ABP न्यूज़ स्पेशल: क्या है आसाराम की बेटी भारती का सच?

By: | Last Updated: Wednesday, 9 October 2013 11:04 AM
ABP न्यूज़ स्पेशल: क्या है आसाराम की बेटी भारती का सच?

नई दिल्ली: यौन
उत्पीड़न के आरोप में घिरे
आसाराम जोधपुर की जेल में
हैं. बेटा नारायण साईं गायब
है. आसाराम के कुनबे के दूसरे
सदस्य भी विवाद के घेरे में
हैं. इनमें से ही एक हैं
आसाराम की बेटी और नारायण
साईं की सगी बहन भारती
जिन्हें श्री भारती श्रीजी
के नाम से जाना जाता है.

श्री भारती श्री जी भी प्रवचन
करती हैं दर्शन देती हैं और
अब उनपर भी आरोप है कि जिस
आरोप के दायरे में उनके पिता
और भाई आ चुके हैं उसमें उनकी
अहम भूमिका रही है.

भारती के प्रवचन का अंदाज़
काफी नीराला है. वह अपनी मीठी
आवाज़ और अंदाज़-ए-बयान के
खास तरीके से भक्तों को मोह
लेती है. सुरीली आवाज़ में 
उसका भजन गाना भक्तों को
भक्ति भाव में सराबोर कर देती
है.

कौन हैं ये भारती?

अगर आप पिता आसाराम और बेटे
नारायण साईं के कुनबे के बारे
में नहीं जानते तो आप इनके
बारे में भी नहीं जानते
होंगे, लेकिन अब भारती की
कहानी एक चौंका देने वाले
आरोप की शक्ल में सामने आई है.

आसाराम और नारायण साईं पर रेप
का आरोप लगाने वाली सूरत की
दो बहनों में से छोटी बहन ने
आसाराम की बेटी और नारायण
साईं की सगी बहन भारती पर ये
इल्जाम लगाए हैं कि आसाराम तक
लड़की पहुंचाने में उसका अहम
रोल होता था.

भारती यौन उत्पीड़न के आरोप
में जेल में बंद आसाराम की
बेटी हैं और यही भारती आसाराम
के बेटे नारायण साईं की सगी
बहन हैं. इन्हें राखी बांधते
भी देखा जा सकता है.

बेटे नारायण साईं की तरह ही
बेटी भारती भी आसाराम के
भक्ति के बड़े कारोबार का एक
बड़ा हिस्सा है और बाकायदा
दीक्षा लेने के बाद
भारतीश्रीजी के नाम से
देश-विदेश में प्रवचन करती
हैं. भारती की आधिकारिक
वेबसाइट श्रीभारतीश्रीजी
डॉट कॉम पर इनकी दिव्य
शक्तियों की खूब चर्चा है.

वेबसाइट पर लिखा है कि इनके
ज्ञान की दिव्य वाणी से
सदियों से ज्ञान की निद्रा
में सोया हुआ जीव ज्ञान की
करवट लेने लगता है.

भारती की आधिकारिक वेबसाइट
पर भारती का जो जीवन परिचय
दिया गया है उसके मुताबिक
बचपन से ही भारती में दिव्य
शक्तियों थीं जैसे खेल के
दौरान बारिश रोक देना, सात
मिनट तक सांस ना लेना, घंटों
तक समाधि लगाना और देवी
देवताओं के साक्षात दर्शन
करना.

आसाराम के भक्त भारती के दावे
पर भरोसा करते गए और भारती का
दरबार बड़ा होता गया. 15
दिसंबर, 1975 को आसाराम के
परिवार में जन्मी भारती की
वेबसाइट पर उनकी जिंदगी की जो
कहानी दर्ज है उसके मुताबिक
भारती ने 12 साल की उम्र में
गुरुजी से दीक्षा ली. अगले 14
साल तक ध्यान और योग में
बिताए और फिर शुरू कर दिया
अपने पिता आसाराम और नारायण
साईं की तरह भक्तों का दरबार.

http://www.youtube.com/watch?v=RO-vTnlSAm4

कैसे बनी प्रेरणामूर्ति

भारती के बचपन का नाम था
भारतीबेन लेकिन आसाराम के
भक्त उन्हें बाद में भगवान
कहने लगे और अब पोस्टरों और
प्रचार में उन्हें
प्रेरणामूर्ति श्री भारती
श्री जी के नाम से जाना जाता
है.

आसाराम से अलग भारती मीडिया
से दूर ही रहती थीं लेकिन
भक्ति का साम्राज्य खड़ा
करने के लिए उन्होंने 2004 में
महिला भक्तों को प्रवचन देने
शुरु कर दिए.

भारती को आसाराम के भक्ति
बड़े साम्राज्य का अहम
हिस्सा माना जाता है लेकिन
भारती के भारती श्रीजी बनने
की कहानी बेहद उतार चढ़ाव भरी
है.

