व्यापम घोटाले के व्हिसलब्लोअर और उनकी पत्नी का तबादला आदेश वापस

By: | Last Updated: Friday, 18 September 2015 11:28 AM
anand rai

इंदौर: मध्यप्रदेश के कुख्यात व्यापम घोटाले का खुलासा करने वाले प्रमुख कार्यकर्ता डॉ. आनंद राय और उनकी हमपेशा पत्नी के विवादास्पद तबादले के मामले में प्रदेश सरकार ने आज यू-टर्न लेते हुए इस दम्पति के स्थानांतरण आदेश वापस ले लिये.

 

हालांकि, प्रदेश सरकार ने 38 साल के व्हिसलब्लोअर के इस आरोप को खारिज कर दिया कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने व्यापम और डी-मैट घोटालों के संबंध में उनके और उनके परिवार के खिलाफ अभियान बंद करने के एवज में उनका (राय) और उनकी पत्नी का तबादला आदेश निस्स्त करने की पेशकश की थी.

 

मध्यप्रदेश हाई कोर्ट की इंदौर पीठ में इन तबादलों की चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई के दौरान महाधिवक्ता रवीशचंद्र अग्रवाल ने जज पीके जायसवाल और जज डीके पालीवाल को यह जानकारी दी.

 

मामले में राय की ओर से पैरवी करने वाले वरिष्ठ वकील विवेक तन्खा ने संवाददाताओं को बताया, ‘महाधिवक्ता ने युगल पीठ से कहा कि राय और उनकी पत्नी गौरी को नजदीकी धार जिले में स्थानांतरित करने का सरकारी आदेश निरस्त कर दिया गया है और इस दम्पति को फिर से इंदौर में पदस्थ कर दिया गया है.’ तन्खा ने बताया कि प्रदेश सरकार की ओर से अदालत के सामने यह भरोसा भी दिलाया गया कि राय दम्पति के करीब दो माह के बकाया वेतन का भुगतान जल्द ही कर दिया जायेगा.

 

राय ने इस मामले की सुनवाई के दौरान हाई कोर्ट में दो सितंबर को हलफनामा पेश किया था. इसमें सनसनीखेज आरोप लगाया गया था कि मुख्यमंत्री ने 11 अगस्त की रात व्हिसलब्लोअर से हुई मुलाकात के दौरान व्यापम और डी-मैट घोटालों के संबंध में उनके और उनके परिवार के खिलाफ अभियान बंद करने को कहा था और इसके बदले उनका (राय) और उनकी हमपेशा पत्नी का तबादला आदेश निस्स्त कर दोनों को फिर से इंदौर में पदस्थ करने की पेशकश की थी.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: anand rai
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017