इलाहाबाद SDM फोटो केस: रिहा हुए आप नेता ने रो रो कर कहा,'जेल में हुई बेरहमी से पिटाई'

By: | Last Updated: Wednesday, 20 May 2015 5:12 PM

नई दिल्ली: इलाहाबाद में एसडीएम को ज्ञापन देते वक्त मोबाइल से फोटो खींचने के मामले में जेल भेजे गए आम आदमी पार्टी के नेता सुनील चौधरी आज जमानत पर जेल से रिहा हो गए. जेल से बाहर आते ही आप नेता सुनील चौधरी ने पुलिस पर बेरहमी से पिटाई का आरोप लगाया और साथियों के गले लग फूट- फूटकर रोये.

 

सुनील चौधरी के रोने पर उन्हें लेने जेल पहुंचे आप कार्यकर्ताओं की आँखें भी नम हो गईं. जमानत पर जेल से रिहा होने के बाद सुनील चौधरी ने दोहराया कि जिस्मफरोशी के धंधे के खिलाफ उन्होंने जो अभियान छेड़ रखा है, वह जेल भेजे जाने के बावजूद जारी रहेगा.

 

इस मौके पर उन्होंने कहा कि अपने साथ हुई ज्यादती के खिलाफ वह वह हाईकोर्ट में अर्जी दाखिल कर इंसाफ की गुहार लगाएंगे. उन्होंने यूपी के सीएम अखिलेश यादव से तुनकमिजाज महिला एसडीएम हर्षिता माथुर के खिलाफ कड़ी कार्रवाई किये जाने की मांग भी की.

 

इलाहाबाद: आम आदमी पार्टी नेता सुनील चौधरी को एसडीएम हर्षिता माथुर ने साथ में फोटो खिंचवाने पर जेल भिजवाया

 

सुनील चौधरी का कहना है कि जिस्मफरोशी के धंधे को ख़त्म कराने की मांग को लेकर एसडीएम हर्षिता माथुर को ज्ञापन देते वक्त उन्होंने पावती की मांग की. इंकार करने के बाद अपने रिकार्ड के लिए वह ज्ञापन देने की फोटो जब मोबाइल से खींचने लगे तो एसडीएम ने पहले उन्हें दो थप्पड़ मारे और मोबाइल जब्त करने के बाद पुलिस को बुलाकर उनकी पिटाई कराई. तहसील से लेकर थाने तक उन्हें पीटा ही गया, साथ ही मेडिकल जांच के बाद भी पुलिस ने उनके साथ बेरहमी की.

 

गौरतलब है कि इलाहाबाद में आम आदमी पार्टी के नेता सुनील चौधरी शहर के चौक इलाके में धड़ल्ले से चलने वाले जिस्मफरोशी के धंधे को बंद कराये जाने की मांग को लेकर पिछले काफी दिनों से आंदोलन कर रहे हैं.

 

यूपी में दो महिला एसडीएम बनीं तानाशाह!

 

इसी सिलसिले में दो दिन पहले 18 मई को वह एसडीएम सदर का काम देख रही आईएएस आफिसर हर्षिता माथुर को ज्ञापन देने उनके दफ्तर गए थे. कोई रिसीविंग देने से इंकार करने पर सुनील ज्ञापन देने की तस्वीर अपने मोबाइल से खींचने लगे तो एसडीएम ने मोबाइल जब्त कराकर उन्हें पुलिस को सौंप दिया.

 

पुलिस ने शांति भंग की आशंका के लिए इस्तेमाल होने वाली धारा 151 में चालान कर सुनील को जेल भेज दिया. सुनील का आरोप है कि जेल भेजने से पहले पुलिस ने उनकी जमकर पिटाई भी की. सुनील को पचास- पचास हजार रूपये के दो बांड भरने पर मजिस्ट्रेट कोर्ट से जमानत मिली है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: allahabad_aap_neta_jail_photo
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017