एबीपी न्यूज़ सर्वे: महाराष्ट्र में बीजेपी-शिवसेना गठबंधन की सरकार, महाराष्ट्र हरियाणा में 15 अक्टूबर को चुनाव

By: | Last Updated: Saturday, 13 September 2014 2:29 PM
ABP news opinion poll: nda will get 200 seat in Maharastra  assembly poll

नई दिल्ली: लोकसभा चुनावों में ऐतिहासिक जीत दर्ज करने वाले एनडीए गठबंधन का जादू महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में भी सिर चढ़ कर बोलने वाला है. एबीपी न्यूज़-नीलसन के ताज़ा ओपिनियन पोल के मुताबिक महाराष्ट्र  में बीजेपी-शिवसेना को न सिर्फ बहुमत मिल सकता है, बल्कि गठबंधन को 200 सीटें मिल सकती हैं.

 

महाराष्ट्र विधानसभा के चुनाव में बीजेपी अकेले 107 सीटें जीत लेगी तो शिवसेना की झोली में 86 सीटें जा सकती हैं. एनडीए गठबंधन के दूसरे सहयोगी आरपीआई पांच स्वाभिमानी शेतकरी पार्टी को दो सीटें मिल सकती हैं. यानी एनडीए को कुल 200 सीटें मिल सकती हैं.

 

कांग्रेस महज़ 40 सीटों पर सिमट जाएगी, जबकि एनसीपी को 25 सीटें मिल सकती हैं यानी बीते 15 साल तक राज्य की कमान संभालने वाले कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन को बड़ी हार का सामना करना पड़ेगा.

राज्य के सत्ताधारी गठबंधन के लिए परेशानी की बात ये है कि ज्यों-ज्यों चुनाव के दिन करीब आ रहे हैं, एबीपी न्यूज़-नीलसन के सर्वे के नतीजों में उनकी सीट घटती जा रही है.

 

जुलाई-अगस्त के एबीपी न्यूज़-नीलसन के ओपिनियन पोल के मुताबिक अगर राज्य में कोई गठबंधन नहीं होता पाता है और सभी पार्टियां अपने बल बूते चुनाव मैदान में गईं तो बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभर सकती है और उसे 103 सीटें मिल सकती हैं. शिवसेना को 64 सीटें मिलने का अनुमान है. कांग्रेस के खाते में 49 और एनसीपी की झोली में 40 सीटें जा सकती हैं.

 

आपको बता दें कि साल 2009 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने 82 और एनसीपी ने 62 सीटों पर कब्ज़ा जमाया था. महाराष्ट्र में विधानसभा की कुल 288 सीटें हैं.

 

ओपिनियन पोल के मुताबिक महाराष्ट्र की 62 फीसद जनता ये समझती है कि बीजेपी, शिवसेना, आरपीआई और एसडब्ल्यूपी का गठबंधन चुनाव जीत सकता है. 30 फीसद जनता को ये उम्मीद है कि कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन बाज़ी मार सकता है.

 

कैसा रहा सरकार का कामकाज?

एबीपी न्यूज़-नीलसन ओपिनियन पोल के मुताबिक महाराष्ट्र के लोग मौजूदा सरकार के कामकाज को औसत बता रहे हैं. 7 फीसद लोग सरकार के कामकाज को बहुत अच्छा, 38 फीसद औसत, 24 फीसद अच्छा, 20 फीसद बुरा और 8 फीसद लोग काफी बुरा बता रहे हैं.

 

ओपिनियन पोल के मुताबिक सीएम पृथ्वीराज चव्हाण का कामकाज भी औसत रहा है. लेकिन सरकार के कामकाज से उनके काम को लोगों ने अच्छा कहा है. 9 फीसद लोग सीएम के कामकाज को बहुत अच्छा, 33 फीसद ने अच्छा, 38 फीसद ने औसत, 15 फीसद ने बुरा और 3 फीसद लोग काफी बुरा बता रहे हैं.

 

क्या हैं मुद्दे

एबीपी न्यूज़-नीलसन ओपिनियन पोल के मुताबिक वोटरों का बीजेपी की तरफ झुकने की वजह महंगाई और भ्रष्टाचार के मोर्चे पर सरकार की नाकामी है.

