दिल्ली सरकार की उपलब्धियों के सहारे उपचुनाव पर ‘आप’ की नजर-AAP's eyes on the byelection of Delhi

दिल्ली सरकार की उपलब्धियों के सहारे उपचुनाव पर ‘AAP’ की नजर

आम आदमी पार्टी ने 11 फरवरी को पार्टी ने दिल्ली के सभी 70 विधानसभा क्षेत्रों में विकासयात्रा निकाल कर तीन साल की उपलब्धियों को जनता के बीच पेश करने का सिलसिला शुरू कर दिया.

By: | Updated: 14 Feb 2018 09:13 PM
AAP’s eyes on the byelection of Delhi

नई दिल्ली: दिल्ली में सत्तारुढ़ आम आदमी पार्टी की सरकार का तीन साल पूरा हो चुका है. ऐसे में आम आदमी पार्टी, सरकार की उपलब्धियों को बेमिसाल बता रही है और विधानसभा की 20 सीटों पर संभावित चुनाव में भुनाने की तैयारी कर रही है. 11 फरवरी को पार्टी ने दिल्ली के सभी 70 विधानसभा क्षेत्रों में विकासयात्रा निकाल कर तीन साल की उपलब्धियों को जनता के बीच पेश करने का सिलसिला शुरू कर दिया है.


उपचुनाव की संभावना से संजय सिंह ने किया इंकार


उपचुनाव की संभावित अनिवार्यता के मद्देनजर ‘आप’ केजरीवाल सरकार की उपलब्धियों को दिल्ली की जनता के बीच ले जाने का अभियान चलाएगी. आप के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने उपचुनाव की संभावना से इंकार करते हुए कहा कि केजरीवाल सरकार की उपलब्धियां बेमिसाल हैं इसलिए इन्हें जनता के बीच ले जाना पार्टी की जिम्मेदारी है. उन्होंने कहा कि नागरिक सुविधाओं को बेहतर बनाने के लिये सरकार के कामों की जानकारी पार्टी के जरिए जनता को देना ‘प्रचार करना’ नहीं बल्कि लोगों को जागरुक करना है. इसे राजनीतिक नफा नुकसान के नजरिये से नहीं देखना चाहिए.


‘‘अभी देखा है तीन साल अब देखेंगे पांच साल...केजरीवाल’’


आप ने साल 2015 में पार्टी की ऐतिहासिक जीत से जुड़े प्रचार गीत ‘‘पांच साल केजरीवाल’’ को नये कलेवर में तैयार कर इसे सरकार की उपलब्धियों के प्रचार का माध्यम बनाया है. पांच साल केजरीवाल की तर्ज पर आप नेता दिलीप पांडे की लिखित गीत के बोल हैं ‘‘अभी देखा है तीन साल अब देखेंगे पांच साल.. केजरीवाल.’’ सरकार की तीन साल की अहम उपलब्धियों के जिक्र वाले लगभग डेढ़ मिनट के इस गीत को बुद्धवार को आधिकारिक तौर पर रिलीज किया गया है. इस गीत को पहले सोशल मीडिया पर लोकप्रिय बनाया जायेगा. इसके बाद इसे सभी 70 विधानसभा क्षेत्रों में पार्टी की जिला इकाइयां प्रचार का माध्यम बनाएंगी. पार्टी सूत्रों के अनुसार शिक्षा, स्वास्थ्य और विकास कार्यों से जुड़ी सरकार की उपलब्धियों को उपचुनाव वाले 20 विधानसभा क्षेत्रों पर केन्द्रित किया जायेगा.


मुहल्ला क्लीनिक, स्कूल और सड़कें मुख्य मुद्दे: संजय सिंह


पार्टी की दिल्ली इकाई के प्रभारी गोपाल राय की निगरानी में इस बाबत बनायी गयी रणनीति को अंजाम दिया जा रहा है. इसके तहत पार्टी की कमजोर कड़ी बन चुके कुमार विश्वास और कपिल मिश्रा प्रकरण के अलावा राज्यसभा की सीटों के टिकटों की बिक्री के आरोपों को सरकार की उपलब्धियों के साये में जनता के सोंच से बाहर रखने की तैयारी है. सिंह ने कहा कि दिल्ली सरकार के अस्पताल हों या मुहल्ला क्लीनिक या फिर स्कूल और सड़कें, ये सब देश के बाहर भी चर्चा के विषय बन गये हैं. उन्होंने कहा ‘‘तमाम बाधाओं के बावजूद हासिल हुई इन उपलब्धियों को कोई भी सरकार जनता के बीच ले जाना चाहेगी.’’


संजय सिंह ने पार्टी में आंतरिक लोकतंत्र के संकट का सवाल उठाने वाले कुमार विश्वास और कपिल मिश्रा प्रकरण को राजनीतिक मुद्दा बातया है. साथ ही दिल्ली सरकार के मंत्री सत्येन्द्र जैन के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामले में सीबीआई जांच और राज्यसभा चुनाव में टिकटों की बिक्री के आरोपों को सिंह ने नकारते हुए कहा कि ये आरोप राजनीतिक उतार चढ़ाव मात्र हैं.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: AAP’s eyes on the byelection of Delhi
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story ममता सरकार की बड़ी कार्रवाई, सिलेबस पर सवाल उठाकर RSS के 125 स्कूल बंद किए