All you need to now about 2G spectrum case, scam in ten points इस दस प्वाइंट्स से जानें तब से अबतक 2G घोटाले से जुड़ी सभी बड़ी बातें

इन दस प्वाइंट्स से जानें तब से अबतक 2G घोटाले से जुड़ी सभी बड़ी बातें

इस मामले के सभी आरोपी आजाद हैं. गवाहों के बयान कोर्ट में कागजी शेर साबित हए. अब सीबीआई और प्रविर्तन निदेशालय हाईकोर्ट में अपील करेगा.

By: | Updated: 22 Dec 2017 07:42 AM
All you need to now about 2G spectrum case, scam in ten points
नई दिल्ली: देश के सबसे बड़े घोटाले पर कल जो फैसला आया है, उससे पूरे देश की सियासत में सनसनी फैल गई है. एक लाख 76 हजार करोड़ रुपए के इस मामले में सभी 17 आरोपियों को अदालत ने बरी कर दिया है. जांच एजेंसी सीबीआई आरोपियों के खिलाफ कोई पुख्ता सबूत नहीं दे पाई. जानें इस मामले में तब से लेकर अबतक क्या हुआ है.

  1. साल 2010 में देश के नियंत्रक औऱ महालेखापरीक्षक यानी कैग की साल 2010 की आई रिपोर्ट में कहा गया कि नीलामी के जरिए 2जी मोबाइल नेटवर्क का लाइसेंस नहीं दिया गया, इससे देश को 1 लाख 76 हजार रुपये करोड़ का नुकसान हुआ है.

  2. कैग के इस दावे के बाद देश में हंगामा मच गया. हंगामे के बाद 2जी लाइसेंस मामले की जांच सीबीआई को सौंपी गई. यूपीए सरकार में टेलिकॉम मंत्री ए राजा, डीएमके सांसद कनीमोझी और शाहिद बलवा समेत कई आरोपी जेल गए 2012 में सुप्रीम कोर्ट ने 2जी के 122 लाइसेंस रद्द कर दिए.

  3. साल 2017 यानि सात साल बाद दिल्ली की स्पेशल सीबीआई कोर्ट के फैसले ने सबको चौंका दिया. 2जी मामले के सभी आरोपी बरी कर दिए गए. सरकारी पक्ष आरोपियों पर आरोप साबित करने में नाकाम रहा.


जज ओपी सैनी ने क्या कहा है?

  1. फैसले के पेज नंबर 1544 में जज ओपी सैनी ने लिखा है, ‘’’सात साल से मैं काम के सभी दिन सुबह 10 से 5 बजे तक कोर्ट में बैठता था कि कोई तो सबूत लेकर आए, लेकिन कोई नहीं आया. इससे पता चलता है कि हर कोई अफवाह, सुनी सुनाई बातों, अटकलों पर अपना नजरिया बना रहा था, लेकिन सुनी -सुनाई बातों की कानून की प्रक्रिया में कोई जगह नहीं होती.’’

  2. मनी लान्ड्रिंग केस का फैसला पढ़ने के बाद अदालत ने एस्सार मामले में फैसला पढ़ा और उसमें भी सबको बरी कर दिया.

  3. जज ओपी सैनी ने पेज नंबर 1550 और 1551 में लिखा है, ‘’इस केस की जड़ में ए राजा की जिम्मेदारी इतनी नहीं बनती है, जितनी की दूसरों की बनती है. ऐसा कोई सबूत नहीं है कि इस साजिश के जनक ए राजा हैं, ऐसा कोई साक्ष्य नहीं है कि जिससे ये साबित हो कि उन्होंने कोई गलत काम किया है, साजिश रची है या भ्रष्टाचार किया है.’’


2G घोटले में ए राजा पर क्या आरोप हैं?

  1. ए राजा 2010 में डीएमके कोटे से यूपीए सरकार में टेलिकॉम मंत्री थे. उन पर आरोप लगे कि उन्होंने पद का दुरूपयोग किया, रिश्वत लेकर पसंदीदा कंपनियों को फायदा पहुंचाया, 2001 की कीमतों पर 2008 में स्पेक्ट्रम बेचा और नीलामी में नियमों की जानबूझकर अनदेखी की. जिससे देश को 76 लाख करोड़ का नुकसान हुआ.


2G घोटले में कनिमोझी पर क्या आरोप हैं?

  1. डीएमके चीफ करुणानिधि की बेटी कनिमोझी पर आरोप थे कि उन्होंने ए राजा के साथ मिलकर स्पेक्ट्रम घोटाला किया, स्पेक्ट्रम दिलाने के बदले 200 करोड़ की रिश्वत ली,- डीबी रिएल्टी के मालिक शाहिद बलवा से रिश्वत ली औऱ अपने टीवी चैनल कलाइंगर टीवी के लिए 200 करोड़ लिए.


हाईकोर्ट जाएगा सीबीआई और ईडी?

  1. लेकिन ये आरोप अदालत में साबित नहीं हो सके और अब सब आरोपी आजाद हैं. गवाहों के बयान कोर्ट में कागजी शेर साबित हए. अब सीबीआई और प्रविर्तन निदेशालय हाईकोर्ट में अपील करेगा.

  2. कोर्ट के फैसले के बाद एक बार फिर कांग्रेस और बीजेपी में घमासान शुरु हो गया है. कांग्रेस ने बीजेपी पर सत्ता हथियाने के लिए साजिश करने का आरोप लगाया है और माफी की मांग की है. वहीं, सरकार ने कहा है कि कांग्रेस इस फैसले को सम्मान पत्र ना समझे.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: All you need to now about 2G spectrum case, scam in ten points
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story बिहार: औरंगाबाद के डीएम के खिलाफ CBI ने दर्ज किया भ्रष्टाचार का मामला