दिल्ली के बाहर विधानसभा चुनावों में हिस्सा नहीं लेगी आप: केजरीवाल

By: | Last Updated: Sunday, 27 July 2014 3:03 PM
aap_will_not_contest_other_assembly_election_except_delhi

नई दिल्ली: दिल्ली में 49 दिन की सरकार चलाने वाली आम आदमी पार्टी ने लोकसभा चुनाव में पार्टी को मिली करारी हार से सबक सीखते हुए फैसला लिया है कि पार्टी दिल्ली के बाहर होने वाले विधानसभा चुनाव में हिस्सा नहीं लेगी.

 

हालाकि पंजाब में अगले महीने होने वाले विधानसभा उप-चुनाव में आम आदमी पार्टी मात्र दो सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़े करेगी. लोकसभा चुनावों में पार्टी को सिर्फ इसी प्रदेश में सीटें मिली थी.

 

पार्टी की संगरुर (पंजाब) में तीन दिन तक चली राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के बाद पार्टी संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा- “आम आदमी पार्टी अगले साल हरियाणा, जम्मू-कश्मीर और महाराष्ट्र में होने वाले विधानसभा चुनावों में हिस्सा नहीं लेगी. पार्टी सिर्फ दिल्ली विधानसभा चुनावों में अपना ध्यान केंद्रित करना चाहती है.”

 

पंजाब में जिन प्रत्याशियों के नाम सामने आ रहे हैं उनमें बालकर सिंह सिद्धू और हरजीत सिंह अदालतिवाला शामिल है जो अमृतसर और तलवंडी साबो सीट से चुनाव लड़ेंगे. ये दोनों ही सीट इन दिनों खाली हैं इस सीट पर कांग्रेस के कैप्टन अमरिंदर सिंह और जीत मोहिंदर सिंह सिद्धू विधायक थे और दोनों ने ही अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. जहां कैप्टन अमरिंदर सिंह बीजेपी नेता अरुण जेटली को हरा कर अमृतसर सीट से सांसद हैं तो वहीं  मोहिंदर सिंह सिद्धू  कांग्रेस से इस्तीफा दे कर सत्ताधारी शिरोमणि अकाली दल का हिस्सा बन चुके हैं.

 

117 सीटों वाली पंजाब विधानसभा में अभी 57 विधायक शिरोमणि अकाली दल , 43 कांग्रेस , 12 बीजेपी और तीन निर्दलीय विधायक हैं.

 

लोकसभा चुनाव में आमआदमी पार्टी को पंजाब में काफी अच्छी प्रतिक्रिया मिली थी पार्टी ने यहां चार सीटों पर जीत हासिल की थी.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: aap_will_not_contest_other_assembly_election_except_delhi
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ?? ????? ????????
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017