JNU में अफजल गुरू की फांसी की निंदा, राजनीतिक कैदियों की रिहाई की मांग

By: | Last Updated: Thursday, 11 February 2016 9:22 AM
Afzal Guru event: slogans hailing afzal at JNU campus; ‘disciplinary’ enquiry ordered

नयी दिल्ली: जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में एक कार्यक्रम के दौरान एक संगठन ने 2001 में संसद पर आतंकी हमले के जिम्मेदार अफजल गुरु की फांसी की निंदा करते हुए ‘राजनीतिक कैदियों’ की रिहाई की मांग की और उसकी ‘न्यायिक हत्या’ के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए उसकी ‘शहादत’ का गुणगान किया.

राजनीतिक कैदियों की रिहाई के लिए रिसर्च स्कालर्स और शिक्षकों को मिलाकर बनायी गयी एक समिति ने कश्मीर विवाद को हल करने के लिए केन्द्र सरकार के गंभीर नहीं होने के प्रति गंभीर चिंता जतायी और जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (जेकेएलएफ) के संस्थापक मोहम्मद मकबूल भट को श्रद्धांजलि भी अर्पित की.

इस बीच कांग्रेस ने कहा कि किसी को भी अफजल गुरु की प्रशंसा नहीं करनी चाहिए क्योंकि उसे अदालत ने आतंकवादी करार दिया था और लंबी न्यायिक प्रक्रिया के बाद उसे फांसी हुई थी.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Afzal Guru event: slogans hailing afzal at JNU campus; ‘disciplinary’ enquiry ordered
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: afzal guru jammu and kashmir JNU
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017