ABP-नील्सन सर्वे: दिल्ली में बीजेपी बनेगी सबसे बड़ी पार्टी

By: | Last Updated: Thursday, 5 September 2013 8:58 AM

ABP न्यूज-नील्सन सर्वे
के मुताबिक इस बार दिल्ली
विधानसभा चुनाव में मतदाता
कांग्रेस को जोर का झटका देने
का मन बना चुके हैं. मतदाताओं
का मूड इस बार बीजेपी को सबसे
ज्यादा सीटें दिलाने के साथ
उसे दिल्ली में सरकार बनाने
का मौका देने का नजर आ रहा है.

ABP न्यूज-नील्सन सर्वे के
मुताबिक इस बार विधानसभा
चुनाव में बीजेपी को सबसे
ज्यादा 32 सीटें मिलने की
संभावना है, कांग्रेस के
हिस्से में इस बार केवल 27
सीटें ही आती नजर आ रहीं हैं,
जबकि आम आदमी पार्टी दिल्ली
विधानसभा में 8 सीटों के साथ
राजनीति में अपनी तेज-तर्रार
मौजूदगी दर्ज करा सकती है.

इसके अलावा बीएसपी को दो और
अन्य को केवल एक सीट मिलने की
गुंजाइश नजर आ रही है. खास बात
ये कि दिल्ली में सरकार बनाने
के मामले में अरविंद
केजरीवाल इस बार किंग मेकर की
भूमिका में नजर आ सकते हैं.

इस साल के अंत में होने जा रहे
दिल्ली विधानसभा के चुनाव
में बीजेपी इस तस्वीर को बदल
सकती है, बशर्ते आम आदमी
पार्टी उसकी प्रतिद्वंदी न
रहे. अगर राजनीति की बिसात
कुछ इस तरह सज जाए तो
कांग्रेस को सीधे-सीधे 15
प्रतिशत मतदाताओं से हाथ
धोना पड़ सकता है और
बीजेपी-आप दिल्ली में सरकार
बनाने के लिए पूर्ण बहुमत
हासिल कर सकती है.

ABP न्यूज-नील्सन सर्वे से पता
चला है कि अरविंद केजरीवाल की
मुहिम के बावजूद बीजेपी का
मतदाता उससे दूर नहीं हुआ है.

http://www.youtube.com/watch?v=Xy2rTvCSGeU

ABP न्यूज-नील्सन की टीम्स ने
दिल्ली विधानसभा चुनाव के
मद्देनजर मतदाताओं की राय
जानने के लिए उनसे 14 से 20 अगस्त
2013 के दौरान मुलाकात की. हमारे
इस सर्वे में वोटर लिस्ट में
शामिल 18 साल और इससे ज्यादा की
उम्र वाले, समाज के अलग-अलग
वर्गों से विभिन्न
आयुवर्गों वाले महिला-पुरुष
कुल 7084 मतदाताओं से बात की गई.
सर्वे से जो बात उभर कर सामने
आई वो ये कि लगातार
भ्रष्टाचार और बेलगाम
महंगाई से लोगों के बीच
कांग्रेस की छवि को गहरा
धक्का लगा है.

आगामी विधानसभा चुनावों में
भ्रष्टाचार, महंगाई और
बेरोजगारी राजनीतिक दलों के
एजेंडे में प्रमुख मुद्दों
के तौर पर शामिल रहेंगे. आम
मतदाताओं का मानना है कि आम
आदमी पार्टी भ्रष्टाचार पर
काबू पा सकती है, जबकि बीजेपी
के बारे में धारणा है कि वो
कमरतोड़ महंगाई से राहत दिला
सकती है. इतना ही नहीं, ऐसे भी
संकेत हैं कि महंगाई और
भ्रष्टाचार के चलते
कांग्रेस के परंपरागत
मतदाताओं का एक बड़ा वर्ग के
उससे मुंह मोड़ सकता है.

