आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर सुबह 10 बजे सुखोई-मिराज समेत 17 लड़ाकू विमान दिखाएंगे जलवा

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर सुबह 10 बजे सुखोई-मिराज समेत 17 लड़ाकू विमान दिखाएंगे जलवा

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ इस मौके पर मौजूद नहीं रहेंगे. पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर चुटकी लेते हुए कहा "मेरी सरकार होती तो सबसे आगे बैठ कर एयर शो देखता.’’

By: | Updated: 24 Oct 2017 09:33 AM
आगरा: लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे एक बार फिर से भारतीय वायुसेना के पराक्रम का गवाह बनने वाला है. इस बार एक दो या दस नहीं बल्कि वायुसेना के 17 विमान आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर उतरेंगे, जो किसी एक्सप्रेस-वे पर अब तक की सबसे बड़ी लैंडिंग होगी. ये तैयारी युद्ध जैसे हालात में रनवे बर्बाद होने की स्थिति में दुश्मन पर पलटवार करने के लिए अहम होती है.

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर लैंड करेंगे लड़ाकू विमान, जानें भारतीय वायुसेना क्यों कर रही है ये ड्रिल?

आज दिखेगा वायुसेना का पराक्रम

भारतीय वायुसेना के 15 लड़ाकू जहाज और मालवाहक हरक्यूलिस सी-130 आज लखनऊ-आगरा एक्सप्रेसवे पर दौड़ लगाएंगे. मिराज, सुखोई, जगुआर और दुनिया सबसे बड़ा मालवाहक विमान सी-130 एक-एक कर अपनी ताकत दिखाएंगे. आज सुबह 10 बजे मालवाहक हरक्यूलिस सी-130 एक्सप्रेस-वे पर उतरेगा. इसमें से गरुड़ कमांडो अपनी गाड़ियों और साजोसामान के साथ उतरेंगे और पोशिज़न लेकर एयर स्ट्रिप को सुरक्षित करेंगे.

तीन सुखोई-30 एयर स्ट्रिप छूकर भरेंगे उड़ान

गरुड़ कमांडोज से सिग्नल मिलने के बाद तीन जगुआर एक्सप्रेसवे पर टचडाउन करेंगे यानी एयरस्ट्रिप उतरेंगे और उड़ान भरेंगे. जगुआर के बाद तीन मिराज-2000 एक साथ उतरेंगे, इनके उड़ान भरते ही तीन और मिराज यहां उतरेंगे. मिराज के उड़ने के बाद तीन सुखोई-30 एयर स्ट्रिप पर टच डाउन करेंगे. इनके जाने के बाद फिर से तीन सुखोई-30 एयर स्ट्रिप छूकर उड़ान भरेंगे.

गरुड़कमांडोज को लेकर रवाना होगा मालवाहक हरक्यूलिस सी-130

आखिर में मालवाहक हरक्यूलिस सी-130 फिर से आएगा और गरुड़ कमांडोज को लेकर वापस रवाना होगा. एयर स्ट्रिप को लैंडिंग के लिहाज से सुरक्षित करने के लिए यहां हरक्यूलिस को उतारा जाएगा. इसके बाद बाकी विमान एक्सप्रेस-वे को टचडाउन करेंगे. करीब तीन किलोमीटर की हवाई पट्टी एक्सप्रेसवे पर बनी हुई है. इमरजेंसी के दौरान इसका इस्तेमाल लैंडिंग और टेक ऑफ़ के लिए किया जा सकता है. इसके लिए एक्सप्रेसवे को आज दोपहर दो बजे तक के लिए बंद कर दिया गया है.

अखिलेश सरकार में बना था लखनऊ-आगरा एक्सप्रेसवे

अखिलेश यादव राज में ये एक्सप्रेसवे बना था. पिछले साल 21 नवंबर को लखनऊ-आगरा एक्सप्रेसवे का उदघाटन हुआ था. अखिलेश यादव सीएम थे और अपने पिता मुलायम सिंह यादव के साथ उन्होंने एक्सप्रेसवे का उदघाटन किया था. इस मौके पर भारतीय वायु सेना के लड़ाकू विमानों ने सड़क छूते हुए उड़ान भरी थी. करीब साल भर बाद एक बार फिर 17 लड़ाकू जहाज एक्सप्रेसवे पर करतब दिखाएंगे.

अखिलेश ने ली सीएम योगी आदित्यनाथ पर चुटकी

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ इस मौके पर मौजूद नहीं रहेंगे. बीजेपी ने यूपी चुनाव के दौरान लखनऊ आगरा एक्सप्रेसवे की जांच की मांग की थी. सरकार बनने पर सड़क पर गड्ढे खोद कर कई जगहों से नमूने लिए गए. जांच हुई तो क्वालिटी में कहीं कोई गड़बड़ी नहीं मिली. इसीलिए तो अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर चुटकी लेते हुए कहा "मेरी सरकार होती तो सबसे आगे बैठ कर एयर शो देखता.’’

युद्ध की स्थिति में इस्तेमाल किए जाते हैं एक्सप्रेस-वे

दुनिया के कई देशों में पहले से ही एक्सप्रेस-वे को हवाई पट्टी के तौर पर इस्तेमाल में लाया जाता रहा है, ताकि युद्ध की स्थिति में रन-वे तबाह होने के बावजूद दुश्मन को जवाब दिया जा सके. साथ ही आपदा में भी एक्सप्रेस-वे को हवाई पट्टी के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है और लोगों तक राहत पहुंचाई जा सकती है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story पंजाब नगर निकाय चुनाव में कांग्रेस ने मारी बाजी, बीजेपी की बड़ी हार