एबीपी न्यूज के संपादकीय मंडल ने पीएम मोदी को चुना 'व्यक्ति विशेष-2017'

एबीपी न्यूज के संपादकीय मंडल ने पीएम मोदी को चुना 'व्यक्ति विशेष-2017'

By: | Updated: 30 Dec 2017 10:22 PM
ABP NEWS EDITORIAL CHOOSES NARENDRA MODI AS VYAKTI VISHESH 2017

नई दिल्ली: व्यक्ति विशेष-2017 का पोल कराते वक्त एबीपी न्यूज ने पहले ही बताया था कि व्यक्ति विशेष-2017 ऐलान करते वक्त हम दो नामों का ऐलान करेंगे. एक नाम जनता द्वारा दिए गए वोटों से तय किया जाएगा. दूसरा नाम एबीपी न्यूज के संपादकीय मंडल द्वारा चुना जाएगा.


आपको बता दें कि जनता ने हार्दिक पटेल को व्यक्ति विशेष-2017 चुना है. वहीं, एबीपी न्यूज के संपादकीय मंडल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को व्यक्ति विशेष-2017 माना है. पीएम मोदी के फैसलों ने उन्हें संपादकों की नजर में व्यक्ति विशेष-2017 बना दिया है.


जिन फैसलों ने सुर्खियां बटोरीं
आपको बता दें कि एक जुलाई से देश भर में जीएसटी यानी गुड एंड सर्विस टेक्स लागू हुआ था. आर्थिक मोर्चे पर मोदी सरकार का ये बड़ा कदम है. केंद्र और राज्‍यों के 17 से ज्‍यादा इनडायरेक्‍ट टैक्‍स और 23 तरह के सेस के बदले लाया गया जीएसटी देश भर में किसी भी सामान या सेवा की मैन्‍युफैक्‍चरिंग, बिक्री और इस्‍तेमाल पर लागू किया गया है.


राजनीतिक पंडितों के कयास को गलत साबित करते हुए गुजरात और हिमाचल के चुनावों ने भी ये साबित किया है कि पीएम मोदी की लहर कम नहीं हुई है. यूपी में जहां मोदी ने बीजेपी को 15 साल बाद सत्ता में वापस लाकर अपना लोहा मनवाया वहीं पहली बार देश के 19 राज्यों में बीजेपी की सरकार बनवा दी.


सामाजिक मोर्चे पर सक्रिय नजर आने वाले पीएम मोदी साल 2017 में भी तीन तलाक पर माहौल बनाते नजर आए हैं. 1400 साल पुरानी तीन तलाक प्रथा यानी तलाक-ए-बिद्दत के खिलाफ लोकसभा में बिल पास कराने में भी मोदी कामयाब रहे है.


2017 डोकलाम के मुद्दे पर भारत और चीन के बीच जबरदस्त विवाद का साल रहा. डोकलाम के जिस इलाके में चीन सड़क का निर्माण कर रहा है उस पर भूटान और चीन अपना -अपना दावा करते हैं लेकिन भारत भूटान के पक्ष में डटा रहा. क्योंकि भारत और भूटान के बीच मजबूत राजनयिक संबंध रहे हैं.


आर्थिक मोर्च पर ये साल मोदी सरकार के लिए अच्छी खबर लाया. वर्ल्ड बैंक की ईज ऑफ डूइंग बिजनेस इंडेक्स में भारत 30 पायदान उछलकर 100 वें पायदान पर आ पहुंचा है. इस कैटेगिरी में भारत सबसे ज्यादा सुधार करने वाला देश है. रिपोर्ट में रैंकिंग में उछाल की वजह कर सुधार, लाइसेंसिंग, निवेशकों की सुरक्षा और बैंकरप्सी रिजोल्यूशन को बताया गया.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: ABP NEWS EDITORIAL CHOOSES NARENDRA MODI AS VYAKTI VISHESH 2017
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story मध्य प्रदेश: कल विधानसभा की दो सीटों पर उपचुनाव, बीजेपी-कांग्रेस के लिए सेमीफाइनल