सरकार ने संसद में की अपील- भूकंप को लेकर सोशल मीडिया पर चल रही अफवाहों पर ध्यान न दें

By: | Last Updated: Monday, 27 April 2015 6:30 AM
ABP NEWS APPEAL

नई दिल्ली: भूकंप ने नेपाल को बर्बाद कर दिया है. उत्तर भारत में भी नुकसान हुआ है.  अब तक साठ से ज्यादा झटके आ चुके हैं. लेकिन इन सबसे बीच लोगों को जो बातें परेशान कर रही हैं वो हैं झूठी खबरें . सोशल मीड़िया और व्हाटसप के जरिये भूकंप की भविष्यवाणी की गलत खबरें फैलाई जा रही है. संसद में सरकार ने भी कहा है कि इस पर लोग ध्यान न दें. एबीपी न्यूज भी अपील करता है कि इस माहौल में अफवाह से बचें और सावधानी बरतें.

शनिवार को आए भूकंप ने नेपाल सहित पूरे उत्तर भारत को हिला दिया. हाल ये है कि अब भी लोग भूकंप की आशंका से सहमे हुए हैं. जान बचाने के लिए रात भर जाग जागकर लोग यूं ही सड़कों पर ही रात बीता रहे हैं. भूकंप के बाद अब देश में अफवाहों ने लोगों को परेशान कर रखा है. सोशल मीडिया के जरिये लोगों तक तरह तरह की अफवाहें पहुंच रही है. इससे न सिर्फ जनता परेशान है बल्कि सरकार की परेशानी भी बढ़ गई है.

 

सोशल मीडिया में खासतौर पर व्हाट्स एप्प पर मनगढंत खबरें बनाकर भेजी जा रही हैं. जिसे लोग दूसरे ग्रुप या दोस्तों-शुभचिंतकों तक भेज दे रहे हैं और यही संदेश लोगों को इस माहौल में परेशान कर रही है. मौसम विभाग भी लगातार ये साफ कर रहा है कि भूकंप की भविष्यवाणी नहीं की जा सकती.

 

भूकंप की भविष्यवाणी नहीं की जा सकती- मौसम विभाग

मौसम विभाग के डीजी एलएस राठौर ने कहा है, “लोग सोशल मीडिया पर अफवाहें फैला रहे हैं ये अच्छी बात नहीं है. मैं लोगों से अपील करता हूं कि ऐसी अफवाहें न फैलाएं. इन अफवाहों का कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है. भूकंप की भविष्यवाणी नहीं की जा सकती है. एक बार जब बड़े तीव्रता का भूकंप आ जाता है तो फिर उससे बड़े का नहीं आता..छोटे का आ सकता है. अब ये तीन औऱ चार के बीच आ चुके हैं. अफवाहों के लिए कोई स्थान नहीं है.”

 

राठौर का कहना है, “अगर आपके पास मैसेज आता है और आप आगे फॉरवर्ड कर रहे हैं तो आप भी उतने ही दोषी हैं.”

 

सरकार ने की लोगों से अपील-

राज्यसभा में आज विभिन्न दलों के सदस्यों ने भूकंप से नेपाल एवं भारत के कई राज्यों में हुए जानमाल के भारी नुकसान पर शोक जताया और सरकार से आपदा प्रबंधन की तैयारियों को मजबूत करने का सुझाव दिया.

 

इसके साथ ही सरकार ने पड़ोसी देश को सभी प्रकार की मदद देने की प्रतिबद्धता जतायी और कहा कि हम संकट की इस घडी में नेपाल के साथ हैं. प्रसाद ने कहा कि सोशल मीडिया पर कई तरह की टिप्पणियां आती हैं कि इस समय भूकंप आएगा. उन्होंने लोगों से संयम बरतने तथा सोशल मीडिया पर अफवाह नहीं फैलाने की अपील की. उन्होंने लोगों से कहा कि वे ऐसे अफवाहों पर ध्यान नहीं दें. उन्होंने कहा कि अगर सरकार के पास किसी प्राकृतिक आपदा के बारे में कोई सूचना होगी तो वह उचित कदम उठाएगी.

 

संसदीय कार्य राज्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि इस संबंध में देश को किसी भी तरह से घबराने की जरूरत नहीं है. उन्होंने कहा कि अधिकृत जानकारी होने पर सरकार की ओर से उचित कदम उठाए जाएंगे. उपसभापति पी जे कुरियन ने भी अफवाहों को गंभीर मुद्दा बताते हुए लोगों से सोशन मीडिया पर फैलाए जा रहे संदेशों पर ध्यान नहीं देने को कहा.

 

उल्टा चांद चलने की अफवाह से दहशत में लोग

आपका बता दें कि रविवार रात लोग उस समय दहशत में आ गए जब चांद के उल्टा चलने की खबर चारों तरफ आग की तरह फैल गई.  सोशल मीडिया के जरिय़े खबर फैलाई जा रही है कि आज चांद उल्टा और अजीब तरह का दिख रहा है .

 

ये मैसेज अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा के हवाले से भेजे जा  रहे हैं जबकि हम आपको बता दें कि नासा, इसरो या विज्ञान के पास ऐसी कोई तकनीक नहीं है जो भूकंप या किसी प्राकृतिक आपदा का समय बता सके.

गृह राज्यमंत्री किरेन रिजजु ने एबीपी न्यूज से बातचीत में बताया, ‘इस तरह की अफवाह बिलकुल बेबुनियाद और लोगों में दहशत फैलाने के लिए फैलाए जा रहे हैं यहां तक की चांद का उल्टा निकलना भी एक साधारण ही भौगोलिक प्रक्रिया है.’

 

एबीपी न्यूज भी आपसे अपील करता है कि आप व्हाट्स एप्प या किसी भी सोशल मीडिया पर डराने वाले संदेशों पर ध्यान ना दें..विज्ञान अब तक ये अनुमान लगाने में कामयाब नहीं रहा है कि भूकंप कब और कहां आएगा? इसलिए आप इन अफवाहों से परेशान न हों.

 

भूकंप से जुड़ी अफवाह से रहें दूर- मौसम विभाग  

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ABP NEWS APPEAL
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017