क्या गुजरात में 'ब्रांड मोदी' की नकल कर रहे हैं राहुल गांधी?

क्या गुजरात में 'ब्रांड मोदी' की नकल कर रहे हैं राहुल गांधी?

राहुल गांधी अब से पहले एक ऐसे नेता के तौर पर दिखाई देते थे, जिन्हें कोई गम्भीरता से नहीं लेता था. इसकी वजह बीजेपी का ज़बर्दस्त सोशल मीडिया कैम्पेन थी जो हमेशा राहुल को घेरने में लगा रहा.

By: | Updated: 18 Oct 2017 05:27 PM
नई दिल्ली: गुजरात में इसी साल विधानसभा के चुनाव हैं. ऐसे में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी का नया रूप देखने के मिल रहा है. राहुल गांधी आत्मविश्वास से लबरेज नज़र आ रहे हैं. अपने नए अंदाज और आक्रामक तेवर से वह विरोधियों पर चुटीले अंदाज में प्रहार कर रहे हैं. कुछ लोगों का मानना है कि ये राहुल गांधी का नया अवतार है तो कुछ लोगों का मानना है कि ये और कुछ नहीं ब्रांड मोदी की नकल है.

अब एक नए अंदाज में नजर आ रहे हैं राहुल गांधी

राहुल गांधी के हाल के गुजरात दौरे में ऐसा बहुत कुछ नया था, जो अब तक केवल उनके राजनीतिक प्रतिद्वंदी नरेंद्र मोदी ही करते दिखते थे. फिर भले ही लोगों के साथ सेल्फ़ी खिंचवाना हो, बच्चों के बीच जाना हो, नाचना गाना हो या फिर अपने भाषणो में जनता को जोड़कर संवाद करना हो.

आदिवासियों के साथ राहुल गांधी के डांस की हुई खूब चर्चा

समाजशास्त्री डॉक्टर विद्युत जोशी का कहना है, ‘’किसी भी नेता को अगर करिश्माई नेता बनना है तो यह सब करना होगा. आदिवासीयो के बीच राहुल का नाचना उन लोगों को अपनेपन का एहसास दिलाता है.’’ बता दें कि हाल ही में गुजरात दौरे पर गए राहुल गांधी ने गुजरात के छोटा उदयपुर में तिमली डांस में हिस्सा लिया था और आदिवासियों के साथ डांस भी किया था.

आक्रामक अंदाज अपना रहे हैं राहुल गांधी

राजनीति के जानकारों का मानना है, ‘’जिस तरह से पीएम पहले आक्रामक अंदाज में अपने विरोधियों पर वार करते थे, उसी तरह राहुल भी अब आक्रामक अंदाज अपना रहे हैं. साथ ही वो पूरे आत्मविश्वास के साथ पीएम की तरह ही जनता से संवाद कर रहे हैं. इसके अलावा वो पीएम की तरह ही चुटीले अंदाज में सोशल मीडिया के जरिए अपने विरोधियों की खोज खबर ले रहे हैं.’’

क्या कमज़ोर है कांग्रेस का आईटी सेल?

राहुल गांधी अब से पहले एक ऐसे नेता के तौर पर दिखाई देते थे, जिन्हें कोई गम्भीरता से नहीं लेता था. इसकी वजह बीजेपी का ज़बर्दस्त सोशल मीडिया कैम्पेन थी जो हमेशा राहुल को घेरने में लगा रहा, लेकिन इसमें कांग्रेस के कमज़ोर आईटी सेल ने भी कोई कसर नहीं छोड़ी.

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव के दौरान चाय पर चर्चा और सेल्फी विद मोदी जैसे प्रोग्राम के जरिए बीजेपी ने ब्रांड मोदी को प्रमोट किया था. अब कांग्रेस भी गुजरात में ब्रांड राहुल को स्थापित करने में जुटी है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story वित्त मंत्रालय की सलाह, बैंक खोले एमएसएमई केंद्रित शाखाएं