एग्जिट पोल में महाराष्ट्र में बीजेपी को बहुतम, लेकिन कौन बनेगा मुख्यमंत्री?

By: | Last Updated: Thursday, 16 October 2014 4:39 AM

नई दिल्ली: मोदी लहर पर सवार बीजेपी के अच्छे दिन अब भी जारी हैं. महाराष्ट्र और हरियाणा के विधानसभा चुनाव में  बीजेपी को बहुमत मिलता दिख रहा है. 15 साल से विपक्ष में रही बीजेपी को इस बार सरकार बनाने का मौका मिल सकता है. लेकिन सवाल यह है कि अब सरकार बनती है तो आखिर कौन बनेगा महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री?

 

महाराष्ट्र और हरियाणा को लेकर हुए ज्यादातर एग्जिट पोल बीजेपी के पक्ष में जाते दिख रहे हैं. बीजेपी अपने दम पर सरकार बनाती नजर आ रही है. दोनों राज्यों में बीजेपी ने मुख्यमंत्री पद को लेकर अपने पत्ते नहीं खोले हैं. ऐसे में दोनों राज्यों के मुख्यमंत्री को लेकर कई नामों की चर्चा है.

 

विधानसभा चुनाव के दौरान बीजेपी की इस बात के लिए आलोचना होती रही कि उसके पास पार्टी का कोई चेहरा नहीं है लेकिन बदली हुई तस्वीर में बीजेपी के कई चेहरे मुख्यमंत्री की दौड़ में नजर आ रहे हैं.

 

देवेंद्र फडणवीस, पंकजा मुंडे, एकनाथ खडसे, विनोद तावडे या फिर नितिन गडकरी आखिर कौन बनेगा महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री?

 

सबसे पहले बात उन नेताओं की जो खुद ही इस दौड़ से बाहर होने का एलान कर चुके हैं यानि नितिन गडकरी तो महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बनने से खुद मना कर चुके  हैं.

 

एक और नाम जिसे संभावित मुख्यमंत्री के तौर पर देखा जा रहा था वो है विनोद तावड़े लेकिन महाराष्ट्र विधान परिषद में नेता विपक्ष विनोद तावड़े तो खुद ही एलान कर चुके हैं कि अगर बीजेपी की सरकार बनती है तो वो गृहमंत्री बनेंगे.

 

अब बात उस नेता की जो सीधे तौर पर खुद को मुख्यमंत्री का दावेदार नहीं बता रही हैं लेकिन अपने कार्यकर्ताओं की भावना के नाम पर खुद की दावेदारी पेश करने से नहीं चूक रही हैं. हम बात कर रहे हैं महाराष्ट्र के बड़े नेता और मोदी सरकार में मंत्री रहे दिवंगत गोपीनाथ मुंडे की बेटी पंकजा मुंडे की.

 

OBC के बड़े नेता रहे गोपीनाथ मुंडे की बेटी होने के साथ साथ पंकजा महिला होने के नाते भी महाराष्ट्र की पहली महिला मुख्यमंत्री बनने का ख्वाव संजोए हुए हैं. लेकिन कार्यकर्ताओं की तरफ से खुद को मुख्यमंत्री बनाने की वकालत करना पंकजा के खिलाफ जा सकता है.

 

अब बात एक ऐसे नेता की जो सरपंच से लेकर मंत्री बना और महाराष्ट्र विधानसभा में नेता विपक्ष रहा. बीजेपी-शिवसेना सरकार में मंत्री रह चुके एकनाथ खडसे 5 बार से विधायक रहे हैं.

 

किसानों के नेता होने के चलते इनकी लोगों के बीच अच्छी पकड़ मानी जाती है. लेकिन बढ़ती उम्र और स्वास्थ्य… युवाओं को तरजीह दे रही बीजेपी में खडसे के मुख्यमंत्री बनने की राह मुश्किल बना सकती है.

 

इन सबके बीच महाराष्ट्र बीजेपी के अध्यक्ष देवेंद्र फडणवीस की दावेदारी सबसे मजबूत मानी जाती है. 44 साल के फडणवीस युवा और तेजतर्रार नेता हैं. वार्ड संयोजक से प्रदेश अध्यक्ष तक का राजनीतिक सफर तय कर चुके फडणवीस साफ छवि के नेता हैं. उनकी कमजोरी ये है कि वो जननेता नहीं हैं.

 

लोगों के बीच फडणवीस की पकड़ उतनी मजबूत नहीं है..लेकिन बजट पर एक किताब लिख चुके फडणवीस पढ़े लिखे होने के साथ ही पीएम नरेंद्र मोदी के भी करीबी माने जाते हैं….अगर बीजेपी को महाराष्ट्र में बहुमत मिलता है तो उन्हें मुख्यमंत्री की कुर्सी मिल सकती है.