आसाराम के परिवार में जन्मी
भारती ने भक्ति का पाठ ही
नहीं पढ़ा बल्कि उनकी
वेबसाइट के मुताबिक एम कॉम की
डिग्री भी की. एबीपी न्यूज को
अपनी पड़ताल में पता चला कि
भारती अहमदाबाद में एक स्कूल
चलाती हैं और आश्रम में ना
रहकर एक भव्य बंगले में रहती
हैं.

सिर्फ प्रवचन ही नहीं भारती
की वेबसाइट पर उनकी संस्था
लक्ष प्रेरणा डिवाइन
फाउंडेशन का भी जिक्र है
जिसके जरिए सामाजिक कामों
में भी हिस्सा लेती हैं. चाहे
भंडारा हो या फिर गौ सेवा.

प्यार और शादी

प्रवचन और सामाजिक कार्यों
की दुनिया में आने से पहले
भारती की शादी हुई थी. आसाराम
ने अपने एक भक्त परिवार के
हाथ दिया था अपनी बेटी का हाथ.
राम बोलानी और सरिता बोलानी
के बेटे हेमंत से 1997 में भारती
की शादी हुई थी.

शादी के बाद मिसेज भारती
बोलानी बन चुकीं भारती बाद
में भारतीश्रीजी ना बनतीं
अगर आसाराम ने अपने समधी के
परिवार में कम दखल देते.

आसराम की समधन पर जब पड़ी
निगाहें

बोलानी परिवार में आसाराम का
दखल बढ़ता गया और भारती और
हेमंत के रिश्ते बिगड़ते गए.
कहा तो यहां तक गया कि आसाराम
की बुरी निगाहें अपनी समधन पर
भी पड़ गईं थीं.

आखिरकार तीन साल के बाद भारती
और हेमंत का तलाक हो गया.
हेमंत एक होनहार छात्र थे और
डॉक्टरी की पढ़ाई की थी. तलाक
के बाद हेमंत का परिवार
अमेरिका चला गया और हेमंत
बारबडोस में रह रहे हैं.
भारती की भी दुनिया बदल गई.

आसाराम के एक पुराने सेवादार
अमृत प्रजापति का दावा है कि
भारती को आसाराम के एक
ड्राइवर से मुहब्बत हो गई थी..
इससे भी भारती का रिश्ता
टूटा.

भारती के सामने रास्ता क्या
था?

भारती के सामने भक्तों की इस
दुनिया के सिवा और कोई विकल्प
था भी नहीं.

भारती को अपने पति से अलग
होना पड़ा लेकिन पिता आसाराम
का साथ भी नहीं मिला. आसाराम
ने पहले भारती को महिला
आश्रमों की कमान सौंपी थी
लेकिन बाद में अपनी ही एक
करीबी शिष्या ध्रुव को महिला
आश्रम से जुड़े मामलों में
ज्यादा अहमियत देने लगे.

सूत्रों के मुताबिक आसाराम
फूट डालो और राजनीति करो की
नीति अपने परिवार में भी
अपनाते रहे.

आसाराम पर लगे आरोपों के
मुताबिक ढेल और बंगलो उर्फ
निर्मला नाम की दो शिष्याएं
भारती के पिता आसाराम का साथ
दिया करती थीं.

सूत्रों के मुताबिक उनको
आसाराम ने सत्संग के दौरान
उनके लिए लड़कियां चुनने काम
दिया था. बेटी भारती और पत्नी
लक्ष्मी को भी आसाराम के
पैसे, रसूख और ताकत की जरूरत
थी. ऐसे में चाहे अनचाहे वो भी
इसका हिस्सा बनती चली गईं.

भारती की छवि भी अब ऐसे
आरोपों से खराब हो चुकी है.
सूरत की बहनों ने आरोप लगाया
है कि ध्रुव और भारती की मां
लक्ष्मी लड़कियों को आसाराम
के फार्महाउस शांति वाटिका
पहुंचाने का काम भारती के
जरिए भिजवाया करती थीं.

आसाराम की शिष्या ध्रुव और
आसाराम की बेटी भारती के
रिश्ते भी आपस में ठीक नहीं
थे. यहां तक कि भाई नारायण
साईं से भी बेटी भारती की
नहीं पटती.

नजदीकी सूत्र बताते हैं कि
अपने परिवार और आसपास आसाराम
का राज फूट डालो और राज करो की
नीति पर ही चलता रहा है.

पिता आसाराम और भाई नारायण
साईं पर यौन उत्पीड़न और रेप
जैसे गंदे आरोप लगने के बाद
भारती की भूमिका पर भी
उंगलियां उठी हैं फिलहाल ये
रिपोर्ट पेश किए जाने तक
आरोपों पर भारती की कोई
प्रतिक्रिया नहीं आई है. 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ABP न्यूज़ स्पेशल: क्या है आसाराम की बेटी भारती का सच?
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017