महंगाई को कारण बता जहां 19 फीसद वोटरों का कहना है कि वह कांग्रेस की बजाए बीजेपी को वोट देंगे तो वहीं 21 फीसद का कहना है कि एनसीपी के बजाए बीजेपी को वोट देंगे.

 

इसी तरह भ्रष्टाचार को वजह बता जहां 20  फीसद वोटरों का कहना है कि वह कांग्रेस की बजाए बीजेपी को वोट देंगे तो वहीं 19 फीसद का कहना है कि एनसीपी के बजाए बीजेपी को वोट देंगे.

 

बेरोज़गारी, बिजली और कानून-व्यवस्था में गिरावट जैसे दूरे मुद्दों पर भी जनता को सरकार से नाराज़गी है.

कौन हैं सीएम की पहली पसंद?

ओपिनियन पोल के मुताबिक जब सवाल सीएम की पहली पसंद की आती है तो इस मोर्चे पर मौजूदा सीएम पृथ्वीराज चव्हाण बाज़ी मारते दिख रहे हैं. राज्य की एक चौथाई (26 फीसद) जनता उन्हें एक बार फिर बतौर सीएम देखना चाहती है. जनता की दूसरी पसंद है उद्धव ठाकरे. उन्हें 22 फीसद जनता बतौर सीएम देखना चाहती है. इस रेस में बीजेपी के महाराष्ट्र अध्यक्ष देवेंद्र फडणवीस हैं, उन्हें 17 फीसद जनता पसंद करती है. नितिन गडकरी, अजित पवार, राज ठाकरे और शरद पवार भी बतौर सीएम लोगों की पसंद हैं, लेकिन इन्हें चाहने वाले लोग काफी कम है.

 

पृथ्वीराज चव्हाण 26

उद्धव ठाकरे–        22

देवेंद्र फडणविस-   17

नितिन गडकरी-     8

अजित पवार-        4

राज ठाकरे-           4

शरद पवार-           3

 

विनोद तडवे (बीजेपी) – 3

अशोक चव्हाण (कांग्रेस)- 3

सुशील कुमार शिंदे (कांग्रेस)-2

नारायण राणे (कांग्रेस)-2

जब एनडीए गठबंधन में सीएम की पहली पसंद को जाना गया तो शिवसेना के नेता उद्धव ठाकरे बतौर सीएम जनता की पहली पसंद पर थे. उनके बाद बीजेपी के देवेंद्र फडणवीस थे. जब यही सवाल कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन को लेकर किया गया तो पृथ्वीराज चव्हाण जनता की पहली पसंद थे. 

 

लेकिन कांग्रेस के लिए परेशानी की बात यह है कि आधे से ज्यादा 53 फीसद लोगों का कहना है कि कांग्रेस साफ छवि वाले पृथ्वीराज चव्हाण को सीएम कैंडिडेट के तौर पर उतारती है तो भी वे कांग्रेस को वोट नहीं देंगे.  38 फीसद लोग उनके सीएम उम्मीदवार होने पर कांग्रेस को वोट देंगे.

ओपिनियन पोल के मुताबिक दो तिहाई लोगों का कहना है कि सरकार पर भ्रष्टाचार के आरोप से सरकार की छवि खराब हुई है और इसका असर आने वाले चुनाव पर पड़ेगा.

 

43 फीसद लोगों का मानना है कि मुसलमान और मराठों को शिक्षा और नौकरियों में आरक्षण देने से कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन को फायदा हो सकता है. हालांकि 35 फीसद की राय है इससे सरकार को नुकसान होगा. 14 फीसद का मानना है कि इस चुनाव में रिजर्वेशन कोई  मुद्दा नहीं होगा.

 

पीएम के साथ किसी सरकारी कार्यक्रम में अब शरीक नहीं होने के पृथ्वीराज चव्हाण के फैसले पर मिलीजुली प्रतिक्रिया है. 42 फीसद ने उनके फैसले को सही माना है तो 45 फीसद इसके विरोध में हैं. बीते दिनों महाराष्ट्र में एक कार्यकर्म के दौरान मोदी समर्थकों ने चव्हाण की हूटिंग की थी.

 

एबीपी न्यूज़- नीलसन का ये पोल 24 अगस्त और 3 सितंबर के बीच किया गया है. 72 विधानसभा के 12,973 वोटरों की राय ली गई है.     

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ABP news opinion poll: nda will get 200 seat in Maharastra assembly poll
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017