केरल में भिड़े बीजेपी-सीपीएम कार्यकर्ता, 16 घायल

Ahead of election, BJP, CPI-M workers clash in Kerala

नई दिल्ली/त्रिवेंद्रम : केरल में मई महीने में विधान सभा के चुनाव होने है. ठीक उससे पहले यहां का खूनी खेल सुर्खियां बटोरने लगा है. ताज़ा मामला त्रिवेंद्रम का है जहां कट्टईकोणं में मास्टर प्लान के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रही बीजेपी पर सीपीएम के कार्यकर्ताओं ने हमला कर दिया. बताया जा रहा है कि इसमें करीब 16 बीजेपी कार्यकर्ताओं के घायल हो गए हैं.

घायल हुए कार्यकर्ताओं में केरल के बीजेपी लीडर वी. मुरलीधरन भी शामिल है. इस हमले की निंदा करते हुए बीजेपी ने कल जिले में 12 घंटे बंद का ऐलान किया है. हालांकि परीक्षाओं को मद्देनज़र रखते हुए स्कूल व्हीकल को इस बंद से दूर रखा है. पुलिस का कहना है कि बीजेपी द्वारा निकाले एक जुलूस में पत्थरबाजी हुई और बाद में उनपर हमला हुआ.

दरअसल बीजेपी मास्टर प्लान का विरोध कर रही है. 16 ज़ख़्मी कार्यकर्ताओं का मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में इलाज चल रहा है. इस पुरे मामले से अब एक बात तो साफ़ है कि केरल में ख़ूनी खेल नया तो नहीं लेकिन चुनाव के करीब आते ही ये खेल हर दिन नया मोड़ लेता जा रहा है. पिछले 3 दशकों में करीब 300 से ज्यादा लोगों को अपने राजनीतिक हिसाब को बराबर करने के मकसद से मारा जा चूका है.

इससे कुछ ही दिनों पहले केरल के ही कन्नूर में एक ऑटो चालक आरएसएस कार्यकर्ता की भी बेरहमी से उनके बच्चों के सामने ही हत्या करने की कोशिश की गयी. फिलहाल अस्पताल में इलाज़ चल रहा है. वहीं 27 साल के आरएसएस कार्यकर्ता सुजीत को पप्पिनस्सेरी में उनके माँ बाप के सामने मार दिया गया. सितम्बर 2014 में मनोज को कथिरूर में दिन दहाड़े मार दिया गया. जिसके पीछे पुलिस को पूर्व विधयक और सीपीएम डिस्ट्रिक्ट सेक्रेटरी पी. जयराजन के हाथ होने का शक है. जिसपर 1999 में आरएसएस ने हमला किया था और वे बच निकले.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Ahead of election, BJP, CPI-M workers clash in Kerala
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: BJP clash CPI(M) election Kerala rss Worker
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017