andhra pradesh encounter- survivor not raedy to go back

andhra pradesh encounter- survivor not raedy to go back

By: | Updated: 14 Apr 2015 01:28 AM

नई दिल्ली: आंध्र प्रदेश के चित्तूर जिले में पुलिस गोलीबारी में जीवित बचे एक व्यक्ति ने तमिलनाडु स्थित अपने गांव लौटने में भय जताया और कहा कि उसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस की कथित मौजूदगी को लेकर वह भयभीत है.

 

यहां आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में यह पूछे जाने पर कि पुलिस गोलीबारी की पृष्ठभूमि में क्या वह अपने गांव लौटेगा, शेखर ने कहा, ‘‘मुझे डर लग रहा है.’’ गौरलतब है कि पुलिस गोलीबारी में उसके गांव के दो लोग मारे गये थे.

 

उत्तर तमिलनाडु के तिरूवन्नमलाई जिले के दूरदराज के एक गांव का निवासी 54 वर्षीय शेखर कथित तौर पर पुलिस गोलीबारी में जीवित बच गया जबकि उसके साथ के लोग मारे गए.

 

मानवाधिकार कार्यकर्ता हेनरी तिफेंगे राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के सदस्यों के समक्ष गवाही के लिए तमिलनाडु के दो व्यक्तियों को लेकर आये थे. मानवाधिकार कार्यकर्ता ने आरोप लगाया कि शेखर डरा हुआ है क्योंकि पड़ोसी राज्य आंध्र प्रदेश की पुलिस उसे हिरासत में लेने के लिए उसके गांव में डेरा डाले हुए है.

 

उन्होंने कहा, ‘‘वास्तव में आंध्र प्रदेश के पुलिसकर्मी उसे हिरासत में लेने के लिए इंतजार कर रहे हैं क्योंकि वह एक प्रत्यक्षदर्शी है. इसीलिए हमने इन दोनों व्यक्तियों (शेखर और बालचंद्रन) के लिए राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग से पुलिस संरक्षण की मांग की है.’’

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story 'ट्रक चोरी’ करने वाले सुल्तान को अखिलेश ने ऑफ़िस में ही रोक दिया