AMU के स्टूडेंट्स ने मीडिया और केंद्र सरकार पर निकाला गुस्सा

By: | Last Updated: Thursday, 13 November 2014 6:22 AM
AMU: Unions back VC against biased media reports

नई दिल्ली: अलीगढ़ यूनिवर्सिटी की लाइब्रेरी में छात्राओं की नो एंट्री के विवाद ने नया रूप ले लिया है. यूनिवर्सिटी के छात्र छात्राओं ने नेशनल मीडिया को इस विवाद के लिए जिम्मेदार ठहराते हुए लड़कियों की लाइब्रेरी में नो एंट्री को कैंपस के अंदर का विवाद बताया है.

 

नेशनल मीडिया के खिलाफ छात्र छात्राओं ने प्रदर्शन किया और बीजेपी के साथ ही छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद को इस विवाद को तूल देने का जिम्मेदार बताया. छात्र छात्राओं नें बीजेपी का पुतला भी फूंका.

 

वीसी के बयान को बेवजह तूल देने का हवाला देकर बुधवार को हजारों छात्र-छात्रएं सड़क पर उतर आए बीजेपी पर एएमयू को बदनाम करने की साजिश का ठिकरा फोड़ा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मानव संसाधन मंत्री स्मृति ईरानी के खिलाफ नारेबाजी की और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) व मीडिया के एक तबके का पुतला भी फूंका .

 

सोमवार को हुए वीमेंस कॉलेज स्टुडेंट यूनियन के अधिष्ठापन समारोह में एएमयू वीसी जमीर उद्दीन शाह ने कहा था कि अगर छात्रओं को मौलाना आजाद सेंट्रल लाइब्रेरी में जाने की छूट दी तो वहां चार गुना भीड़ बढ़ जाएगी.

 

मजाकिया लहजे में कही गई यह बात मंगलवार को मीडिया की सुर्खियां बनी तो खूब हंगामा मचा. मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने बेटियों का अपमान करने वाला बयान बताते हुए वीसी से जवाब तलब भी किया.

 

बुधवार को इसकी तीखी प्रतिक्रिया हुई एएमयू स्टूडेंट यूनियन व वीमेंस कॉलेज गर्ल्स यूनियन ने राष्ट्रीय मीडिया के खिलाफ आंदोलन का एलान कर दिया वीमेंस कॉलेज की छात्रएं पैदल मार्च करते हुए एएमयू कैंपस पहुंचीं. हजारों छात्र-छात्रओं ने मौलाना आजाद सेंट्रल लाइब्रेरी के पास से एएमयू के मुख्य द्वार (बॉबे सैयद गेट) तक पैदल मार्च निकाला बैनर-पोस्टर पर स्लोगन लिखकर नेशनल मीडिया के खिलाफ गुस्सा उतारा.

 

छात्र संघ नेताओं ने कहा, ‘हम कुलपति के बयान से सहमत नहीं हैं. मीडिया ने इसे दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से पेश किया है. एएमयू की साजिशन छवि खराब की जा रही है हम इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे.’

 

वीमेंस कॉलेज स्टुडेंट यूनियन अध्यक्ष गुलफिजा खान का कहना है, ‘हमारी मांग को सियासतदारों ने मोहरा बना लिया है. यह हमारा अंदरुनी मामला था, जिसे मीडिया ने मुद्दा बना दिया. लड़कियों के लिए एएमयू से बढ़िया कोई संस्थान नहीं.’

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: AMU: Unions back VC against biased media reports
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017