दलितों पर अत्याचार की शिकायत करते हुए सोनिया ने पीएम को लिखी चिट्ठी, आज आंबेडकर के जन्मस्थान एमपी के महू जाएंगे राहुल

By: | Last Updated: Tuesday, 2 June 2015 1:37 AM
Ambedkar’s 125th Birth Anniversary, Parties Battle Over His Legacy

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को चिट्ठी लिखकर दलितों पर ‘‘बढ़ रहे अत्याचार’’ की घटनाओं पर चिंता जताई और मांग की कि अगले महीने संसद के मॉनसून सत्र में इस तरह के अपराधों को रोकने के लिए विधेयक लाया जाए.

 

भाजपा शासित दो राज्यों राजस्थान और महाराष्ट्र में दलितों पर बढ़ रही अत्याचार की घटनाओं का जिक्र करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने आरोप लगाए कि संप्रग द्वारा लाए गए अध्यादेश को राजग सरकार ने खत्म हो जाने दिया. साथ ही उन्होंने संसद के पिछले बजट सत्र में इसके स्थान पर नया विधेयक नहीं लाए जाने की भी आलोचना की.

 

सोनिया ने ऐसे समय में प्रधानमंत्री को पत्र लिखा है जब कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी दलित नेता बी. आर. अंबेडकर के जन्मस्थान मध्यप्रदेश के महू में आज यात्रा कर रहे हैं. राहुल वहां अंबेडकर की 125वीं जयंती पर वर्ष भर चलने वाले समारोह का उद्घाटन करेंगे. पिछले वर्ष लोकसभा चुनावों में करारी शिकस्त मिलने के बाद समारोहों को कांग्रेस की दलितों तक पहुंच बनाने के प्रयास के रूप में देखा जा रहा है.

 

चुनावों में भाजपा ने हिंदी पट्टी में एससी-एसटी मतदाताओं के बीच गहरी पैठ बनाई थी. सोनिया ने पत्र में लिखा है, ‘‘मैं आपके ध्यान में लाना चाहता हूं कि देश भर में दलितों पर अत्याचार की घटनाएं बढ़ती जा रही हैं. राजस्थान के नागौर जिले में जमीन विवाद में एक समुदाय के सदस्यों ने 17 दलितों को ट्रैक्टर से कुचल डाला. चार दलितों की मौत हो गई जबकि एक अन्य जख्मी है. तीन महीने पहले इसी जिले में तीन दलितों को जिंदा जला दिया गया.’’

 

सोनिया ने पत्र में लिखा है, ‘‘राजस्थान एकमात्र राज्य नहीं है. दूसरे राज्यों में भी दलितों पर जघन्य हमले हुए हैं. महाराष्ट्र के शिरडी में थाने से कुछ ही दूरी पर एक दलित युवक की अंबेडकर का रिंगटोन लगाने पर हत्या कर दी गई.’’

 

उन्होंने कहा कि इन मामलों में स्वच्छ एवं भेदभाव रहित जांच सुनिश्चित करना और दोषियों को कानून के मुताबिक सजा दिलाना न्याय के हित में है. साथ ही यह भी सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण है कि दलितों की रक्षा और कल्याण के लिए संस्थागत मशीनरी को मजबूत किया जाए और जवाबदेह बनाया जाए ताकि सभी दलितों को न्याय का अधिकार मिल सके.

 

उन्होंने कहा, ‘‘इसी उद्देश्य से संप्रग द्वितीय सरकार एक अध्यादेश लेकर आई, जिसमें एससी-एसटी (अत्याचार निरोधक) अधिनियम 1989 को मजबूत करने की बात थी.’’ सोनिया ने कहा कि यह ‘‘निराशा की बात’’ है कि राजग सरकार ने स्थायी समिति को इसे भेजकर ‘‘अध्यादेश को खत्म हो जाने दिया.’’

 

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘‘स्थायी समिति ने अपनी रिपोर्ट दिसम्बर 2014 में सौंपी, लेकिन बजट सत्र में पारित कराने के लिए सरकार ने इसे संसद में नहीं रखा.’’ उन्होंने कहा, ‘‘इसलिए मैं आपसे आग्रह करता हूं कि आगामी मॉनसून सत्र में पारित कराने के लिए इस विधेयक को लाया जाए.’’

 

सरकार भी आंबेडकर की जयंती धूमधाम से मनाएगी

केंद्र सरकार ने अंबेडकर की 125वीं जयंती को बड़ी धूमधाम से मनाने का फैसला लिया है. इसके लिए पीएम मोदी की अध्यक्षता में एक समिति बनाई गई है जोकि विभिन्न मंत्रालयों, विभागों, राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में अंबेडकर की जयंती मनाने और उनके विचारों के प्रचार प्रसार के वास्ते विभिन्न कार्यक्रम करने के लिए सुझाव देगी.

 

अंबेडकर की 125वीं जयंती पर आयोजित समारोहों की शुरुआत करेंगे राहुल गांधी

कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी आज एक दिवसीय प्रवास पर इंदौर के महू कस्बे में आ रहे हैं. वह संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अंबेडकर की 125वीं जयंती के अवसर पर होने वाले कार्यक्रमों की शुरुआत करेंगे.

 

महू में होने वाली आमसभा की तैयारियों को लेकर रविवार को कांग्रेस के भोपाल स्थित प्रदेश कार्यालय में मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के संगठन प्रभारी महामंत्री चंद्रिका प्रसाद द्विवेदी की उपस्थिति में भोपाल के पदाधिकारियों, वरिष्ठ कांग्रेसजनों व पार्षदों की बैठक आहूत हुई.

 

इस बैठक में दो जून को महू में बाबा साहब अंबेडकर की 125 वी जयंती समारोह के शुभारंभ अवसर पर की आमसभा में अधिक से अधिक संख्या में पदाधिकारियों, कांग्रेसजनों व कार्यकर्ताओं की उपस्थिति दर्ज हो इस संबंध में विस्तार से चर्चा हुई.

 

बैठक में उपस्थित सभी पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं ने एकमत होकर आमसभा को ऐतिहासिक बनाने का संकल्प लिया.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Ambedkar’s 125th Birth Anniversary, Parties Battle Over His Legacy
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017