अजीत जोगी के बेटे अमित जोगी को कांग्रेस ने 6 साल के लिए निकाला

By: | Last Updated: Wednesday, 6 January 2016 5:13 PM
Amit Jogi expelled from Congress for six years

रायपुर: छत्तीसगढ़ के अंतागढ़ विधानसभा उपचुनाव को लेकर जारी टेप मामले में कार्रवाई करते हुए छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने पूर्व मुख्यमंत्री अजित जोगी के पुत्र तथा मरवाही विधायक अमित जोगी को छह वर्ष के लिए पार्टी से सस्पेंड कर दिया है वहीं अजित जोगी को सस्पेंड करने के लिए अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी को अनुशंसा की गई है.

छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भूपेश बघेल ने आज यहां संवाददाता सम्मेलन में बताया कि अंतागढ़ विधानसभा उपचुनाव के टेप के सामने के बाद आज प्रदेश कांग्रेस कमेटी की बैठक में अमित जोगी को सस्पेंड करने का फैसला किया गया. कांग्रेस कार्यसमिति के सदस्य अजित जोगी को सस्पेंड करने की अनुशंसा का प्रस्ताव पारित किया गया.

बघेल ने बताया कि अजित जोगी कांग्रेस कार्यसमिति के सदस्य हैं. उन्हें छह वर्ष के लिए सस्पेंड करने की अनुशंसा अखिल भारतीय कांग्रेस समिति से की गई है. बघेल ने कहा कि आज प्रदेश कांग्रेस समिति की बैठक में अंतागढ़ विधानसभा उपचुनाव टेप मामले को लेकर निंदा प्रस्ताव पारित किया गया.

इस दौरान सदस्यों ने एक मत से अमित जोगी को सस्पेंड करने तथा अजित जोगी के निष्कासन के लिए अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी से अनुशंसा करने की राय जाहिर की. उन्होंने कहा कि अजित जोगी और अमित जोगी के कृत्य से पार्टी को भारी क्षति पहुंची है और इससे लोकतंत्र को भी नुकसान हुआ है.

बघेल ने कहा कि अंतागढ़ उपचुनाव को लेकर आडियो टेप के सामने आने के बाद प्रथम दृष्टि में यह जानकारी मिली है कि इसमें मुख्यमंत्री रमन सिंह के दामाद पुनित गुप्ता, अजित जोगी और अमित जोगी की आवाज है. प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कहा कि टेप मामले में कांग्रेस ने कार्रवाई कर कर दी है और अब भाजपा को कार्रवाई करना है. अब इस बात का इंतजार है कि इस मामले में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह मुख्यमंत्री रमन सिंह पर क्या कार्रवाई करते हैं.

बघेल ने बताया कि इस मामले को लेकर प्रदेश कांग्रेेस कमेटी ने जो फैसले किए हैं. इसकी जानकारी जल्द ही आलाकमान को दी जाएगी. प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने यह कार्रवाई पार्टी के संविधान के तहत ही की है. एक सवाल के जवाब में बघेल ने कहा कि किसी भी नेता के आने या जाने से पार्टी को कभी कोई नुकसान नहीं हुआ है. पार्टी नेता से उपर है. इस फैसले से पार्टी की छवि निखरेगी तथा पार्टी मजबूत होकर उभरेगी.

इधर अमित जोगी ने इस फैसले को लेकर कहा कि वह इस फैसले से आहत हैं. और यह नैसर्गिक न्याय के खिलाफ है. इस फैसले से प्राकृतिक न्याय का उलंघन हुआ है. तथा यह फैसला पक्षपात पूर्ण है. जोगी ने कहा कि पार्टी के संविधान में उन्हें इस संबंध में अपील करने का अधिकार है और वह इस फैसले के खिलाफ अपील करेंगे. उन्होंने कहा कि जिस अखबार में यह मामला सामने आया था वह भी इसकी पुष्टि नहीं करता है.

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी किसी की बपौती नहीं है. उन्हें पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर पूरा भरोसा है कि उन्हें न्याय मिलेगा.

क्या है पूरा मामला

छत्तीसगढ़ में वर्ष 2014 में हुए अंतागढ़ उपचुनाव को लेकर एक अंग्रेजी अखबार ने एक आडियो टेप जारी किया था. जिसमें कथित तौर पर अजित जोगी, उनके पुत्र अमित जोगी, मुख्यमंत्री रमन सिंह के दामाद पुनित गुप्ता, जोगी के पूर्व सहयोगी फिरोज सिद्दीकी और एक अन्य सहयोगी अमीन मेमन और कांग्रेस उम्मीदवार जिसने बाद में नाम वापस ले लिया था मंतूराम पवार की आवाज है.

राज्य के नक्सल प्रभावित बस्तर क्षेत्र के अंतागढ़ उपचुनाव के लिए कांग्रेस ने मंतूराम पवार को अपना उम्मीदवार बनाया था. लेकिन पवार ने बाद में नाम वापस ले लिया था. इससे इस सीट पर कांग्रेस का कोई उम्मीदवार चुनाव नहीं लड़ सका था. अखबार द्वारा जारी टेप में अंतागढ़ उपचुनाव के दौरान कथित तौर पर सौदेबाजी का जिक्र है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Amit Jogi expelled from Congress for six years
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017