सर्वे के मुताबिक 36 प्रतिशत
मतदाता महंगाई से राहत न
मिलने के कारण और 28 प्रतिशत
मतदाता बेलगाम भ्रष्टाचार
के कारण कांग्रेस को छोड़कर
बीजेपी का समर्थन कर सकते
हैं.  

आम आदमी पार्टी को भी
कांग्रेस के मतदाताओं का
समर्थन कुछ इसी तरह मिल सकता
है. ABP न्यूज-नील्सन सर्वे के
मुताबिक बढ़ती महंगाई के
सामने बेबस साबित होने के
कारण 26 प्रतिशत और बेकाबू
भ्रष्टाचार के कारण 25
प्रतिशत मतदाता कांग्रेस का
साथ छोड़कर आम आदमी पार्टी का
दामन थाम सकते हैं.

बीजेपी बेदाग छवि वाले
विश्वसनीय नेता के मुद्दे का
सामना कर रही है. बीजेपी अगर
लीडरशिप के इस मुद्दे का
समाधान जल्दी नहीं करती तो
दिल्ली विधानसभा चुनाव में 28
प्रतिशत मतदाता बीजेपी को
छोड़कर आम आदमी पार्टी का
समर्थन कर सकते हैं.

नौजवानों को खुद से जोड़ने
में कांग्रेस पूरी तरह से
नाकाम नजर आ रही है.ABP
न्यूज-नील्सन सर्वे के
मुताबिक कांग्रेस पहली बार
वोट डालने जा रहे 18 साल के
नवयुवकों को भी लुभाने में
नाकाम रही है.

दिल्ली की मौजूदा शीला सरकार
के प्रति सबसे ज्यादा गुस्सा
भी इसी 18 साल की आयुवर्ग वाले
मतदाताओं में है. हमारे सर्वे
में शामिल 18 से 23 साल की
आयुवर्ग वाले 42 प्रतिशत
मतदाताओं ने कांग्रेस के
प्रति अपनी नाराजगी का खुलकर
इजहार किया. इस आयुवर्ग के
नौजवान मतदाताओं की शिकायत
है कि जिंदगी उनके लिए बहुत
मुश्किल बन गई है. मतदाताओं
का ये वर्ग सभी प्रमुख
मुद्दों पर सरकार को सबक
सिखाने के लिए तैयार बैठा है.

मतदाताओं की नजर में सभी
संवेदनशील मामलों में
दिल्ली की मौजूदा सरकार का
प्रदर्शन बहुत ही खराब रहा
है. लड़कियों और महिलाओं के
कल्याण की तमाम योजनाओं पर
हुआ काम, राजधानी की घटिया
कानून-व्यवस्था और
लड़कियों-महिलाओं सुरक्षा न
दिला पाने के चलते बेमानी
साबित हो सकता है. इसके साथ ही
बढ़ती बेराजगारी और गरीबी के
मोर्चे पर भी सरकार कुछ खास
हासिल नहीं कर सकी.

दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला
दीक्षित के लिए दिल्ली
विधानसभा चुनाव सबसे बड़ा
इम्तहान साबित हो सकता
है.घटिया प्रदर्शन और कमजोर
कामकाज के चलते दिल्ली के
मतदाताओं ने मुख्यमंत्री
शीला दीक्षित को बेहद कम अंक
मात्र 2.62 ही दिए हैं.ABP
न्यूज-नील्सन सर्वे के
मुताबिक दिल्ली और आसपास के 66
प्रतिशत मतदाता दिल्ली की
सत्ता पर कांग्रेस को एक बार
फिर मौका देने के मूड में
नहीं हैं. अगर नौजवानों की
बात करें तो 18-23 साल के आयुवर्ग
वाले 74 प्रतिशत युवा मतदाता
कांग्रेस से बहुत ज्यादा
नाराज हैं और सरकार को सबक
सिखाने के मूड में नजर आ रहे
हैं.

http://www.youtube.com/watch?v=tcx3FcqLar4

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ABP-नील्सन सर्वे: दिल्ली में बीजेपी बनेगी सबसे बड़ी पार्टी
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017