सरकार ने साढ़े 7 हजार किसानों को बड़ी राहत देते हुए उनका कर्जमाफ किया है. सीएम योगी...

बिहार: सृजन घोटाले में बड़ा खुलासा, सामाजिक कार्यकर्ता का दावा- ‘नीतीश को सब पता था’
बिहार: सृजन घोटाले में बड़ा खुलासा, सामाजिक कार्यकर्ता का दावा- ‘नीतीश को सब...

पटना:  बिहार में सबसे बड़ा घोटाला करने वाले सृजन एनजीओ में मोटा पैसा गैरकानूनी तरीके से सरकारी...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017