यूपी: भूमाफियाओं पर चाबुक चलाएंगे योगी, अवैध कब्जे वाली जमीनों पर ABP न्यूज़ की पड़ताल

यूपी: भूमाफियाओं पर चाबुक चलाएंगे योगी, अवैध कब्जे वाली जमीनों पर ABP न्यूज़ की पड़ताल

By: | Updated: 21 Apr 2017 10:49 AM
लखनऊ: उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ जब से सीएम बने है तब से हर दिन लगातार वो धड़ाधड़ बड़े फैसले ले रहे हैं. इसी कड़ी में उनका एक बड़ा फैसला यूपी में सरकारी जमीनों से अवैध कब्जा जल्द से जल्द हटाना है. योगी सरकार ने ऐलान किया है कि वो जल्द ही एंटी भूमाफिया स्क्वॉड बनाकर सरकारी जमीनों से कब्जे हटाएगी. योगी सरकार की अगली कैबिनेट में इसका फैसला हो सकता है.

योगी सरकार ने अखिलेश के ड्रीम प्रोजेक्ट आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर शुरू की जांच

जमीन की जरूरत इसलिए हैं क्योंकि यूपी के कई निगमों और प्राधिकरणों के पास घर बनाने के लिए लैंड बैंक ही नहीं बचे हैं. कई बेशकीमतीं जमीनों पर भूमाफिया ने अवैध कब्जे कर रखा हैं. इन्हीं से निजात दिलाने के लिए योगी सरकार ने जल्द ही एंटी भूमाफिया स्क्वैड बनाने का एलान किया है.

तीन तलाक पर सीएम योगी का बड़ा फैसला, मुस्लिम महिलाओं के लिए आश्रम खोलेगी यूपी सरकार

कैसे हटेगा जमीनों से माफियाओं का कब्जा?

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने भूमाफियाओं के खिलाफ अभियान का ऐलान किया है. तहसीलों में एसडीएम और जिलों में डीएम अवैध कब्जे वाली जमीन की पहचान करेंगे. सरकार एंटी भूमाफिया स्क्वॉड बनाकर सरकारी जमीनों  से अवैध कब्जा हटाएगी.  एक महीने के भीतर शहरी और ग्रामीण इलाकों में अवैध कब्जे वाली जमीनों की लिस्ट बनेगी. यूपी में सरकार के पास घर बनाने के लिए फिलहाल बहुत ही कम जमीन है

यूपी: हिंसा के बाद छावनी बना सहारनपुर, बिना इजाजत जुलूस निकालने पर हुआ बवाल

योगी सरकार ने इसके लिए सरकारी जमीन पर अवैध कब्जा हटाने के लिए जो मसौदा तय किया है उसके मुताबिक-

  • तहसीलों में एसडीएम और जिलों में डीएम उन जमीनों को चिन्हित करगें जो भूमाफिया के कब्जे में है.

  • राज्य स्तर पर मुख्य सचिव इसकी निगरानी करेंगे.

  • माना जा रहा है की अगली कैबिनेट बैठक में योगी सरकार इस पर मुहर लगा सकती है.

  • ऐसा करने का मुख्य मकसद लैंडबैंक बढ़ाना होगा.

  • कानून व्यवस्था दुरुस्त रखना और अतिक्रमण से भी निजात मिलेगी.


जानकारों का मानना है कि योगी सरकार को इसे कैबिनेट में पास करने के अलावा एक प्राधिकरण भी बनाना पड़ेगा जो इनकी देखभाल कर सके.

गाजियाबाद में युवा वाहिनी पर सरकारी जमीन हड़पने का आरोप

गाजियाबाद में हिंदू युवा वाहिनी पर सरकारी जमीन हड़पने का आरोप लगा है. अवैध रूप से कब्जा की हुई जमीन पर मंदिर बनाया जा रहा है. भगवान श्रीराम और सीता का ये मंदिर यूपी के गाजियाबाद राज नगर एक्सटेंशन में बन रहा है.

gaziyabad

दिक्कत ये है कि 1180 वर्ग गज की जिस जमीन पर ये मंदिर बन रहा है उसपर कब्जा अवैध है. यानि कि यहां मंदिर बनाने की इजाजत नहीं है. ये जमीन बिजली विभाग की है जिसे गाजियाबाद विकास प्राधिकरण ने बिजली घर बनाने के लिए अलॉट किया था. लेकिन आरोप है कि सीएम योगी आदित्यनाथ से जुड़ी संस्था हिंदू युवा वाहिनी के लोग इस जमीन पर अवैध कब्जा कर मंदिर बना रहे हैं.  हिन्दू युवा वाहिनी के नेता कहते हैं कि मंदिर यहां बनकर रहेगा.

बरेली के डेलापीर इलाके में तालाब पर कब्जा कर रिहायशी कॉलोनी बना रहे हैं भूमाफिया

यूपी के बरेली के डेलापीर इलाके में एक तालाब पर भूमाफिया कब्जा कर रिहायशी कॉलोनी बना रहे हैं. 64 बीघा जमीन पर बने इस तालाब की कीमत करीब करीब एक हजार करोड़ रुपए बताई जाती है. स्थानीय मीडिया में मुद्दा उठने के बावजूद प्रशासन ने कभी इसकी सुध नहीं ली. बरेली कालेज के लॉ के प्रोफेसर डॉ प्रदीप जागर का कहना है कि बरेली में 164 तालाब थे जिनमें से अब दो-तीन ही बचे हैं.

barelley

बरेली के मेयर डॉ आईएस तोमर का कहना है की नगर निगम अपनी जमीनों को लेकर सजग है लेकिन जितनी भी जमीनों पर कब्जे हैं उनमे से नब्बे फीसदी मामले न्यायालय में चले जाते है जिसका फायदा भूमाफिया उठाते हैं. बरेली में नगर निगम,बरेली विकास प्राधिकरण, जिला पंचायत की कई जमीनों पर अवैध कब्जे हैं.

मेरठ में शमशान की जमीन पर भूमाफिया ने बना दिए घर औऱ दुकान

मेरठ की जागृति विहार कालोनी में भूमाफियाओं ने श्मशान घाट की जमीन पर कब्जा कर मकान और दुकानें बना दी. भूमाफियाओं ने लोगों को फर्जी तरीके से ये जमीनें बेची हैं. यहां के लोगों ने कई बार इसकी शिकायत नगर निगम से की है लेकिन फिर भी इनके खिलाफ कोई कदम नहीं उठाया गया है.

meerut

मेरठ में नगर निगम अपनी उन जमीनों की लिस्ट तैयार कर रहा है जिन पर भूमाफियाओं का कब्ज़ा है. नगर निगम के अधिकारियों का कहना है जिन लोगों ने जमीन पर अवैध कब्ज़ा किया है उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story नसीमुद्दीन सिद्दीकी की 'घरवापसी' के बाद कांग्रेस में उठने लगे विरोध के स्वर