मोदी सरकार को अन्ना की धमकी, मांगे नहीं मानी गई तो चार महीने बाद जेल भरो आंदोलन

By: | Last Updated: Monday, 23 February 2015 2:16 AM

नई दिल्ली: भूमि अधिग्रहण कानून के खिलाफ अन्ना हजारे का धरना जंतर मंतर पर शुरू हो गया है. अन्ना सरकार को चेतावनी देने के लिए आज और कल दो दिनों का आंदोलन कर रहे हैं. अन्ना ने अपने मंच पर किसी भी राजनीतिक दल के नेताओं को आने से रोक दिया है.

LIVE UPDATE:

 

# अन्ना ने कहा कि अगर मांगे नहीं मानी गई तो चार महीने बाद रामलीला मैदान से जेल भरो आंदोलन की शुरुआत की जाएगी. 

 

शाम को  दिल्ली के मुख्यमंत्री  केजरीवाल से अन्ना हजारे की मुलाकात होगी. जबकि संसद में सरकार ने भरोसा दिया है कि किसानों के साथ नाइंसाफी नहीं होगी.

 

हजारे ने यह भी कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री ने इस आंदोलन में शामिल होने की इच्छा जतायी है.  हजारे ने यह भी कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी विरोध प्रदर्शन में शामिल हो सकते हैं लेकिन मंच पर स्थान देने के लिए उनके संवैधानिक पद का सम्मान किया जाए अथवा नहीं इसका फैसला बैठक होगा जो वह करेंगे.

 

आज शाम अन्ना हजारे और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल आज रात दिल्ली में मुलाकात करेंगे. हजारे के सहयोगी दत्ता अवारी ने बताया कि बैठक दिल्ली में महाराष्ट्र सदन में होगी.

 

हजारे ने कहा, ‘अरविंद अब मुख्यमंत्री हैं. अरविंद को एक व्यक्ति के रूप में नहीं बल्कि एक मुख्यमंत्री के रूप में हमें उनके पद को सम्मान देना है या नहीं इसका निर्णय हम मुलाकात के बाद करेंगे. यदि सभी यह निर्णय करते हैं कि अरविंद को मंच पर बैठना चाहिए तो मुझे कोई समस्या नहीं है.’

 

हजारे ने इस आंदोलन  के बारे में बताते हुए कहा, ‘भूमि अध्यादेश किसानों के खिलाफ है. एक कृषि प्रधान देश में जब किसानों का उत्पीड़न हो तब सभी लोगों को एकजुट होकर खड़े होना चाहिए. इसलिए हम चाहते हैं कि चाहे केजरीवाल की पार्टी हो या कोई अन्य विपक्षी पार्टी, सभी कार्यकर्ताओं को इस आंदोलन को आगे बढ़ाने के लिए साथ मिलकर काम करना चाहिए.’

 

कांग्रेस की ओर से उनके आंदोलन को समर्थन देने की इच्छा जताये जाने के बारे में पूछे जाने पर भ्रष्टाचार निरोधक कार्यकर्ता हजारे ने कहा कि राजनीतिक पार्टियां ऐसे आंदोलनों का इस्तेमाल चालाकी से एक दूसरे के खिलाफ करती हैं. यदि कांग्रेस उपाध्यक्ष आंदोलन में शामिल होना चाहते हैं वह ‘आकर आम जनता के बीच बैठ सकते हैं.’

 

हजारे किसान संघों के साथ मिलकर अध्यादेश के खिलाफ यहां जंतर मंतर पर दो दिवसीय विरोध प्रदर्शन करेंगे जो कल से शुरू होगा जब संसद का बजट सत्र भी शुरू होगा. उन्होंने कहा, ‘यह अध्यादेश किसानों के खिलाफ और उद्योग घरानों के पक्ष में है. ऐसा लगता है कि ‘अच्छे दिन’ केवल उद्योग घरानों के लिए आये हैं.’

 

यह भी पढ़ें

भूमि अध्यादेश: हजारे ने लोगों से कहा, जेल जाने के लिए तैयार रहो 

अन्ना के प्रदर्शन में शामिल होने के इच्छुक हैं आप के नेता

अन्ना अभियान आज से शुरू, सुबह 10 बजे पलवल से भूमि अधिकार चेतावनी यात्रा को रवाना करेंगे 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: anna hazare Land Acquisition Protest at jantar mantar
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017